logo

विपक्ष के अलौकतान्त्रिक रवैये को लेकर किया अनशन_

( Read 4740 Times)

15 Apr 18
Share |
Print This Page
विपक्ष के अलौकतान्त्रिक रवैये को लेकर किया अनशन_ चित्तौड़गढ़ चित्तौड़गढ़ जिला मुख्यालय पर स्थित कलेक्ट्री चौराहे पर भारतीय जनता पार्टी ने एक दिवसीय उपवास का कार्यक्रम रखा।

कॉंग्रेस समेत विपक्षी दलों द्वारा दुनिया के सबसे बड़े लोकतन्त्र के मन्दिर संसद की कार्यवाही को चलने से बाधित किये जाने को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आव्हान पर भाजपा द्वारा देशव्यापी अनशन का आयोजन किया गया इसी क्रम में चित्तौड़गढ़ जिला मुख्यालय पर सांसद सी.पी.जोशी के नेतृत्व में प्रातः 10 से शाम 5 बजे तक उपवास का आयोजन किया गया।

*चित्तौड़गढ़ सांसद सी.पी.जोशी* ने बताया की विपक्ष के लोकतन्त्र विरोधी चेहरे को जनता के समक्ष प्रस्तुत करने के लिये इस अनशन का आयोजन किया गया तथा इससे विपक्ष द्वारा बजट सत्र के दौरान लोकसभा के सत्र को पुर्णतया बाधित किया गया था जिसके कारण महत्वपुर्ण बिल प्रस्तुत होने वचिंत रह गये तथा इसके साथ ही क्षेत्र से संबधित विभिन्न विषयों को भी सदन में प्रस्तुत नही किया जा सका। विपक्ष मोदी जी के नेतृत्व में कराये जा रहे विकास कार्यो तथा देश की विश्व में बन रही एक मजबुत छवि को देख कर बौखला गये हैं तथा किसी भी प्रकार से 2019 में सत्ता प्राप्ति के लिये लौकतन्त्र के विरूद्ध कार्य कर रहे हैं। इसके साथ में विपक्ष द्वारा राष्ट्रीय एकता तथा सामाजिक समरसता को कभी आरक्षण के समर्थन में, कभी आरक्षण के विरोध में तथा कभी भाजपा दलितों विरोधी बताकर विभिन्न प्रकार के सत्ता हथियाने के लिये अनैतिक कार्य किये जा रहे है। विपक्ष का यह रवैया देश को मिले जनाधार तथा जनता की अपेक्षाओं के खिलाफ है।
कांग्रेस पार्टी ने सरदार पटेल के योग्य होते हुऐ भी नेहरू को प्रधानमंत्री बनाया। इन्होने कई बार लोकतंत्र की हत्या की हैं। 25 जून, 1975 को इमरजेंसी लगाई थी, जिसमें लाखों लोगों को एक रात में जेलों में ठूस दिया गया था। 13 बार राज्यों में राष्ट्रपति शासन लगाया गया था, जहॉ कांग्रेस के विपक्ष की सरकारें थी। पूजनीय बाबा साहब अम्बेड़कर को भी दो बार चुनाव हरवाया था। धर्म, जाति, पंथ व नक्सलवाद के नाम पर लड़ाने का काम किया। इन्होंने घोटालों का रिकॉर्ड बनाया, जमीन, आसमान व पाताल में भी घोटाले किये। फेसबुक डाटा घोटाला किया गया और उसकी डाटा चोरी का भी काम किय चारा घोटाले के सहयोगी रहे, और इस मुद्धे पर सभी घोटालेबाज एक हुए। निरंतर सत्ता में रहने की आदी कांग्रेस द्वारा सुनियोजित तरीके से पूरे देश में भय और भ्रम का वातावरण तैयार किया जा रहा हैं।
बजट सत्र जिसमें जनता से जुड़ी महत्वपूर्ण चर्चाऐं होनी थी, वह भी कांग्रेस के गतिरोध के कारण अव्यवस्था की भेंट चढ़ गया तथा सांसद अपने महत्वपूर्ण विषय लोकसभा में नहीं रख पायें। कांग्रेस ने महत्वपूर्ण विधेयकों को पारित होने से रोक दिया जिसके फलस्वरूप कर दाताओं के पैसे की अपराधिक बरबादी हुई हैं। संसद न चलने के कारण सरकार को करोड़ों रूपयों की बर्बादी हो गयी। इसी को जनता के समक्ष प्रस्तुत करने के लिये आज क्षेत्र के जनप्रतिनिधीयों, पार्टी पदाधिकारीयों तथा कार्यकर्ताओं के साथ अनशन रखा गया था जिसका आमजन तथा प्रत्येक वर्ग के लोगों के द्वारा अभुतपुर्व समर्थन मिला।

इस अनशन में अन्त में राष्ट्रसेवा में अपना जीवन समर्पित करने वाले सुन्दर सिंह भण्डारी की जयन्ति पर उनकी तस्वीर पर पुष्पांजलि की गयी तथा अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

इस अनशन में कपासन विधायक अर्जुनलाल जीनगर, चित्तौडगढ़ विधायक चन्द्रभान सिहं आक्या, बेंगू विधायक सुरेश धाकड़, प्रदेश उपाध्यक्ष भगवती देवी झाला, प्रदेश मंत्री मुकेश दाधीच, जिला प्रभारी ओम पालीवाल, जिलाध्यक्ष रतन लाल गाडरी, जिला महामंत्री देवी सिंह राणावत, उपाध्यक्ष रणजीत सिंह भाटी, घीसा लाल मेवाड़ा, कर्नल सिंह राठौड़, कमलेश पुरोहित, जिला मंत्री उषा रांधड, प्रवक्ता सूर्यपाल सिंह गौड़, उमेश त्रिपाठी, कोषाध्यक्ष अशोक अजमेरा, कार्यालय प्रमुख शेखर शर्मा, प्रचार मंत्री रामनिवास गाजरे, भाजयुमो प्रदेश प्रवक्ता श्रवण सिंह राव, मोर्चा जिलाध्यक्ष हर्षवर्धन सिंह , देशराज गुर्जर, नंद किशोर लोहार, रेखा व्यास, रमेश बोरीवाल, विमला मीणा, असमो प्रदेश उपाध्यक्ष एम.डी.शेख , आई टी प्रमुख युवराज आर्य, मीडिया प्रमुख सुधीर जैन, डेयरी चेयरमैन बद्री जाट, प्रधान प्रवीण जाट, उपप्रधान सीपी नामधारानी, उपसभापति भारत जागेटिया, चेयरमैन बंशीलाल प्रजापत, मंडल अध्यक्ष नरेंद्र पोखरना, रोहिताश्व जाट, भंवर सिंह, हरि सिंह , दिनेश शर्मा, प्रदीप सिंह, अशोक परलिया, रतन लाल पूर्बिया, जगदीश पूरी, छगन गुर्जर तथा भंवर सिंह राठौड़, नीरू अहीर, नारायण अहीर, नरेंद्र खेरोदिया, गोविंद काबरा, युवा मोर्चा गौरव त्यागी, पुरन कीर, अशोक रायका, रघु शर्मा , भोला राम प्रजापत, रजनीश भट्ट, कमलेश आमेरिया, शम्भू मेनारिया, शंकर सिंह फूल सिंह, विनोद चपलोत समेत सैकडों कार्यकर्ता उपस्थित थे।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Chittor News , Editors Choice
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like