GMCH STORIES

इतिहास विभाग के प्रोफेसर दिग्विजय भटनागर को स्वामी विवेकानंद शोधपीठ के निदेशक हेतु किया नवनियुक्त

( Read 903 Times)

13 Jan 22
Share |
Print This Page
इतिहास विभाग के प्रोफेसर दिग्विजय भटनागर को स्वामी विवेकानंद शोधपीठ के निदेशक हेतु किया नवनियुक्त

मोहन लाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय उदयपुर के परिसर में स्वामी विवेकानंद सभागार में स्थित स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय उदयपुर के कुलपति प्रोफेसर अमेरिका सिंह  ने स्वामी विवेकानंद जी के जन्म जयंती के उपलक्ष में प्रतिमा पर माल्यार्पण कर जन्म जयंती मनाई।
 कुलपति प्रो. अमेरिका सिंह ने बताया कि भारत के महापुरूष स्वामी विवेकानंद जिससे हम प्रेरित होते हैं ।विवेकानंद युवाओं के मार्गदर्शक होने के साथ-साथ नए युवाओं में उत्साह उमंग जोश भरते हैं जिससे भारत के विकास में प्रगति होती हैं। इस हेतु इतिहास विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर दिग्विजय भटनागर को विवेकानंद शोध पीठ के निदेशक के रूप में नियुक्त किया व बताया कि विवेकानंद के साहित्य से संबंधित पुस्तकों के अध्ययन हेतु मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्या लय में शोध कार्यों को नवीन आयाम भारत के महापुरुषों से संबंधित उपलब्धियों की यथावत जानकारी जनसामान्य तक पहुंचाने के लिए एक विवेकानंद शोधपीठ पुस्तकालय की स्थापना की घोषणा की ।
प्रोफेसर दिग्विजय भटनागर  ने बताया कि विश्व मंच पर ओजस्वी वचनों से भारत की प्राचीन और वैभवपूर्ण सभ्यता की ओर से पूरे विश्व को आकर्षित करने वाले और संपूर्ण विश्व में अपने प्रभावशाली व्यक्तित्व के लिए एवं प्रख्यात युवाओं को प्रेरणा स्रोत महापुरुष विवेकानंद जी जिनकी आज के युवा पीढ़ी में नए उमंग उत्साह भरते है।
इस समय असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ बालू दान सिंह बारहठ एवं इतिहास विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर पीयूष भादविया व छात्र राजू वन जोगी,विक्रम सिंह ,साथ ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के वीरेंद्र जी मी लिंद पालीवाल ,रवि जी, कुलदीप सुखवाड़ा ,रौनक राज सिंह अजीत सिंह आदि मौजूद रहे ।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Education ,
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like