GMCH STORIES

विश्व नृत्य दिवस

( Read 6595 Times)

30 Apr 21
Share |
Print This Page

विश्व नृत्य दिवस

उदयपुर | विश्व नृत्य दिवस पर भारतीय लोक कला मण्डल, उदयपुर एवं विरासत असेंबल संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में ओडिसी नृत्यों की शानदार प्रस्तुतियाँ हुई। 
भारतीय लोक कला मण्डल के निदेशक डाॅ लईक हुसैन ने बताया कि वर्ष 1982 से प्रति वर्ष दिनांक 29 अप्रेल को विश्व नृत्य दिवस के रूप में मनाया जाता है। ऐसे में इस वर्ष भी संस्था द्वार उक्त दिवस के अवसर पर दो दिवसयीय समारोह का आयोजन किया जाना प्रस्तावित था जिसमें लोक एवं शास्त्रीय नृत्यों की प्रस्तुतियाँ होनी थी परन्तु वर्तमान परिस्थितियों में उक्त दिवस पर आनॅलाईन माध्यम से ओडिसी नृत्यों का कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।  वर्तमान में पूरा विश्व कोविड-19 से परेशान और डिप्रेशन का शिकार हो रहा है, ऐसे में मानसिक एवं भावनात्मक चुनौतियों का सामना करने में डांस हमारी मदद कर सकता है। ऐसे में राज्य सरकार द्वारा जारी गाईड लाईन आदि को ध्यान ं रखते हुए भारतीय लोक कला मण्डल, उदयपुर एवं विरासत असेंबल संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में विश्व नृत्य दिवस के अवसर पर आनॅलाईन ओड़िसी नृत्यों की प्रस्तुति का कार्यक्रम भारतीय लोक कला मण्डल के फेस बुक पेज पर प्रसारित किया गया जिसे दर्शको ने काफी पंसद किया। कार्यक्रम में विरासत असेंबल संस्था कि निदेशक एवं प्रसिद्ध ओडिसी नृत्यांगना शैली श्रीवास्तव ने बट्टू नृत्य, पथे छाडि दे (उड़िया अभिनय), केरला की कलाकार दिया पिल्ले द्वारा वक्रतुण्ड महाकाव्य, पुणे की कलाकार नृत्ति नेगी ने बांसुरी धून एवं नई दिल्ली की राजश्री राठौड़ द्वारा नमामी और मंगला चरण की बहुत ही शानदार प्रस्तुतिया दी गई। 
विश्व नृत्य दिवस
29 अप्रेल 2021, उदयपुर,  विश्व नृत्य दिवस पर भारतीय लोक कला मण्डल, उदयपुर एवं विरासत असेंबल संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में ओडिसी नृत्यों की शानदार प्रस्तुतियाँ हुई। 
भारतीय लोक कला मण्डल के निदेशक डाॅ लईक हुसैन ने बताया कि वर्ष 1982 से प्रति वर्ष दिनांक 29 अप्रेल को विश्व नृत्य दिवस के रूप में मनाया जाता है। ऐसे में इस वर्ष भी संस्था द्वार उक्त दिवस के अवसर पर दो दिवसयीय समारोह का आयोजन किया जाना प्रस्तावित था जिसमें लोक एवं शास्त्रीय नृत्यों की प्रस्तुतियाँ होनी थी परन्तु वर्तमान परिस्थितियों में उक्त दिवस पर आनॅलाईन माध्यम से ओडिसी नृत्यों का कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।  वर्तमान में पूरा विश्व कोविड-19 से परेशान और डिप्रेशन का शिकार हो रहा है, ऐसे में मानसिक एवं भावनात्मक चुनौतियों का सामना करने में डांस हमारी मदद कर सकता है। ऐसे में राज्य सरकार द्वारा जारी गाईड लाईन आदि को ध्यान ं रखते हुए भारतीय लोक कला मण्डल, उदयपुर एवं विरासत असेंबल संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में विश्व नृत्य दिवस के अवसर पर आनॅलाईन ओड़िसी नृत्यों की प्रस्तुति का कार्यक्रम भारतीय लोक कला मण्डल के फेस बुक पेज पर प्रसारित किया गया जिसे दर्शको ने काफी पंसद किया। कार्यक्रम में विरासत असेंबल संस्था कि निदेशक एवं प्रसिद्ध ओडिसी नृत्यांगना शैली श्रीवास्तव ने बट्टू नृत्य, पथे छाडि दे (उड़िया अभिनय), केरला की कलाकार दिया पिल्ले द्वारा वक्रतुण्ड महाकाव्य, पुणे की कलाकार नृत्ति नेगी ने बांसुरी धून एवं नई दिल्ली की राजश्री राठौड़ द्वारा नमामी और मंगला चरण की बहुत ही शानदार प्रस्तुतिया दी गई।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like