GMCH STORIES

पहले चरण के रोमांचक मुकाबलों में उम्मीदवारों का भाग्य किसके सिर पर जीत और किसके सिर पर हार का मुकुट सजाएगा

( Read 1759 Times)

01 Apr 24
Share |
Print This Page

गोपेन्द्र नाथ भट्ट

पहले चरण के रोमांचक मुकाबलों में उम्मीदवारों का भाग्य किसके सिर पर जीत और किसके सिर पर हार का मुकुट सजाएगा

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण में राजस्थान की 12 सीटों पर 19 अप्रैल को मतदान होना है। इन 12 लोकसभा क्षेत्रों में कुल 114 उम्मीदवारों के मध्य चुनावी मुकाबला होंगा और 19 अप्रेल को मतदान के दिन इनके भाग्य का फैसला हो जाएगा।पहले चरण के रोमांचक मुकाबलों में उम्मीदवारों का भाग्य किसके सिर पर जीत और किसके सिर पर हार का मुकुट सजाएगा यह भी चार जून को सबके सामने आ जाएगा। 


लोकसभा चुनाव के पहले चरण में राजस्थान में जिन 12 लोकसभा सीटों पर मतदान होना हैं, उसमें गंगानगर, बीकानेर, चूरू, झुंझुनूं, सीकर, जयपुर ग्रामीण, जयपुर शहर, अलवर, भरतपुर, करौली-धौलपुर, दौसा और नागौर की सीटे शामिल हैं। नाम वापसी की निर्धारित तिथि शनिवार को पहले चरण के 10 अभ्यर्थियों ने अपना नाम वापस लिया है। नाम वापसी की समय सीमा समाप्त होने के बाद इन सभी 12 लोकसभा सीटों पर आमने-सामने की टक्कर भी तय हो गई है।जयपुर ग्रामीण लोकसभा क्षेत्र से सर्वाधिक 15 प्रत्याशी और सबसे कम करौली-धौलपुर लोकसभा क्षेत्र से 4 प्रत्याशी चुनाव में हैं।राजस्थान में पहले चरण में जिन 12 सीटों पर मतदान होना है उनमें 10 सीटों पर भाजपा और कांग्रेस में सीधी टक्कर है,जबकि एक सीट पर भाजपा और लेफ्ट  तथा एक पर भाजपा और आरएलपी के मध्य टक्कर होगी। कांग्रेस ने दोनों ही सीटें लेफ्ट और आरएलपी के लिए छोड़ दी थी

इन 12 सीटों में कई सीटें ऐसी हैं, जिसके नतीजों पर न केवल राजस्थान बल्कि पूरे देश की नजर होगी। इसमें बीकानेर से केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, अलवर से केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव,चूरू से भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए राहुल कस्वां, नागौर से आरएलपी सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल और कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुई ज्योति मिर्धा,सीकर से लेफ्ट के अमराराम और वर्तमान सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती,जयपुर ग्रामीण से पूर्व विधान सभा उपाध्यक्ष राव राजेंद्र सिंह आदि की सीटें शामिल हैं।

राजस्थान में आम तौर पर प्रदेश की दो प्रमुख पार्टियों भाजपा और कांग्रेस में सीधी टक्कर होती रही है। विधानसभा के साथ-साथ लोकसभा चुनाव में भी यही परिपाटी रहती आई है। यहां लोकसभा के बीते दो चुनाव 2014 और 2919 में भाजपा नेतृत्व वाले एनडीए ने प्रदेश की सभी सीटों पर जीत हासिल की थी और कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला था। हालांकि इस बार कांग्रेस वामपंथी दल और आरएलपी के साथ गठबंधन कर चुनावी मैदान में उतरी है तथा कांग्रेस का इरादा भाजपा को प्रदेश की कुछ सीटों पार पटकनी देने का है ।

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण में राजस्थान की 12 सीटों पर 19 अप्रैल को मतदान होना है। शनिवार 30 मार्च को पहले चरण के लिए नाम वापसी का अंतिम दिन था। राजस्थान के मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता  के अनुसार लोकसभा आम चुनाव-2024 के प्रथम चरण के 12 लोकसभा क्षेत्रों से शनिवार को 7 अभ्यर्थियों ने अपने नामांकन पत्र वापस लिए हैं। इसके साथ ही, प्रथम चरण में मतदान वाले क्षेत्रों में से कुल 10 अभ्यर्थियों ने अपने नामांकन पत्र वापस ले लिए हैं। शनिवार को सीकर और दौसा लोकसभा क्षेत्रों से 2-2 तथा जयपुर, अलवर और नागौर क्षेत्रों से 1-1 प्रत्याशी ने नामांकन पत्र वापस लिए। नामांकन वापसी के साथ ही 12 लोकसभा क्षेत्रों में कुल 114 उम्मीदवारों के मध्य चुनावी मुकाबला होने की तस्वीर साफ हो गई है । 


देखना है पहले चरण के रोमांचक मुकाबलों में उम्मीदवारों का भाग्य किसके सिर पर जीत और किसके सिर पर हार का मुकुट सजाएगा।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like