logo

निगरानी दलों का पुनश्चर्या प्रशिक्षण आयोजित

( Read 416 Times)

10 Nov 18
Share |
Print This Page

निगरानी दलों का पुनश्चर्या प्रशिक्षण आयोजित  चित्तौडगढ । विधानसभा आम चुनाव २०१८ के लिए गठित विभिन्न निगरानी दलों का एक दिवसीय पुनश्चर्या प्रशिक्षण शुक्रवार को ग्रामीण विकास अभिकरण सभागार में सम्पन्न हुआ।
प्रशिक्षण में उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिला कलक्टर इन्द्रजीत सिंह ने कहा कि अपने चुनाव संबंधी दायित्वों को दिल व दिमाग को संतुलित उपयोग के साथ पूर्ण मनोयोग से करना है। उन्होंने प्रशिक्षण में उपस्थित एफएसटी, एसएसटी, वीएसटी, वीवीटी एवं एटी दलों के प्रभारियों से सिलसिलेवार परिचय प्राप्त कर उनके द्वारा अब तक की गई कार्यवाहियों के बारे में जाना। छोटीसादडी, गंगरार, कपासन, जलिया चेक पोस्ट के एफएसटी व एसएसटी के प्रभारियों ने अपने द्वारा की गई कार्यवाहियों का विस्तृत विवरण दिया।
प्रशिक्षण सत्र को संबोधित करते हुए जिला पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार चौधरी ने कहा कि आपका कार्य विशिष्ट प्रवृति का है, अतः प्रशिक्षण के दौरान पूरी दक्षता हासिल करें। उन्होंने बताया कि निगरानी दलों के साथ संबंधित थानों के अधिकारी एवं कर्मचारी नियुक्त किये गए हैं। उनका अकेला एवं प्राथमिक कार्य चुनाव ड्यूटी ही है, थाने से जुडा कार्य अतिरिक्त एवं गौण है। इस बारे में थानों को निर्देश दिए जा रहे हैं। उन्होंने निगरानी दलों के प्रभारियों को थानों से समन्वय बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए।
प्रशिक्षण के दौरान उप जिला निर्वाचन अधिकारी दीपेन्द्र सिंह राठौर ने बताया कि जिले के पांचों विधानसभा क्षेत्रों में एसएसटी व एफएसटी के १७-१७ दल, वीएसटी के १५ तथा वीवीटी व एटी के पांच-पांच दल तैनात किये गए हैं। उन्होंने कहा कि व्यय पर्यवेक्षक १२ नवम्बर से क्षेत्रों के दौरों पर रहेंगे। हमें अपने कार्यालय रजिस्टर, दस्तावेज समयबद्ध रुप से तैयार कर लेने है।
प्रशिक्षण में चुनाव व्यय अनुवीक्षण के बारे में डॉ. राजेन्द्र सिंघवी ने, आदर्श आचार संहित के बारे में डॉ. कमल नाहर ने, विज्ञापन अधिप्रमाणन एवं पेड न्यूज के बारे में डॉ. कनक जैन एवं ओम प्रकाश पालीवाल ने पावर पोइन्ट प्रजेन्टेशन के माध्यम से प्रशिक्षण दिया। इस दौरान प्रशिक्षण प्रभारी एवं अतिरिक्त जिला कलक्टर भू.अ. चन्द्रभान सिंह भाटी, एवं यूआईटी सचिव सीडी चारण ने प्रश्नोत्तर एवं उदाहरणों के जरिए विभिन्न स्थितियों एवं जिज्ञासाओं का समाधान किया।
प्रशिक्षण का समन्वय दिनेश शर्मा ने किया। इसमें उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार, बीडीओ, लेखाधिकारी, इंजीनियर, कस्टम व आबकारी विभाग के अधिकारी मौजूद थे।
चार प्रमुख बाते
निगरानी दलों के अधिकारियों को चुनाव कार्य में चार प्रमुख बातें ध्यान रखने के निर्देश जिला निर्वाचन अधिकारी ने दिए।
एक-निगरानी दल पर्याप्त सक्रिय नहीं है उन्हें तेजी से क्षेत्र में सक्रिय होना है।
दो-निगरानी दल अपनी शक्ति का इस्तेमाल करें, पर विवेक, निष्पक्षता और एकरूपता का ध्यान रखें।
तीन-पकडी गई राशि, शराब व अन्य वस्तुओं के बारे में उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट पेश करें तथा मीडिया को जानकारी दें।
चार-विधिवत कागजी कार्यवाही करके दस्तावेज संधारण करें।
बैंकों की शिकायत
प्रशिक्षण के दौरान अग्रणी बैंक अधिकारी सुरेश मेहदीरत्ता ने जिला निर्वाचन अधिकारी को बताया कि यूको बैंक, विजया बैंक, आईसीआईसीआई, एचडीएफसी, इक्वीटाज बैंक, केनरा बैंक द्वारा संदिग्ध लेने देन की जानकारी अब तक नहीं दी गई है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने इस बारे में उचित कार्यवाही के निर्देश दिए।

Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Chittor News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like