logo

मॉडल फार्मर पायलेट प्रोजेक्ट बनाया जायगा

( Read 2298 Times)

11 Jul 18
Share |
Print This Page
मॉडल फार्मर पायलेट प्रोजेक्ट बनाया जायगा डॉ.प्रभात कुमार सिंघल,कोटा/ प्रत्येक पंचायत समिति क्षेत्र से नवाचारी एवं प्रगतिशील कृषकों का चयन किया जाकर मॉडल फार्मर के रूप में समन्वित विकास किया जाएगा। सफल मॉडल होने पर पूरे जिले में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में लागू किया जाएगा। यह जानकारी आज झालावाड़ की पंचायत समिति डग में ‘ कृषकों से सृमद्धि अभियान ’ विषयक कार्यशाला में दीगई।
कार्यशाला में मुख्य अतिथि गोविन्द सिंह परमार द्वारा कृषकों को विविधीकरण हाइटेक उद्यानिकी के साथ आय को दुगनी करने के लिए कृषकों से नवीन कृषि तकनीक अपनाने का आह्वान किया।
इस अवसर पर कृषि उप निदेशक अतीश कुमार शर्मा ने विभागीय योजनाओं की जानकारी देते हुए समन्वित कृषि पद्धति पर प्रकाश डाला। उन्होंने कृषकों को खेती में मृदा स्वास्थ्य कार्ड की रिपोर्ट के आधार पर उर्वरकों का संतुलित उपयोग करने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि किसान खेत पर फार्म पोण्ड बनाकर जल संचय करें तथा फसलों में जल के समुचित उपयोग हेतु बूंद-बूंद सिंचाई एवं फव्वारा पद्धति को अपनाएं। उन्होंने आत्मा योजना अन्तर्गत किए गए नवाचारों के कृषकों को आगे आकर विभागीय पुरस्कार प्रतियोगिता में भाग लेने का आह्वान किया।
कार्यशाला में कृषक तुफान सिंह सहित करीब 100 से अधिक कृषकों एवं जनप्रतिनिधियों तथा कृषि, पशुपालन, मत्स्य, सिंचाई के साथ एक्सीलेंस सेन्टर जैविक खेती एवं कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों, कृषि अधिकारी भवानीमण्डी, कृषि अनुसंधान अधिकारी, विकास अधिकारी आदि ने भाग लिया।
कार्यशाला में सहायक निदेशक उद्यान नन्दबिहारी मालव ने पॉली हाऊस, सौर उर्जा, शेडनेट, मधुमक्खीपालन आदि के बारे में जानकारी दी। सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता ने परड्रोप, मोरक्रोप के महत्व पर प्रकाश डाला। पशुपालन विभाग द्वारा दूध उत्पादन एवं डेयरी विकास योजनाओं की जानकारी दी।
मत्स्य विभाग के अधिकारियों ने फार्म पोण्ड में मछली उत्पादन करने की जानकारी दी। कार्यशाला में किसानों को मिट्टी में उर्वरकों का उपयोग मृदा स्वास्थ्य कार्ड के आधार पर प्रत्येक कृषक के खसरे का मृदा स्वास्थ्य कार्ड तैयार कर निःशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। उपनिदेशक कृषि ने बताया कि कृषकों से सृमद्धि अभियान के तहत 12 जुलाई को भवानीमण्डी, 16 को सुनेल, 18 को बकानी, 20 को अकलेरा, 24 को मनोहरथाना, 26 को खानपुर एवं 31 जुलाई को झालरापाटन में कृषि समृद्धि कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा।
Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like