GMCH STORIES

ऐतिहासिक ‘सभे सांझीवाल सदाइनि’ कीर्तन दरबार 26 को रामलीला मैदान में

( Read 2499 Times)

23 Mar 23
Share |
Print This Page
ऐतिहासिक ‘सभे सांझीवाल सदाइनि’ कीर्तन दरबार 26 को रामलीला मैदान में

श्रीगंगानगर । श्रीगंगानगर के इतिहास में पहली बार श्रीअकाल तख्त साहिब जी की सरपरस्ती और शिरोमणी गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी अमृतसर, सिंधी समाज, सहजधारी समाज व सिख समाज के सहयोग से  ‘सभे सांझीवाल सदाइनि’ कीर्तन दरबार का आयोजन किया जा रहा है, जिसकी तैयारियों में सेवादारों ने पूरी ताकत झोंक दी है। यह आयोजन श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय पर रामलीला मैदान में 26 मार्च को किया जाएगा। शाम 6 से रात्रि 1॰ बजे तक आयोजित होने वाली कीर्तन दरबार में केवल राजस्थान ही नहीं, बल्कि पंजाब, हरियाणा के साथ-साथ दिल्ली से भी हजारों की संख्या में संगत पहुंचेगी। गुरूद्वारा धन-धन बाबा दीप सिंह जी शहीद के मुख्य सेवादार तेजेन्द्रपाल सिंह टिम्मा ने बताया कि साम्प्रदायिक सौहार्द के प्रतीक इस कीर्तन दरबार में सभी समाजों के लोग शामिल होंगे।  कीर्तन दरबार में विशेष तौर पर श्री अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह, शिरोमणी कमेटी के प्रधान एडवोकेट हरजिन्द्र सिंह धामी पहुंचेंगे। इनके अलावा विश्व प्रसिद्ध शख्सियत भाई गुरप्रीत सिंह ‘रिंकू वीर जी’ (बोम्बे वाले) पहुंचेंगे और अपनी मधुर आवाज से कथा-कीर्तन कर संगत को निहाल करेंगे। इस ऐतिहासिक आयोजन को देखते हुए रामलीला मैदान में 8॰ फिट चौडा और 15 फिट ऊंचा विशाल और आकर्षक स्टेज बनाया जाएगा। स्टेज बनाने के लिए विशेष तौर पर मुम्बई से टीम पहुंचेगी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा 3॰॰ फिट लम्बा विशाल पंडाल भी बनाया जाएगा। कीर्तन दरबार में शामिल होने के लिए अब तक अलग-अलग क्षेत्रों से 9॰ बसों के पहुंचने एंट्री दर्ज हो चुकी है। पार्किंग  की व्यवस्था जहां नई धानमंडी और दुर्गेश सिनेमा के सामने स्थित रामलीला मैदान में की गई है, वहीं लंगर की व्यवस्था रामलीला मैदान के पास ही स्थित गोपीराम गोयल की बगीची में होगी। तीन जोडा घर बनाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि चूंकि हजारों की संख्या में संगत पहुंचेगी, तो उनके रहने की व्यवस्था गुरूद्वारों धर्मशालाओं में होगी। इसके अलावा 17॰ घरों में भी संगत के रहने का प्रबंध किया गया है। कीर्तन दरबार का लाइव प्रसारण पीटीसी चैनल पर किया जाएगा। श्री टिम्मा ने बताया कि आयोजन स्थल पर भव्य और आकर्षक रंग-बिरंगी लाइटिंग की जाएगी। संगत को किसी भी तरह की परेशानी ना हो, इसके लिए दो सौ से भी अधिक सेवादारों की अलग-अलग ड्यूटियां लगाई गई है। श्री टिम्मा ने सभी समाजों से अपील की है कि साम्प्रदायिक सौहार्द के प्रतीक इस कीर्तन दरबार में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like