BREAKING NEWS

राष्ट्रीय अभ्यारण्य जिलों में कोरोना रोकने के सार्थक प्रयास

( Read 4911 Times)

29 May 20
Share |
Print This Page

बाल मुकुंद ओझा

राष्ट्रीय अभ्यारण्य जिलों में कोरोना रोकने के सार्थक प्रयास

जयपुर। राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्यजीव अभ्यारण्यों की स्थापना का मूल उद्देश्य वन्य जीवों का संरक्षण, संवर्धन तथा और सिरोही जिले राष्ट्रीय उद्यान के रूप में विश्व में विख्यात है। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए इन क्षेत्रों में विविध प्रयास किये गए। नेहरू युवा केंद्र संगठन राजस्थान के राज्य निदेशक डॉ भुवनेश जैन के अनुसार राष्ट्रीय उद्यान के रूप में विकसित इन जिलों में लोगों को जागरूक करने के साथ पीड़ितों को सहायता उपलब्ध करने के लिए सार्थक प्रयास किये गए। 

राजस्थान के रणथंभौर नेशनल पार्क व त्रिनेत्र गणेश मंदिर के लिए प्रसिद्ध सवाई माधोपुर जिले में हर्षित खंडेलवाल, जिला युवा  समन्वयक के पद पर कार्यरत है। खंडेलवाल ने लोक प्रशासन से सनातकोतर किया है। नेहरू युवा केंद्र सवाई माधोपुर से जुड़े युवा विभिन्न कस्बों, गावों में, कोरोना आपदा के समय में स्थानीय प्रशासन के सहयोग से सेनिटाइजेशन कैंपेन, मास्क बनाने व वितरण, काढा बनाकर पिलाना, मनरेगा मजदूरों को मास्क व सनेटाइजर बांटना, रोग प्रतिरोधित क्षमता बढ़ाने के लिए ऑनलाइन योगा प्रतियोगितपोस्टर , वॉल पेंटिंग के माध्यम से जागरूक करने में अपनी भूमिका निभा रहे हैं।

अलवर जिले के युवा समन्वयक पंकज यादव को नेहरू युवा केन्द्र से पहले एक राष्ट्रीयकृत बैंक में मैनेजर के रूप में स्वयं सहायता समूहों के बीच काम करने का 3 साल का अनुभव है। सरिस्का वन्य जीव अभ्यारण्य में जीव जन्तुओ के लिये वाटर पॉइंट में पानी भरने का कार्य स्वयंसेवक वन विभाग के साथ कर रहे हैं,पर्यावरण के प्रति जन सामान्य में जागरूकता के कारण ही सरिस्का अभ्यारण्य में बाघों का कुनबा शून्य से बढ़कर 20 तक पहुच गया हैं । सोशल मीडिया पर विभिन्न सर्जनात्मक गतिविधिया जैसे कोरोना जागरूकता क्विज,वाध संगीत ,पोस्टर मेकिंग,इन होम फोटोग्राफी,कविता लेखन, प्रतियोगिता का आयोजन युवा मंडलो के सहयोग से किया जा रहा हैं ।

सुनील राना युवा समन्वयक एवं जगदीश डागर के नेतृत्व में कोविड - 19 के तहत किये गये कार्यो से नेहरू युवा केन्द्र भरतपुर की प्रदेश में नई पहचान बनी है। 20 राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवक, 6 नेशनल यूथ एवार्डी व 705 युवा मण्डलों के हजारों युवा कार्यकर्ताओं के बल पर नेहरू युवा केन्द्र भरतपुर द्वारा आई गोट पर 5220 युवाओं का पजींयन, आरोग्य सेतु एप 13500 व्यक्तियों को डाउनलोड कराया गया। 13900 युवा नेहरू युवा केन्द्र से नये जोड गये। 60 गावों में सेनीटाईजेशन किया गया जिससे 70000 लोग लाभान्वित हुए। नेहरू युवा केंद्र जैसलमेर के जिला युवा समन्वयक फतेह लाल भील काशी हिंदू विश्वविद्यालय वाराणसी से स्नातक है। युवा समन्वयक ने लॉक डाउन घोषित किए जाने के तुरंत बाद सेही कोरॉना महामारी से बचाव और राहत कार्य के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने जनता कर्फ्यू के पालन हेतु लोगों को जागरूक करने और निशुल्क मास्क वितरण करने के लिए प्रेरित किया। 

नेहरू युवा केंद्र सिरोही के जिला युवा समन्वयक मोहित कुमार दिल्ली विश्व विद्यालय से स्नातकोत्तर है। उन्होंने ने विभाग से जुड़े सभी स्वयंसेवकों से कोरोना महामारी के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए समाज की भलाई के लिए विभिन्न कार्यों को करने के लिए प्रेरित किया है। चितौडगढ में युवा समन्वयक संतोष चैहान गणित में स्नातकोत्तर है। कोरोना जंग में नेहरू युवा केंद्र की टीम सेवा भावना से कार्य में जुटी है जिसके फलस्वरूप चित्तौड़गढ़ में पांच युवा महिला मंडल और तीन स्वयंसेविकाओं के साथ ही प्रतापगढ़ के पूर्व स्वयंसेवक द्वारा अभी तक 3000 मास्क बना करवितरण कर चुके है। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like