GMCH STORIES

जिंक द्वारा चैगावाडी में विश्व प्राथमिक उपचार दिवस पर जागरूकता कार्यशाला

( Read 1192 Times)

15 Sep 20
Share |
Print This Page

जिंक द्वारा चैगावाडी में विश्व प्राथमिक उपचार दिवस पर जागरूकता कार्यशाला

हिन्दुस्तान जिंक द्वारा स्माइल फाउंडेशन के सहयोग से संचालित परियोजना ’स्माइल ऑन व्हील्स, मोबाइल हेल्थ सेवा द्वारा विश्व प्राथमिक उपचार दिवस के अवसर पर चैगवाड़ी में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। स्माइल आन व्हील्स के मेडिकल ऑफिसर मुकेश कुमावत ने ग्रामीणों को जानकारी देते हुए  कहा कि कई बार किसी भी स्थान पर आकस्मिक दुर्घटना होने पर हम व्यक्ति की मदद नहीं कर पाते हैं यदि हमें प्राथमिक उपचार के बारे में जानकारी हो तो हम किसी की जान बचा सकते हैं। आज के समय में हर किसी को प्राथमिक उपचार की जानकारी होनी चाहिए। प्राथमिक उपचार आकस्मिक दुर्घटना के अवसर पर उन वस्तुओं से सहायता करने तक ही सीमित है जो उस समय प्राप्त हो सकें। परियोजना समन्वयक मधुसुदन दाधीच ने बताया कि प्राथमिक उपचार का ध्येय यह नहीं है कि प्राथमिक उपचारक, चिकित्सक का स्थान ग्रहण करे।

इस बात को अच्छी तरह समझ लेना चाहिए कि चोट पर दुबारा पट्टी बाँधना तथा उसके बाद का दूसरा इलाज प्राथमिक उपचार की सीमा के बाहर है। प्राथमिक उपचार का उत्तरदायित्व चिकित्सा संबंधी सहायता प्राप्त होने के साथ ही समाप्त हो जाता है, परंतु उसका कुछ देर तक वहाँ रुकना आवश्यक है, क्योंकि चिकित्सक को सहायक के रूप में उसकी आवश्यकता पड़ सकती है। ऊँचाई पर जाने से समस्या होना, हड्डी टूटना, जलना, हृदयाघात हार्ट अटैक, श्वसन-मार्ग में किसी प्रकार का अवरोध आ जाना, पानी में डूबना, हीट स्ट्रोक, मधुमेह के रोगी का बेहोश होना, हड्डी के जोड़ों का विस्थापन, विष का प्रभाव, दाँत दर्द, घाव-चोट आदि में प्राथमिक चिकित्सा उपयोगी है। प्राथमिक उपचारक को आवश्यकतानुसार रोगनिदान करना चाहिए, तथा घायल को कितनी, किस प्रकार की और कहाँ तक सहायता दी जाए, इसपर विचार करना चाहिए।  कार्यक्रम में  33 ग्रामीणों  ने भाग किया। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News , Zinc News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like