BREAKING NEWS

स्वरांजलि समारोह में 23 साहित्यकार व संगीत मर्मज्ञ  का हुआ सम्मान, तुम पुस्तक का हुआ विमोचन

( Read 1960 Times)

17 Jul 19
Share |
Print This Page

स्वरांजलि समारोह में 23 साहित्यकार व संगीत मर्मज्ञ  का हुआ सम्मान, तुम पुस्तक का हुआ विमोचन

उदयपुर।  महाराणा कुंभा संगीत परिषद में उदयपुर के ख्यातनाम स्वर्गीय राम नारायण आर्य की स्मृति में स्वरांजलि कार्यक्रम आयोजन किया गया। इस समारोह में संगीत मर्मज्ञ एवं साहित्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 23 साहित्यकारों व संगीतज्ञ को उनकी उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया गया।

महाराणा कुंभा संगीत परिषद एवं गजल अकादमी उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित स्वरांजलि समारोह में अहमदाबाद की पूर्व निदेशक संगीतकार कवियत्री श्रीमती साधना भट्ट की काव्य कृति तुम हो का लोकार्पण किया जाकर उस का विमोचन किया गया ।

समारोह के संयोजक आकाशवाणी के पूर्व उप महानिदेशक माणिक आर्य ने बताया कि समारोह में सभी अतिथियों पुस्तक का विमोचन किया एवं इस पुस्तक का साहित्यकार डॉ ज्योति पुंज ने समीक्षा की।

 इस समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार उपेंद्र अणु ने की। समारोह के मुख्य अतिथि अधिवक्ता कंचन सिंह हिरण एवं एसबीआई के डिप्टी जनरल मैनेजर सी एस विजय कुमार थे। विशिष्ट अतिथि के तौर पर देवस्थान आयुक्त दिनेश कोठारी उपस्थित रहे । अध्यक्षता शिक्षाविद एवं उद्योगपति जितेंद्र तायलिया ने की।

आयोजक डॉ प्रेम भंडारी ने इस आयोजन की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला । समारोह में आकाशवाणी केंद्र अहमदाबाद की पूर्व निदेशक साधना भट्ट ने अपनी ओर से तमाम अतिथियों को ऊपरना उड़ा कर अपनी पुस्तक भेंट कर उनका अभिवादन किया।

इन का हुआ सम्मान

 समारोह में संगीत के क्षेत्र में उत्कृष्ट सेवाओं के लिए डॉ मुरली मोहन सांखला, डॉ ए एल दमामी, श्महेंद्र टोके, श्रीमती प्रीतम वर्मा, घनश्याम जोशी,  डॉ श्रीमती पामिल मोदी जमना प्रसाद पंवार अरुण सनाढ्य, मंगेश्वर वैष्णव, मदन आर्य, फैय्याज खान और साहित्य के क्षेत्र में  खुर्शीद नवाब, टीकम अंजाना , मनोज शर्मा, डॉ सर्वतुनिसा खान, इकबाल सागर, डॉ कविता "किरण"फालना, लालदास जी पर्जन्य प्रमोद सनाढ्य, सतीश आचार्य , श्रीमती स्वाति चौहान, इकबाल हुसैन इकबाल एवं पत्रकार साहित्यकार हरीश पालीवाल को सभी अतिथियों ने अपर्णा उड़ाकर प्रशस्ति पत्र व उपहार देकर उनकी उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया। अंत में धन्यवाद गजल अकादमी के सचिव डॉ देवेंद्र हिरण ने किया। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like