GMCH STORIES

बालश्रम मुक्त उदयपुर अभियान के तहत जिला प्रशासन का सम्मान समारोह सम्पन्न

( Read 749 Times)

23 Jun 22
Share |
Print This Page

बालश्रम मुक्त उदयपुर अभियान के तहत जिला प्रशासन का सम्मान समारोह सम्पन्न

उदयपुर । अन्तर्राष्ट्रिय बालश्रम निषेध दिवस से पुरे सप्ताह जिस प्रकार उदयपुर जिले में बालश्रम की रोकथाम हेतु कार्य हुआ है, इसने पुरे राष्ट्र के सामने उदाहरण प्रस्तुत किया है। जिला प्रशासन उदयपुर, पुलिस विभाग एवं स्थानीय स्वयं सेवी संस्थाओ का सामुहिक प्रयास अन्य राज्यो को दिशा दिखाने का कार्य करेगा। मेवाड का सदैव हर क्षैत्र में अग्रणी नाम रहा है एवं अब बाल संरक्षण हेतु भी किर्तिमान स्थापित  कर आपने सराहनिय कार्य किया है। उक्त विचार राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग, भारत सरकार के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने आज उदयपुर नगर निगम प्रागंण में स्थित ऑडिटोरियन मे जिला प्रशासन, उदयपुर द्वारा आयोजित बालश्रम मुक्त उदयपुर अभियान के समापन के अवसर पर  सम्मान समारोह में ऑनलाइन वरचुअल जुडकर प्रकट किए।
कानूनगो ने उदयपुर जिला कलक्टर, जिला पुलिस अधिक्षक एवं विभागिय अधिकारियो को धन्यवाद देते हुए पूरे अभियान के बेहतर समन्वय हेतु डॉ. शैलेन्द्र पण्ड्या, प्रभारी बालश्रम प्रकोष्ठ राजस्थान बाल आयोग, राजस्थान सरकार का आभार व्यक्त किया।
इस अवसर पर जिला कलक्टर उदयपुर ताराचन्द मीणा ने कार्यक्रम में उपस्थित विभिन्न विभागो के अधिकारी, मानव तस्करी विरोधी यूनिट, सहित स्वयं सेवी सस्थाओ के प्रतिनिधियो का अभियान के सफल होने पर बधाई देते हुए रेस्क्यु किए बच्चो के बेहतर पूर्नवास की बात कही।
कार्यक्रम में राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग, राजस्थान सरकार के सदस्य एवं बालश्रम प्रकोष्ठ प्रभारी डॉ. शैलेन्द्र्र पण्ड्या ने 12 जून से 20 जून तक चले अभियान की जानकारी देते हुए बताया कि इस सप्ताह मे कुल 91 बालश्रमिको को मुक्त करवाते हुए 70 से ज्यादा नियोक्ताओ के खिलाफ प्रकरण दर्ज होना बडी सफलता है जिला प्रशासन आगे भी इस तरह की गतिविधि  माह में एक बार यदि चलाते रहे तो निश्चित ही उदयपुर जल्द ही पूर्ण रूप से बालश्रम मुक्त बनकर पूरे राष्ट्र में एक मॉडल बनकर उभरेगा।
कार्यक्रम में श्रम सलाकार समिति के उपाध्यक्ष जगदीश राज श्रीमाली, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष ध्रु्रव कुमार कवीया, सम्भागिय श्रम आयुक्त प्रेम प्रकाश शर्मा, सहायक निदेशक बाल अधिकारिता मीना शर्मा, प्रतिबद्ध संस्थान के निदेशक एवं पार्षद गिरिश भारती ने भी विचार प्रकट किए। 
कार्यक्रम के अन्त में अभियान में अपनी सक्रिय भूमिका अदा करने वाले विभागिय अधिकारी, पुलिस अधिकारी एवं कार्यकत्ताओ को जिला प्रशासन द्वारा प्रशस्ति पत्र एवं मोमेंटो भेट कर सम्मान किया गया।
कार्यक्रम में जिला प्रशासन के आला अधिकारी, बाल अधिकारिता विभाग, मानव तस्करी विरोधी यूनिट, चाइल्ड लाइन, कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्न फाडण्डेशन, गायत्री सेवा संस्थान, नारायण सेवा संस्थान स्वतन्त्रा सेनानी वी.पी. सिह संस्थान, बाल सुरक्षा नेटवर्क, बाल कल्याण समिति, प्ररेणा संस्थान, प्रतिबद्ध संस्थान सहित विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओ के प्रतिनिधि, विभिन्न राजकिय एवं गैर राजकिय विद्यालय के बच्चे एवं शिक्षक उपस्थित रहै।
सम्मान कार्यक्रम के प्रश्चात् प्रतिबद्ध संस्थान के सौजन्य से बच्चो को जादूगर आंचल का निशुल्क मोटिवेशनल जादु शो दिखाया गया, जिसका बच्चो ने खुब आनन्द लिया।
 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News ,
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like