हिंदू ह्दय सम्राट अशोक सिंघल की याद में दिया गया वैदिक शिक्षा पुरस्कार

( Read 1146 Times)

10 Sep 19
Share |
Print This Page

हिंदू ह्दय सम्राट अशोक सिंघल की याद में दिया गया वैदिक शिक्षा पुरस्कार

नई दिल्ली : विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष और हिंदुत्व के प्रखर पुरोधा अशोक जी सिंघल की याद में सिंघल फाउण्डेशन की ओर से भारतात्मा अशोक जी सिंघल वैदिक पुरस्कार के तीसरे संस्करण का आयोजन लोधी एस्टेट स्थित चिन्मय मिशन ऑडिटोरियम में किया गया। हिंदू ह्दय सम्राट अशोक जी सिंघल की याद में वैदिक शिक्षा के क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करने वाले छात्र, शिक्षक और वैदिक स्कूल को सम्मानित किया गया और उन्हें लाखों के पुरस्कार भी प्रदान किए गए। गौरतलब है कि यूं तो वैदिक शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए क्षेत्रीय स्तर पर कई पुरस्कारों का गठन किया गया है, लेकिन यह राष्ट्रीय स्तर पर वेद की शिक्षा को बढ़ावा देने वाला पुरस्कार है। इस वर्ष यह पुरस्कार प्राप्त करने के लिए करीब 1000 वैदिक स्कूलों ने चयन प्रक्रिया में भाग लिया है और शार्टलिस्टिंग की कठोर प्रक्रिया से गुजरे हैं।  समारोह के मुख्य और सम्मानित अतिथि परम पूज्य स्वामी तेजोमयानंद जी ने कहा कि वेद को धर्म की नजर से नहीं देखा जाना चाहिए। यह धर्म से बहुत ऊपर है। वेदों से ही भारत की भारतीयता है। गौरतलब है कि आध्यात्मिकता के क्षेत्र में 2016 में स्वामी तेजोमयानंद को पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। भारतीय आध्यात्मिक नेता स्वामी चिन्मयानंद 1994 से 2017 तक चिन्मय मिशन के अध्यक्ष रह चुके हैं।

 

पद्मभूषण पुरस्कार विजेता स्वामी तेजोमयानंदजी ने कहा, ”जैसे राम के लिए हमेशा लक्ष्मण जी रहा करते थे उसी प्रकार अशोक जी रामभूमि के लिए लक्ष्मण समान थे इसलिए यह पुरस्कार निःसंदेह उचित है| वेद हमें हमारे जीवन का लक्ष्य भी बताते है, और उन्हें पाने का मार्ग भी बताते है, इसलिए हमें वेदों का ज्ञान प्राप्त करना चाहिये। ”

 

वैदिक शिक्षा के प्रचार और प्रोत्साहन के लिए सिंघल फाउण्डेशन की ओर से “भारतात्मा अशोक सिंघल वैदिक पुरस्कार” के लिए सर्वश्रेष्ठ छात्र के रूप में तेलंगाना के रहने वाले श्री अजय जोशी का चुनाव किया गया, जिन्हें 3 लाख रुपये की राशि प्रदान की गई | वे ऋगवेद के विद्यार्थी है| शिक्षक दिवस पर सर्वश्रेष्ठ शिक्षक का पुरस्कार श्री गगन कुमार चटोपाध्याय जी को दिया गया जो कोलकत्ता के निवासी है, जिन्हें पुरस्कार राशि के तौर पर 5 लाख रुपये प्रदान किए गए। आचार्य श्री गगन कुमार चटोपाध्याय सामवेद के विद्वान है|  सर्वश्रेष्ठ वैदिक स्कूल के रूप में राजस्थान के भीलवाड़ा स्थित मुनिकुल ब्रह्मचर्य वेद संस्थान का चयन किया गया, संस्थान को सिंघल फाउण्डेशन की ओर से सात लाख रुपये की राशि प्रदान की गई। पुरस्कार समारोह में विशिष्ट वेदार्पित जीवन पुरस्कार (वेदों के लिए लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार) आर  आर वेंकटरमन जी को दिया गया।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , National News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like