BREAKING NEWS

अपर जिला न्यायाधीश द्वारा किया गया वन स्टॉप सखी सेंटर का निरीक्षणरू

( Read 1373 Times)

06 Feb 20
Share |
Print This Page

अपर जिला न्यायाधीश द्वारा किया गया वन स्टॉप सखी सेंटर का निरीक्षणरू

राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के द्वारा जारी निर्देशानुसार वन स्टॉप सेंटर ;निर्भया योजना के अधीनद्ध महिला अधिकारिता विभाग के द्वारा संचालित का निरीक्षण सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री लक्ष्मीकांत वैष्णव के द्वारा किया गया।ए निरीक्षण के समय पैनल लॉयर श्री अजीत मोदीए प्रो बोनो लॉयर श्री रविंद्र सराफए प्रमुख चिकित्सा अधिकारी जिला अस्पताल डॉक्टर ओ पी दायमा ए सहायक निदेशक महिला अधिकारिता विभाग प्रतापगढ़ श्री पंकज त्रिवेदी मौजूद रहे। माननीय रजिस्ट्रार जनरल राजस्थान उच्च न्यायालय बेंच जयपुर व माननीय राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जयपुर के द्वारा जारी निर्देशों की पालना में किए गए निरीक्षण में मौके पर यह पाया गया कि इस वन स्टॉप सेंटर का आरंभ दिनांक 19 जनवरी 2019 को किया गया जिसकी प्रबंधक श्रीमती हेमलता गौर  हैं । प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ ओपी दायमा के मुताबिक पीड़िता अथवा सहायता की आवश्यकता वाली महिला को पुलिस सहायता जिला चिकित्सालय प्रतापगढ़ के प्रभारी नर पाल सिंह के द्वारा दी जाती है जिनके मोबाइल नंबर 94130 43 978 है। मानदंडों के मुताबिक यहां कंप्यूटर सहायक की कमी है। जिला कलेक्टर प्रतापगढ़ के तत्वावधान में महिलाओं की सहायता के लिए आरंभ किए गए इस सेंटर में आपातकाल की स्थिति में महिलाओं को सहायता तथा चिकित्सीय एवं रहने की सुविधा प्रदान की जाती है। आवश्यकता होने पर जिला चिकित्सालय के द्वारा ऐसी पीड़िता अथवा महिला को तुरंत निशुल्क सहायता प्रदान की जाती है और इस हेतु माननीय राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश भी हैं । मौके पर पितेज ंपक इवग रख वा ने के निर्देश भी सचिव के द्वारा दिए गए। व्दम ेजवच बमदजतम के किचन का निरीक्षण करने पर खाद्य सामग्री की कमी पाई गई इस संबंध में सहायक निदेशक श्री पंकज त्रिवेदी को निर्देश प्रदान किए गए। निरीक्षण के वक्त पुलिस सहायता के संबंध में अस्पताल चौकी से प्रभारी को बुलाया गया जो आधा घंटे विलंब से उपस्थित आए और यह स्थिति उभरकर आई कि इस पुलिस दल को अन्य कार्य आवंटित कर दिया गया था। मौके पर देरी से  उपस्थित आए कॉन्स्टेबल ने बताया कि वह किसी अन्य कार्य हेतु बाहर गए हुए थे। प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर ओपी दायमा के द्वारा यह पीड़ा बताई कि जिला स्तरीय अस्पताल में हर समय तवनदक.जीम.बसवबा पुलिस व्यवस्था की आवश्यकता रहती है क्योंकि किसी भी समय तनाव के कारण अप्रिय स्थिति हो जाती है जिससे चिकित्सा कर्मियों और नर्सिंग कर्मियों तथा मरीजों के परिजनों को सुरक्षा की आवश्यकता रहती है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के विधि सहायक श्री अली मुद्दीन कुरैशी को जिला कलेक्टर और जिला पुलिस अधीक्षक को पृथक से इस संबंध में पत्र लिखे जाने के निर्देश दिए गए। पर्याप्त प्रचार.प्रसार केअभाव में जिला अस्पताल परिसर में संचालित इस सेंटर में केवल मात्र 12 पीड़ि ता ही लाभान्वित हो स की। तकनीकी खामियों के कारण प्रभारी श्रीमती हेमलता गौर को मार्च 2019 से नियमानुसार देय राशि का भुगतान नहीं होना भी प्रकट हुआ। इस संबंध में महिला अधिकारिता विभाग को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। मौके पर प्रभारी श्रीमती हेमलता गौर और सहायिका श्रीमती रेखा सोनी के निरीक्षण के समय अनुपस्थित रहने की स्थिति भी प्रकट हुई और पिछले कार्य दिवसों में भी उनकी अनुपस्थिति दर्ज होना प्रकट हुआ। प्रमुख चिकित्सा अधिकारी श्री ओपी दायमा के मुताबिक डॉक्टर नीलम के द्वारा मनोसामाजिक परामर्श पीड़िता को आवश्यकता होने पर उपलब्ध कराया जा रहा है। गत वर्ष पैनल अधिवक्ता के रूप में श्री कुलदीप शर्मा कार्यरत रहे। आकस्मिक स्थितियों में न्यायालय द्वारा आदेश किए जाने पर और सायं  कालीन समय अधिक हो जाने पर किसी भी पीड़िता को संबंधित थाना अधिकारी के द्वारा महिला कॉन्स्टेबल के साथ वह सुरक्षा में वन स्टॉप सखी सेंटर में रखा जा सकता है और प्रातः काल उसे सक्षम सेंटर पर उदयपुर अथवा उचित स्थान पर पहुंचाया जा सकता है। महिला अधिकारिता विभाग को वन स्टॉप सेंटर के संबंध में मासिक प्रगति रिपोर्ट नियमित रूप से जिला कलक्टर प्रतापगढ़ को भेजें जाने के निर्देश भी दिए गए। साथ ही आगंतुक रजिस्टर एविधिक सहायता रजिस्टरए पुलिस कार्यवाही रजिस्टरए  चिकित्सा परामर्श रजिस्टर एरिपोर्ट फाइल रजिस्टर संधारित करने के निर्देश भी दिए गए। अपर जिला न्यायाधीश श्री वैष्णव के मुताबिक वन स्टॉप सखी सेंटर प्रतापगढ़ के लिए एक बेहतरीन व्यवस्था है जिसमें कोई भी पीड़ित महिला आवश्यकता होने पर आश्रय ले सकती है और कानूनी परामर्श लेकर पुलिस में अपनी शिकायत दर्ज करा सकती है तथा पैनल लॉयर के जरिए अपने मामले को न्यायालय के समक्ष भी रख सकती है।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : States
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like