GMCH STORIES

नवग्रह आश्रम के हंसराज चोधरी राष्ट्रीय अटल पुरस्कार से सम्मानित

( Read 2414 Times)

22 Jun 24
Share |
Print This Page
नवग्रह आश्रम के हंसराज चोधरी राष्ट्रीय अटल पुरस्कार से सम्मानित


रायला के पास मोतीबोर का खेड़ा स्थित नवग्रह आश्रम के संस्थापक हंसराज चोधरी को अटल फाउंडेशन द्वारा प्रधानमंत्री संग्राहलय नई दिल्ली में आयोजित समारोह में राष्ट्रीय अटल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। हंसराज चोधरी को यह पुरस्कार मिलने पर उनके प्रशंसकों ने बधाई दी है।
मुख्य अतिथि भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविनाश राय, अटल फाउंडेशन के मुख्य संरक्षक श्याम जाजू, राष्ट्रीय अध्यक्ष अपर्णा सिंह ने नवग्रह आश्रम के संस्थापक हंसराज चोधरी को प्रशस्ति पत्र, सम्मान पत्र एवं मोमेंटो देकर सम्मानित किया। नवग्रह आश्रम के संस्थापक हंसराज चोधरी को यह सम्मान आयुर्वेद चिकित्सा एवं गौसेवा के क्षेत्र में प्रशंसनीय उपलब्ध्यिां प्राप्त करने व समाजसेवक के रूप में विशिष्ट कार्य करने के लिए दिया गया है।
इन प्रमुख हस्तियों ने हंसराज चैधरी को प्रशस्ति पत्र, सम्मान पत्र, और मोमेंटो देकर सम्मानित किया। हंसराज चैधरी को यह सम्मान आयुर्वेद चिकित्सा और गौसेवा के क्षेत्र में उनकी प्रशंसनीय उपलब्धियों और समाजसेवक के रूप में विशिष्ट कार्यों के लिए प्रदान किया गया है।
हंसराज चैधरी ने इस मौके पर बताया कि समारोह में देश भर से 48 लोगों को सम्मानित किया गया। आसींद तहसील क्षेत्र के मोतीबोर का खेड़ा के वह एकमात्र व्यक्ति थे जिन्हें इस प्रतिष्ठित पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उनकी इस महत्वपूर्ण उपलब्धि से पूरे क्षेत्र में खुशी और गर्व का माहौल है।
समारोह के बाद जब हंसराज चैधरी सम्मान लेकर आज नवग्रह आश्रम पहुंचे, तो उनके प्रशंसकों ने उनका भव्य स्वागत किया। इस अवसर पर चैधरी ने कहा, इस सम्मान से मेरी कार्यशैली में और निखार आएगा। यह पुरस्कार मेरे लिए गर्व का विषय है और इससे मुझे और भी बेहतर काम करने की प्रेरणा मिलेगी।
उल्ल्ेखनीय है कि यह सम्मान भारत सरकार के स्वायत्तशासी संस्था और आरएसएस के निर्देशन में संचालित अटल फाउंडेशन की ओर से दिया गया है। हंसराज चैधरी ने कहा कि अटल फाउंडेशन द्वारा इस प्रतिष्ठित सम्मान को प्राप्त करना उनके लिए विशेष गौरव की बात है।
आगे की योजनाएँ---------हंसराज चैधरी ने आगे बताया कि वह आयुर्वेद चिकित्सा और गौसेवा के क्षेत्र में अपने कार्यों को और भी विस्तारित करेंगे। उन्होंने कहा कि इस सम्मान से मेरी जिम्मेदारियाँ और भी बढ़ गई हैं। मैं अपने कार्यों में और अधिक समर्पण और मेहनत से जुट जाऊंगा।
नवग्रह आश्रम की भूमिका---नवग्रह आश्रम, जिसे हंसराज चैधरी ने स्थापित किया है, आयुर्वेद चिकित्सा और गौसेवा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। आश्रम ने समाज के विभिन्न वर्गों के लोगों को लाभान्वित किया है और उनकी सेहत और भलाई के लिए महत्वपूर्ण कार्य किए हैं। इस सम्मान ने नवग्रह आश्रम के कार्यों को और भी मान्यता दिलाई है और इसे एक नई दिशा दी है।
समाज में प्रभाव----हंसराज चैधरी की इस उपलब्धि ने क्षेत्र के लोगों को प्रेरित किया है। उनकी मेहनत और समर्पण ने यह सिद्ध कर दिया है कि सही दिशा और निष्ठा से किया गया कार्य हमेशा पहचान पाता है। इस पुरस्कार ने न केवल हंसराज चैधरी को, बल्कि पूरे मोतीबोर का खेड़ा क्षेत्र को गर्वित किया है।
सार-हंसराज चैधरी का राष्ट्रीय अटल पुरस्कार से सम्मानित होना उनके और उनके आश्रम के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। यह सम्मान उनके द्वारा किए गए कार्यों की मान्यता है और समाज सेवा के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। उनके इस सम्मान से प्रेरित होकर और भी लोग समाज सेवा और देश सेवा की दिशा में अग्रसर होंगे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Bhilwara News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like