BREAKING NEWS

गिरदावरी का कार्य 15 अक्टूबर तक पूर्ण करलिया जाएगा-जिला कलेक्टर

( Read 827 Times)

04 Oct 19
Share |
Print This Page
गिरदावरी का कार्य 15 अक्टूबर तक पूर्ण करलिया जाएगा-जिला कलेक्टर

(डॉ. प्रभात कुमार सिंघल) |   जिला कलक्टर ने  आज आयोजित जिला परिषद की बैठक में कहा कि  कहा कि सभी विभाग जनप्रतिनिधियों द्वारा दिये गये सुझावों को गंभीरता से तलेकर जनता की समस्याओं का समय पर निराकरण करें। उन्होंने बताया कि जिलेभर में फसल खराबे के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये जा चुके हैं, 15 अक्टूबर तक सभी क्षेत्रों में गिरदावरी का कार्य पूरा कर लिया जायेगा। राजस्व, कृषि विभाग के अधिकारी संवेदनशीलता के साथ किसानों की फसल खराबे के सर्वे की निरन्तर मॉनिटरिंग कर रहे हैं। उन्होंने फसल बीमा योजना के तहत किसानों को मुआवजा दिलाये जाने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि किसी भी प्रभावित किसान के साथ भेदभाव नहीं किया जायेगा।          

             अतिवृष्टि से किसानों की फसलों को बहुत अधिक नुकसान हुआ है। शीघ्र सर्वे एवं गिरदावरी करवाकर मुआवजा दिलाने की कार्यवाही की जाये। यह सुझाव देते हुए विधायक रामनारायण मीना ने कहा कि आगामी रबी की फसल बुआई के समय उर्वरक की उपलब्धता एवं गुणवत्तापूर्ण बीज निर्धारित दर पर सभी ग्राम पंचायतों तक उपलब्ध करवाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा, शिक्षा, पेयजल एवं विद्युत आपूर्ति से संबंधित विभाग तत्परता से कार्य कर आमजन की समस्याओं का समय पर निराकरण करें। उन्होंने विभागों में प्रतिनियुक्तियों को समाप्त कर ग्रामीण क्षेत्रों में नियुक्त कार्मिकों को निर्धारित स्थान पर भिजवाकर मुख्यालय पर उपस्थित रहने के लिए पाबंद करने का सुझाव दिया। 

               जिला परिषद सदस्य जम्मू कुमार मीणा ने पानी भराव वाले खेतों को फसल खराबे के सर्वे में शामिल करने, नवीन ट्यूबवैल स्थापित के लिए स्वीकृतियां समय पर जारी करवाने का सुझाव दिया। नवीन शर्मा ने मोहनपुरा में तालाब की भूमि पर अतिक्रमण मुक्त करवाने के बाद उसका विकास करवाने, गांवों में बर्फ फेक्ट्रियों के द्वारा दूषित बर्फ को बच्चों को विक्रय पर प्रतिबंध लगवाने, नवीन हैण्डपम्पों की ड्रिल के बाद पेयजल के नमूने लेने का सुझाव दिया। प्रेम गोचर ने सीमलिया स्वास्थ्य केन्द्र पर रात्रिकालीन चिकित्सकों के उपस्थित रहने के लिए पाबंद करने, किसानों के बिजली के बिलों को दुरूस्त करने, अवैद्य खनन रोकने एवं बरसात से क्षतिग्रस्त आवासों का भी शीघ्र मुआवजा दिलाने का सुझाव दिया। रमेश महावर ने कुंभकोट में पेयजल, सडक जैसी मूलभूत सुविधाओं के बारे में सदन को अवगत कराया। सीताराम ने ग्रामीण क्षेत्रों में क्षतिग्रस्त सडकों की मरम्मत व अतिवृष्टि प्रभावित क्षेत्रों में पशुओं को चारा उपलब्ध कराने का सुझाव दिया। विमला ने जाखोडा, गोदल्याहेडी एवं मोरपा में क्षतिग्रस्त सडकों को दुरूस्त करवाने का सुझाव दिया। प्रधान खैराबाद भगवान सिंह धाकड ने फसल बीमा योजना में किसानों को जानकारी के अभाव में खराबे की सूचना ऑनलाईन करने में आ रही समस्या को देखते हुए बीमा कम्पनियों को भी पाबंद करने का सुझाव दिया। लाडपुरा प्रधान राजेन्द्र मेघवाल ने शैक्षणिक सुधार के लिए जांच कराने का सुझाव दिया

             बैठक में जिला एवं उपखण्ड स्तरीय वन अधिकार समितियों के गठन, सोलिड वेस्ट मैनेजमेन्ट नियमों, महानरेगा के पूरक प्लान एवं जिला परिषद के एसएफसी के कार्यो का अनुमोदन किया गया। 
जिला प्रमुख ने सभी अधिकारियों को आमजन की समस्याओं का प्राथमिकता से निराकरण करने, फसल खराबे के सर्वे के समय स्थानीय जनप्रतिनिधियों के सुझाव शामिल करने एवं खाद बीज की उपलब्धता के संबंध में निर्देश दिये। 
     
           बैठक का संचालन कार्यवाहक सीईओ प्रतिभा देवठिया ने किया तथा गत बैठक में लिये गये निर्णयों एवं विभागों द्वारा प्रत्युत्तर में किये गये कार्यों की जानकारी दी। । बैठक में  अधिकारियों द्वारा विभागीय योजनाओं की प्रगति एवं समस्या निराकरण के लिए किये जा रहे प्रयासों की जानकारी दी गई। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like