GMCH STORIES

पावापुरी ज्योमेट्री धाम है: अभयदान से बड़ा कोई दान नही:कमलमुनि

( Read 4087 Times)

05 Mar 21
Share |
Print This Page

पावापुरी ज्योमेट्री धाम है: अभयदान से बड़ा कोई दान नही:कमलमुनि

 सिरोही । एक प्राणी को मौत के मुंह से बचाना उसकी सेवा ओर सुरक्षा करना तीन लोक के संपत्ति से बड़ा दान है ।अभय दान से संसार में कोई बड़ा दान नहीं है उक्त विचार राष्ट्र संत कमलमुनि कमलेश ने पावापुरी जीव मैत्रीधाम में उपस्थित भक्तों को संबोधित करते कहा कि किसी को बचा नहीं सकते तो मारने का कोई अधिकार नहीं है

              उन्होंने बताया कि हम किसी को बचाने की  बात कर उन पर एहसान नहीं कर रहे हैं बल्कि अपने आप की रक्षा का काम कर रहे हैं

         राष्ट्र संत ने स्पष्ट कहा कि इंसान के बिना पशु जंगल में भी जिंदा रह सकते हैं लेकिन पशु के बिना इंसान जीने की कल्पना भी नहीं कर सकता है पशुओं का क़त्ल इंसान के कत्ल से बढ़कर है।

         मुनि कमलेश ने कहा कि मानवाधिकार की भांति पशु अधिकार का भी गठन होना चाहिए संयुक्त राष्ट्र संघ से यह हमारा आग्रह है ।  जैन संत ने सरकार के दोहरे आचरण पर कडा ऐतराज करते हुए कहा कि  वृक्ष की डाली तोड़ने वाले को दंड देती है तो पशुओं पर खंजर चलाने की इजाजत कैसे

           के पी  संघवी परिवार द्वारा स्थापित 500 बीघा में संचालित गौशाला जिसमें करीब 5600 गोवंश है अपने आप में आदर्श स्थापित किया है ।

      अखिल भारतीय जैन दिवाकर विचार मंच नई  दिल्ली की संरक्षक एवं अखिल भारतीय श्वेतांबर स्थानकवासी जैन कांफ्रेंस नई दिल्ली महिला शाखा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीमती मंजू प्रेम भंडारी कोलकाता एवं जोधपुर महिला गौ सेवा मंडल अनीता जैन द्वारा उपाध्याय प्रवर श्री मूलचंद जी महाराज की दीक्षा जयंती के उपलक्ष में गुड और हरा चारा  खिला कर गुरु भक्ति का परिचय दिया।पावापुरी के प्रबंधक सतीश रावल ने मुनिराज को पावापुरी तीर्थ जीव मैत्री धाम की गतिविधियों की पूरी जानकारी दी और उनको आर्ट गैलरी का भी अवलोकन कराया । 8 मार्च राष्ट्रीय महिला दिवस मुनि कमलेश के सानिध्य में माउंट आबू में मनाया जाएगा


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Rajasthan
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like