BREAKING NEWS

जिला पर्यावरण समिति की बैठक संपन्न

( Read 1208 Times)

13 Jul 19
Share |
Print This Page
जिला पर्यावरण समिति की बैठक संपन्न

उदयपुर / जिला पर्यावरण समिति की बैठक अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) नरेश बुनकर की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में पर्यावरण संरक्षण से संबद्ध विविध विषयों पर विस्तार से चर्चा हुई और महत्त्वपूर्ण दिशा-निर्देश प्रदान किए गए।

बैठक को संबोधित करते हुए अतिरिक्त कलक्टर बुनकर ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए जनजागरूकता जरूरी है, जब तक हर व्यक्ति को पर्यावरण की महत्ता का पता नहीं चलेगा तब तक उससे संरक्षण के उपायों पर अमल नहीं करवाया जा सकेगा। उन्होंने समस्त विभागों को इस दृष्टि से समन्वय स्थापित करते हुए कार्य करने के निर्देश दिए।

बैठक के दौरान उप वन संरक्षण (उत्तर) ओ.पी.शर्मा ने पर्यावरण समिति की गत बैठक की अनुवर्ती कार्यवाही की समीक्षा प्रस्तुत की और कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए शुरूआत खुद से करनी होगी। उन्होंने हर व्यक्ति को अपने जन्मदिन, शादी की वर्षगांठ और अन्य यादगार मौकों को अविस्मरणीय बनाने के लिए एक पौधा लगाने का सुझाव दिया व इस विषय में जनजागृति पैदा करने की अपील की। बैठक में सहायक वन संरक्षक डी.के.तिवारी सहित समिति के समस्त सदस्य मौजूद थे।

बायोवेस्ट का शत-प्रतिशत निस्तारण:

बैठक में चिकित्सालयों में बायोवेस्ट के निस्तारण के बारे में जानकारी लेने पर चिकित्सा विभागीय प्रतिनिधि ने बताया कि जिले की समस्त पीएचसी व सीएचसी पर अप्रेल माह से निर्धारित प्रावधानों के अनुसार शत-प्रतिशत निस्तारण किया जा रहा है। एडीएम ने जिला मुख्यालय के एमबी चिकित्सालय में बायोवेस्ट के निस्तारण के बारे में रिपोर्ट मंगवाने के निर्देश दिए। 

टापुओं के पेड़ों पर रहे परिंदों का बसेरा:

बैठक में उप वन संरक्षक शर्मा ने बताया कि जिले के विविध तालाबों में स्थित टापुओं को परिंदों के लिए संरक्षित किया जा रहा है और इस पर पेड़ लगाये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि टापुओं पर स्थित पेड़ परिंदों के लिए सुरक्षित आवास साबित होते हैं। इस दृष्टि से फतहसागर में भी डिसिल्टींग दौरान बने टापुओं पर पेड़ लगाए गए हैं ताकि इन पर परिंदें सुरक्षित रह सकें।

बजरी खनन के 230 प्रकरण दर्ज:

बैठक में बजरी के अवैध खनन पर कार्यवाही की समीक्षा दौरान खनन विभाग द्वारा बताया गया कि विभाग द्वारा गत तीन माहों में 181 प्रकरण बनाए गए हैं वहीं पुलिस विभाग द्वारा 49 प्रकरण दर्ज किए जाने की जानकारी दी गई।

इन विषयों पर हुई चर्चा:

बैठक में गत बैठक की अनुवर्ती कार्यवाही की समीक्षा दौरान एडीएम बुनकर ने मच्छरों के प्रकोप पर कार्यवाही के बारे में पूछा तो नगरनिगम द्वारा बताया गया कि जून माह में फोगिंग करवाई जा चुकी है। इसी प्रकार पहाड़ियों की खुदाई के प्रकरण पर यूआईटी प्रतिनिधि ने बताया कि यूआईटी द्वारा पहाड़ियों की खुदाई व कटाई पर प्रतिबंध लगाया जा चुका है। अमरखजी की पहाड़ी खुदाई के प्रकरण के बारे में पूछे जाने पर प्रतिनिधि ने बताया कि जांच कर ली गई है। एडीएम ने जांच रिपोर्ट को तत्काल प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। पाॅलिथीन कैरिबेग के विरूद्ध जनजागरूकता के मामले में शिक्षाविभागीय प्रतिनिधि ने विद्यालयों में जनजागरूकता के लिए कार्यक्रम चलाए जाने की जानकारी दी। शहर में चल रहे 6 हजार से अधिक आॅटो से प्रदूषण होने के मामले में परिवहन विभाग से सीमा तय करने के लिए निर्देश देने, मोरों के शिकार के प्रकरण के मामले में शहर की पेरीफेरी क्षेत्र में विशेष सतर्कता बरतने के लिए संबद्ध विभागों को कार्यवाही के निर्देश दिए गए।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like