logo

"शैक्षणिक संस्थान में प्रशासनिक और तकनीकी कर्मचारियों की क्षमता बढ़ाने के उपाय"

( Read 1464 Times)

13 Mar 19
Share |
Print This Page

"शैक्षणिक संस्थान में प्रशासनिक और तकनीकी कर्मचारियों की क्षमता बढ़ाने  के उपाय"
टी. ई. क्यू. आई. पी. प्रोजेक्ट (फेज-III) प्रायोजित "शैक्षणिक संस्थान में प्रशासनिक और तकनीकी कर्मचारियों की क्षमता बढ़ाने  के उपाय" विषय पर 11 मार्च को एक सप्ताह के लघु अवधि प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड इंजीनियरिंग, उदयपुर में हुआ।

कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड इंजीनियरिंग (सी. टी. ए. ई.), उदयपुर में 11 मार्च, 2019 को “"शैक्षणिक संस्थान में प्रशासनिक और तकनीकी कर्मचारियों की क्षमता बढ़ाने  के उपाय" विषय पर लघु अवधि प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन समारोह सम्पन्न हुआ। लघु अवधि प्रशिक्षण कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह में विभिन्न विषय के प्रोफ़ेसर ने अपने विचार रखे। प्रो. अजय कुमार शर्मा (कॉलेज डीन), जो इस विश्व-बैंक प्रोजेक्ट (टी.ई.क्यू.आई. पी. -III प्रोजेक्ट.) के पी.आई. हैं, प्रो. जी एस तिवारी, प्रो. महेश कोठारी (प्रोजेक्ट समन्वयक), डॉ. नवीन जैन (कार्यक्रम समन्वयक) और डॉ. चितरंजन (कार्यक्रम समन्वयक) ने क्रमशः अपने विचार रखे। यह कार्यक्रम शैक्षणिक संस्थान में प्रशासनिक और तकनीकी कर्मचारियों की क्षमता बढ़ाने  के उपाय में उच्च विशेषज्ञों के अनुभव को प्रस्तुत करने पर ध्यान केंद्रित करता है, जो संसथान के हर स्तर के पेशे में काम करने के लिए सक्रिय और जिम्मेदार साबित होंगे। यह कार्यक्रम शैक्षणिक संस्थान की जरूरत के अनुसार रचनात्मकता, विस्तार और समय के साथ तालमेल और पेशेवरों के बीच प्रक्रिया को विकसित करने का लक्ष्य रखता है। इस लघु अवधि प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रो. अजय कुमार शर्मा, श्रीमती विनीता बोहरा (वरिष्ठ आई. ए. एस.), प्रो. महेश कोठारी (प्रोजेक्ट समन्वयक), डॉ. चितरंजन (कार्यक्रम समन्वयक) और डॉ. नवीन जैन (कार्यक्रम समन्वयक) के भाषणों के साथ समारोह का उद्घाटन किया हुआ। प्रो. अजय कुमार शर्मा ने इस कार्यक्रम के प्रतिभागियों को कॉलेज की विभिन्न परियोजनाओं जैसे टी. ई. क्यू. आई. पी. (तृतीय फेज) एवं आई. डी. पी./ एन. ए. एच. ई. पी. प्रोजेक्ट इत्यादि योजनाओ का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाने के लिये स्टाफ को प्रेरित किया। अंत में, डॉ. चितरंजन ने धन्यवाद ज्ञापित किया और कॉलेज के डीन डॉ. अजय कुमार शर्मा के प्रति पूर्ण सम्मान से धन्यवाद व्यक्त किया, जो इस विश्व-बैंक प्रोजेक्ट के पी.आई. हैं। इसके अलावा, उन्होंने सभी को अपना हार्दिक धन्यवाद दिया, जिन्होंने प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से इस आयोजन में योगदान दिया।

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Education
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like