GMCH STORIES

एचडीएफसी बैंक की को-ब्रांडेड क्रेडिट काड्र्स लॉन्च के लिये पेटीएम से साझेदारी

( Read 1100 Times)

21 Sep 21
Share |
Print This Page

एचडीएफसी बैंक की को-ब्रांडेड क्रेडिट काड्र्स लॉन्च के लिये पेटीएम से साझेदारी

उदयपुर। एचडीएफसी बैंक और पेटीएम ने वीजा संचालित क्रेडिट काड्र्स की विस्तृत श्रृंखला लॉन्च किए जाने की घोषणा की। पेटीएम उपभोक्ताओं और व्यापारियों के लिए भारत का अग्रणी डिजिटल प्लेटफॉर्म (1) है। अपनी तरह की इस पहली साझेदारी का उद्देश्य विशेष रूप से मिलेनियल्स, कारोबार मालिकों और व्यापारियों समेत सभी ग्राहक वर्गों को पेशकशों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करना है। इन क्रेडिट काड्र्स को खुदरा ग्राहकों की अलग-अलग जरूरतों को पूरा करने के लिए कस्टमाज किया जायेगा। इनमें नए क्रेडिट कार्ड यूजर्स से लेकर समृद्ध यूजर्स या उपयोगकर्ता भी शामिल होंगे। इस श्रेणी के तहत यूजर्स को अन्य काड्र्स के मुकाबले शानदार रिवाड्र्स और कैशबैक मिलेंगे। नए कार्ड की पेशकश से छोटे कारोबारियों को भी सुविधा होगी।
इस श्रेणी के काड्र्स को अक्टूबर 2021 में लॉन्च किए जाने की योजना है। यह आमतौर पर त्योहारी सीजन होता है और इस मौके पर इनकी पेशकश करने का उद्देश्यश क्रेडिट कार्ड ऑफर, ईएमआई और बाय नाउ पे लेटर विकल्पों की संभावित उच्च उपभोक्ता मांग का लाभ उठाना है। उत्पादों की पूरी श्रृंखला को दिसंबर 2021 के अंत तक पेश कर दिया जाएगा। 5.1 करोड़ से अधिक क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड और प्रीपेड कार्ड और 2 मिलियन से अधिक व्यापारियों के साथ हर बाजार सेगमेंट की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए भारत में कार्ड पर खर्च किया गया हर तीसरा रुपया एचडीएफसी बैंक कार्ड के जरिए होता है। इस प्रकार बैंक ने भारत में कंजम्पंशन स्टोगरी को बढ़ावा देने में वर्षों से महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
इस साझेदारी का उद्देश्य एक दूसरे की क्षमता का लाभ उठाकर ग्राहकों को बेहतर मूल्य और अनुभव प्रदान करना है। भारत के प्रमुख क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता के रूप में जहां एचडीएफसी बैंक की विशिष्टता और बेहतर ग्राहक जुड़ाव प्रदान करने में ताकत अहम है, वहीं पेटीएम के पास उसका डिजिटल कौशल और 330 मिलियन से अधिक उपभोक्ताओं की पहुंच (2) शामिल है। यह साझेदारी टियर दो और टियर तीन बाजारों में पैठ को गहरी करेगा और देश भर में डिजिटल भुगतान के इस्तेमाल की गति को तेज करने की प्रक्रिया को सक्षम बनाएगा। साझेदारी के तहत एचडीएफसी बैंक और पेटीएम बिजनस क्रेडिट कार्ड पेश करेंगे, जो भारत के छोटे शहरों और कस्बों के कारोबारी पार्टनर्स के लिए कई सारी सुविधाओं की पेशकश करते हुए उन्हें तत्काल और दस्तावेजी अनुमोदन के साथ कर्ज तक आसान पहुंच प्राप्त करने में सक्षम बनाएंगे। बिजनस क्रेडिट कार्ड व्यापारियों के लिए क्रेडिट कार्ड सेगमेंट में पेटीएम के प्रवेश का मार्ग प्रशस्त करेगा, जिससे पेटीएम के 21 मिलियन से अधिक व्यापारियों (2) को लाभ होगा।
