BREAKING NEWS

जिले में विधिक सेवा सप्ताह के तहत जागरूकता अभियान जारी प्रगति उ०मा० विद्यालय में चेतना शिविर आयोजन

( Read 3151 Times)

07 Nov 19
Share |
Print This Page

जिले में विधिक सेवा सप्ताह के तहत जागरूकता अभियान जारी प्रगति उ०मा० विद्यालय में चेतना शिविर आयोजन

  जैसा की जिले में सर्वविदित है कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में विधिक सेवा सप्ताह मनाया जा रहा है। विधिक सेवा सप्ताह के आयोजनों की कडी में आज एक और कडी को जोडते हुए बालकों को आवश्यक विधिक जानकारियां प्रदान करने के उद्धेश्य से प्राधिकरण द्वारा आज स्थानीय प्रगति उच्च माध्यमिक विद्यालय प्रतापगढ में विधिक चेतना शिविर का आयोजन किया गया।

         जिले में विधिक सेवा सप्ताह के कार्यक्रमों को गति देते हुए प्राधिकरण सचिव लक्ष्मीकांत वैष्णव (अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश) विधिक सेवा सप्ताह के परम उद्धेश्यों की प्राप्ति के लिये निरन्तर कार्यशील होकर तत्पर  हैं, जिनके सानिध्य में आज स्थानीय प्रगति उच्च माध्यमिक विद्यालय प्रतापगढ में छात्र-छात्राओं को विधिक जानकारियां और उनके जीवन में काम आने वाली सामान्य जानकारियों के बारे में जागरूक करने हेतु विधिक चेतना शिविर का आयोजन किया।

         आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ बालकों एवं उपस्थित स्टॉफ को सम्बोधित कर उपस्थित गणमान्यों का परिचय देते हुए विद्यालय के शारीरिक शिक्षक आनन्दीलाल ठाकूर द्वारा किया गया। कार्यक्रम के प्रारम्भ में विद्यालय प्राचार्य कैलाश चन्द्र बोराणा ने उपस्थित छात्र-छात्राओं को आयोजित शिविर का उद्धेश्य समानता का अधिकार व सभी को न्याय मिले निरूपित किया।

         शिविर में उपस्थित अधिवक्ता अजीत कुमार मोदी ने बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम की जानकारी देते हुए बाल विवाह के दुष्परिणाम के बारे में बताया तथा अपील की कि ऐसी कोई भी गतिविधि आस-पास में देखी जाती है तो उसकी सूचना तुरन्त संबंधित थाने पर अथवा प्राधिकरण को दी जावे ताकि इस सामाजिक बुराई के उन्मूलन में आम जन का सहयोग भी प्रशासन व प्राधिकरण को मिल सके। साथ ही मताधिकार संबंधी जानकारी भी दी।

         कार्यक्रम में अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में प्राधिकरण सचिव लक्ष्मीकांत वैष्णव विधिक सेवा सप्ताह के उद्धेश्यों के बारे में बताये हुए कहा कि दिनांक ०९.११.२०१९ को विधिक सेवा दिवस के उपलक्ष्य में विधिक सेवा सप्ताह मनाया जा रहा है, जिसके तहत प्रत्येक विद्यालय, महाविद्यालय, गांव-ढाणी, सार्वजनिक स्थानों पर विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है, ताकि आम जन तक कानून की जानकारी पहचे और कोई भी व्यक्ति कानून की जानकारी के अभाव में लाभ से वंचित ना हो और ना ही कोई अपराध कारित करे। भारतीय दण्ड प्रकि्रया एवं दाण्डिक प्रकि्रया संहिता की कुछ सामान्य धाराओं के बारे में भी उपस्थित छात्र-छात्राओं को जानकारी प्रदान कर लाभान्वित किया। अपने जीवन के अनुभवों को साझा करते हुए उन्होनें बच्चों को प्रशासन के उच्च पदों पर आसीन होने हेतु प्रेरित किया और कहा कि अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिये निरन्तर, सतत और कठिन परिश्रम करना बहुत आवश्यक है। किसी भी आपराधिक गतिविधि में विद्यार्थियों को लिप्त नहीं होना चाहिये, क्योंकि यह प्रमाणित हो जाने पर उक्त विद्यार्थी का कॅरियर बर्बाद हो जाता है और वह कभी किसी भी उच्च पद पर आसीन होने के लक्ष्य को हासिल नहीं कर सकता। अपने जीवन में संघर्ष कर प्राप्त किये पद पर आसीन होने पर कभी भी भ्रष्टाचार को बढावा नहीं देना चाहिये बल्कि विरोध करना चाहिये, रिश्वत से सदैव बचना चाहिये। आदि के अलावा अन्य कईं महत्वपूर्ण बातें जो विद्यार्थी जीवन के लिये आवश्यक है, वह प्राधिकरण सचिव लक्ष्मीकांत वैष्णव ने विद्यार्थियों को बताईं। इसके लिये विद्यालय स्टॉफ ने हृदय से धन्यवाद दिया।

आयोजित कार्यक्रम को सफल बनाने में विद्यालय स्टॉफ ने सकि्रय भूमिका निभाई।

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Pratapgarh News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like