logo

पहला भारतीय शो बना ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’

( Read 6470 Times)

31 Mar 19
Share |
Print This Page
 पहला भारतीय शो बना ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’

लोकप्रिय एडूटैनमेंट शो ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पावर्ड चैटबॉट के जरिए युवा दर्शकों तक पहुंच बनाने के लिए इस्तेमाल करने वाला पहला भारतीय टेलीविजन शो बन गया है। इसकी जानकारी पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया की कार्यकारी निदेशक पूनम मुत्तरेजा ने दी। उन्‍होंने कहा कि ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ के माध्यम से हमने हमेशा बड़े दर्शकों के सेगमेंट तक पहुंचने के नए तरीके खोजने की कोशिश की है। यही कारण है कि हमारी डिजिटल मीडिया के माध्यम से युवाओं तक अधिक पहुंच है, लेकिन उनमें से कई यौन और प्रजनन स्वास्थ्य के बारे में अपनी आवश्यकताओं या प्रश्नों पर चर्चा करने में सक्षम नहीं हैं। उन्हें या तो अर्धसत्य या भ्रामक सामग्री मिलती है।

मुत्तरेजा ने कहा कि हमारी चैटबोट डॉ स्नेहा माथुर का डिजिटल अवतार है, जो ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ की मुख्य नायक हैं। यह युवाओं को अपनी चिंताओं के बारे में बात करने और एक विश्वसनीय स्रोत से सही जानकारी प्राप्त करने की अनुमति देता है। डॉ स्नेहा चैटबोट उपयोगकर्ताओं को व्यक्तिगत रूप से यौन और प्रजनन स्वास्थ्य से संबंधित मुद्दों पर बातचीत करने की अनुमति देती है। डॉ स्नेहा चैटबोट को यूके की कंपनी एआई फॉर गुड द्वारा विकसित किया गया है, जिसका नेतृत्व कृति शर्मा कर रही हैं। कृति सतत विकास लक्ष्यों के लिए एक अग्रणी वैश्विक कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) विशेषज्ञ और संयुक्त राष्ट्र युवा नेता हैं।

वहीं, कृति शर्मा ने कहा कि हमें सामाजिक भलाई के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग करने की आवश्यकता है। डॉ स्नेहा चैटबोट के पास भारत में युवाओं के एक विस्तृत वर्ग के लिए सेवाएं देने की बहुत बड़ी क्षमता है जो ऑनलाइन हैं। यौन और प्रजनन स्वास्थ्य पर भरोसेमंद जानकारी और सेवाएं नहीं मिल पाती हैं। डिजिटल मीडिया में नए उपयोगकर्ताओं को ध्यान में रखते हुए बॉट को विकसित किया गया है, विशेषकर बातचीत डिजाइन और समृद्ध मीडिया के उपयोग में। हम गोपनीयता और गोपनीयता की आवश्यकता के प्रति भी सजग हैं, जिसके लिए हमने उच्चतम सुरक्षा मानकों का पालन किया है,जैसा कि हम युवा और कमजोर लोगों के जीवन के साथ काम कर रहे हैं।

शो के निर्माता फिरोज अब्बास खान ने कहा कि आज के तकनीकी युग में, किसी सूचना के प्रसार के लिए एक मल्टी-मीडिया दृष्टिकोण की आवश्यकता है। ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ ने अपनी एआई-संचालित चैटबोट विकसित की, ताकि हम हमारे दर्शकों के बारे में हमारी समझ को बढा सके। यह भी समझ में आता है कि शो के संदेश का उपभोग कैसे किया जा रहा है। शो ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ एक युवा डॉक्टर डॉ स्नेहा माथुर की प्रेरक यात्रा के आसपास घूमती है, जो मुंबई में अपने आकर्षक कैरियर को छोड़ देती है। पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया को आरईसी फाउंडेशन और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन द्वारा इस लोकप्रिय शो के सीजन 3 के लिए समर्थन मिल रहा है।

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Sponsored Stories
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like