GMCH STORIES

रेलवे की समीक्षा बैठक में संरक्षा, क्रू-प्रबंधन, रेलपथों को पार करने की घटना रोकने पर बल

( Read 1624 Times)

07 Feb 23
Share |
Print This Page

रेलवे की समीक्षा बैठक में संरक्षा, क्रू-प्रबंधन, रेलपथों को पार करने की घटना रोकने पर बल

श्रीगंगानगर । उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक श्री आशुतोष गंगल ने रेलवे के विभागाध्यक्षों और मंडल रेल प्रबंधकों के साथ कार्य प्रगति की समीक्षा की। बैठक में रेलपथों पर संरक्षा, गतिसीमा में वृद्धि, रेल परिचालन, समयपालनबद्धता, बिजनेस डेवलेपमेंट यूनिटों और मालभाड़ा जैसे मद्दों पर चर्चा की गयी।
 उन्होने कार्य प्रगति की समीक्षा के साथ-साथ महाप्रबंधक ने यात्रियों और रेल सम्पत्ति की सुरक्षा के लिए उच्च मानकों को बनाए रखने वाले पांच सतर्क कर्मचारियों को उनके कार्यों और योगदान के लिए संरक्षा पुरस्कारों से सम्मानित किया। संरक्षा रेलवे की प्राथमिकता है। महाप्रबंधक ने रेलपथों, रेल फाटकों के संरक्षा मानकों को बेहतर बनाने और हॉई-स्पीड सेक्शनों में रेलपथों के किनारे चारदीवारी का निर्माण करने पर बल दिया। उन्होंने रेलपटरियों को पार करने की घटनाओं को गम्भीरता से लिया। उन्होंने संरक्षा सुनिश्चित करने के लिए रेलपथों के निकट अतिक्रमणों को हटाने के प्रयास करने का परामर्श दिया।
  महाप्रबंधक ने क्रू-चेंज बिंदुओं पर क्रू-चेंज के कारण रेलगाड़ियों के गतिरोध पर चर्चा की और मंडलों को क्रू-चेंजिंग लाइनों/प्वाइंटों के दोनों सिरों पर बैठने की व्यवस्था वाले पोर्टा केबिनों के निर्माण का निर्देश दिया जिससे न्यूनतम सम्भावित समय में क्रू-चेंजिंग की जाये और क्रू-चेंजिंग के कारण  होने वाले रेलगाड़ियों के विलम्ब को कम किया जा सके। उन्होंने रेलगाड़ियों के निर्बाध संचलन के लिए रेलपथों के साथ-साथ रिले और पैनल रूमों पर विद्युत सुरक्षा पर ध्यान केन्द्रित करने पर बल दिया। उन्होंने रेल परिचालन में मानवीय भूलों को कम करने पर जोर दिया। उन्होंने प्रमुख विभागाध्यक्षों और मंडल रेल प्रबंधकों से समयपालनबद्धता को बनाए रखने और संरक्षा को प्राथमिकता देते हुए मालभाड़ा लदान की गति बढ़ाने के लिए कहा।
 उन्होंने कहा कि निर्माण परियोजनाओं की प्रगति की निगरानी प्रणाली पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए क्योंकि रेलवे का विकास बहुत हद तक इन परियोजनाओं पर निर्भर करता है।  मालभाड़ा बिजनेस डेवलपमेंट पर बात करते हुए महाप्रबंधक ने व्यापार यूनिटों के बढ़े हुए दायरों का जायज़ा लिया। उन्होंने कहा कि बीडीयू को ग्राहकों के बीच भरोसेए सहयोग और आत्मविश्वास का माहौल बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि रेलवे द्वारा दी जा रही रियायतें ग्राहकों तक पहुँचनी चाहिए। उन्होंने बताया कि खाद्यान्नों एवं अन्य मदों के लदान में प्रत्येक गुजरते माह के साथ वृद्धि हुई है। उत्तर रेलवे अपने उपयोगकर्ताओं को सुरक्षितए सुगम और बेहतर सेवाएं देने के लिए प्रतिबद्ध है।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Shri Ganga NagarNews
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like