दोनों कंपनियां डिजिटल-फस्र्ट मिलेनियल्स को लक्षित करते हुए मोबाइल क्रेडिट कार्ड सहित कैशबैक और लाभों की पेशकश करते हुए उपभोक्ता क्रेडिट कार्ड की एक पूरी श्रृंखला भी लॉन्च करेंगे। यूजर एक डिजिटल और पेपरलेस (दस्तावेज रहित) प्रक्रिया के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं और पेटीएम एप के माध्यम से इस प्रक्रिया को पूरी कर सकते हैं।
भावेश गुप्ता, सीईओ, पेटीएम लेंडिंग ने कहा कि पेटीएम में हमारा लक्ष्य अपने 330 मिलियन से अधिक उपभोक्ताओं और 21 मिलियन से अधिक मर्चेंट पार्टनर्स या कारोबारी साझेदारों (2) के बीच वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिए क्रेडिट तक पहुंच का लोकतांत्रिकरण करना है। हमारी तकनीकी क्षमताओं के साथ पेटीएम के कारोबारी साझेदार और भारत के नए क्रेडिट मिलेनियल्स अब एक स्वस्थ क्रेडिट प्रोफाइल बनाने और औपचारिक अर्थव्यवस्था में उपलब्ध अवसरों तक पहुंच प्राप्त करने में सक्षम होंगे। मिलेनियल्स, कारोबारी मालिक और व्यापारी पर विशेष ध्यान देने के साथ ग्राहक सेगमेंट में क्रेडिट कार्ड की व्यापक श्रृंखला को पेश करने के लिए एचडीएफसी बैंक और वीजा के साथ साझेदारी कर हमें खुशी हो रही है।
पराग राव,  ग्रुप हेड - पेमेंट्स, कंज्यूमर फाइनैंस, डिजिटल बैकिंग एंड आईटी, एचडीएफसी बैंक ने कहा कि भारत के सबसे बड़े कार्ड जारी और अधिग्रहण करने वाले बैंक के रूप में हम देश में डिजिटलीकरण को अपनाने में तेजी लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारा मानना है कि भारत की विकास गाथा मजबूत है और यह साझेदारी बैंक की ओर से विशेष रूप से त्योहारी सीजन के दौरान खपत को सक्षम बनाने का एक प्रयास है, जो देश के आर्थिक विकास को और मजबूती देगा। कार्ड के क्षेत्र में एक अग्रणी के रूप में हमारा उद्देश्य इस तरह के सहयोग के माध्यम से पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ाने में मदद करना है, जो अंतत: ग्राहकों के लिए एक अलग अनुभव प्रदान करता है। टी आर रामाचंद्रन,  ग्रुप कंट्री मैनेजर,  भारत और दक्षिण एशिया, वीजा ने कहा कि उपभोक्ता और व्यवसाय समान रूप से आज डिजिटल भुगतान को अपना रहे हैं। हमें पेटीएम और एचडीएफसी बैंक के साथ साझेदारी करने और वीजा समाधानों और क्षमताओं की पूरी श्रृंखला को लागू किए जाने पर गर्व है, क्योंकि वे इस विशाल और विविध ग्राहक आधार की क्षमता का दोहन करने के लिए विश्वस्तरीय उत्पादों की एक श्रृंखला की पेशकश करते हैं। नए कर्ज ग्राहकों से लेकर डिजिटल रूप से जानकार और छोटे व्यापारियों तक, प्रत्येक प्रकार के ग्राहक की जरूरतों के अनुरूप डिजाइन किए गए काड्र्स के साथ मुझे विश्वास है कि यह साझेदारी क्रेडिट (कर्ज) तक पहुंच को सक्षम बनाएगी।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Business News ,
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like