70वाँ जिला स्तरीय वन महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन

( Read 1458 Times)

22 Jul 19
Share |
Print This Page

70वाँ जिला स्तरीय वन महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन

अरावली की वादियों में जिला प्रशासन एवं वन विभाग, उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में 70वाँ जिला स्तरीय वन महोत्सव कार्यक्रम आज दिनांक 21 जुलाई, 2019 को राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय, बलीचा(गिर्वा) में मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मास्टर भँवरलाल मेघवाल, माननीय मंत्री महोदय, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, आपदा प्रबन्धन एवं सहायता विभाग, राजस्थान सरकार (प्रभारी मंत्री महो0, जिला-उदयपुर) रहे। 
वन महोत्सव कार्यक्रम में श्री फूल सिंह मीणा, मा0 विधायक, उदयपुर (ग्रामीण), श्री विवेक कटारा, श्रीमती आनन्दी, जिला कलक्टर उदयपुर, श्री आर.के.खैरवा, संभागीय मुख्य वन संरक्षक, उदयपुर, श्री संजय कुमार, अति0 जिला कलक्टर (शहर), श्री नरेश कुमार बुनकर, अति0 जिला कलक्टर(प्रशासन), श्री बृजेश चन्दोलिया, निजी सचिव माननीय मंत्री महो0, श्री आर.के.जैन, कार्य आयोजना अधिकारी, श्री ओ.पी.शर्मा, उप वन संरक्षक, उदयपुर(उत्तर), श्रीमती हरिणि वी., उप वन संरक्षक, वन्यजीव, उदयपुर, श्री अजय चित्तौड़ा, उप वन संरक्षक, उदयपुर,   श्री शिवजी गौड़, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, उदयपुर के अतिरिक्त जिला प्रशासन एवं वन विभाग के अधिकारी, जनप्रतिनिधि, स्कूली विद्यार्थी, स्काउट व गाईड, वन विभाग के कर्मचारी, स्थानीय ग्रामीण, मिडिया प्रतिनिधि, रोटरी क्लब के प्रतिनिधि इत्यादि उपस्थित रहे।
सर्वप्रथम माननीय मंत्री महोदय द्वारा पीपल का वृक्ष रोपित किया। साथ ही अन्य उपस्थित जनप्रतिनिधिगणों, जिला कलक्टर महोदया, अधिकारियों द्वारा भी पौधारोपण किया गया। 
माननीय मंत्री महोदय द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। कार्यक्रम के प्रारम्भ में श्री अजय चित्तौड़ा, उप वन संरक्षक, उदयपुर द्वारा समस्त पधारे हुए जनप्रतिनिधिगणों, अधिकारियों, ग्रामीणों का स्वागत करते हुए पूर्व समय में मौजूद वृक्षों एवं उनके विदोहन से वर्तमान में हो रहे नुकसान के बारे में अपने विचार व्यक्त किए। साथ ही वन संरक्षण हेतु जागरूक होने की आवश्यकता बताई। वर्तमान में घटते वनों के संरक्षण हेतु समस्त जन समुदाय के सहयोग हेतु आव्हान किया तथा जल संरक्षण पर भी जोर दिया।
श्री आर.के.खैरवा, संभागीय मुख्य वन संरक्षक, उदयपुर द्वारा वन महोत्सव के जरिए वन एवं वन्यजीव की महत्ता पर प्रकाश डाला। साथ ही मानव द्वारा विकास की दौड़ के कारण प्रकृति से छेड़छाड़ करने से मौसम तन्त्र में हुए बदलाव की बात करते हुए इससे हो रहे नुकसान के बारे में बताया। साथ ही यह भी लोगों को इस नुकसान की भरपाई हेतु अधिक से अधिक पौधे लगाकर उनका रखरखाव कर प्रकृति का कर्ज चुकाने की बात कही।
श्री विवेक कटारा, द्वारा हर व्यक्ति को एक पेड़ लगाने एवं उस पेड़ को बचाने की बात कही। इसके लिए व्यक्ति स्वयं जागरूक होकर पर्यावरण का संरक्षण करें। ग्लोबल वार्मिंग के कारण प्रकृति के बिगड़ते संतुलन से भविष्य में होने वाले नुकसान की बात बताई। उन्होने बताया कि यह जन-जन का महोत्सव है। इसके माध्यम से हमें जल संरक्षण, वन एवं वन्य जीवों का संरक्षण का संकल्प लेना होगा।
श्री फूलसिंह मीणा, माननीय विधायक, उदयपुर (ग्रामीण) द्वारा प्रत्येक मनुष्य को वृक्ष लगाकर उसे जिवित रखने का पूरा प्रयास करने का आव्हान किया। उन्होनें कहा कि वनों की रक्षा करना हम सभी का परम कर्तव्य है। बालिका शिक्षा मे हो रही बढ़ोतरी पर भी खुशी जाहिर की।
मुख्य अतिथि मास्टर भंवरलाल मेघवाल, माननीय मंत्री महोदय द्वारा वन महोत्सव के माध्यम से आम जन में वन संरक्षण हेतु पेड़ बचाने की प्रेरणा का महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। उन्होंने लगभग 40 वर्ष पूर्व के वन, झालें, नदियां, पहाड़ आदि प्राकृतिक स्वरूप का वर्णन करते हुए वर्तमान परिपेक्ष्य में मानव द्वारा विकास के लिए वनों की कटाई व आबादी विस्तार से पर्यावरण को हो रहे अपूरित नुकसान के बारे में जानकारी दी। जिसके कारण प्रकृति का वास्तविक स्वरूप बिगडता जा रहा है। यदि सभी व्यक्ति एक पेड़ लगाने एवं उसके संरक्षण का संकल्प ले तो उदयपुर जिले का कायाकल्प हो जाए एवं प्रकृति को हो रहे नुकसान की पूर्ति की जा सके। मंत्री महोदय द्वारा जिला प्रशासन से भी अपील की कि वे प्रत्येक उपखण्ड/पंचायत स्तर पर, स्वयं सेवी संस्थाओं के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण हेतु कार्यक्रम आयोजित कर आमजन में अधिक से अधिक वन एवं वन्य जीवों के संरक्षण की जागरूकता के प्रयास करें। पर्यावरण संरक्षण प्रत्येक व्यक्ति का दायित्व हो तभी हम सब सामुहिक रूप से प्रकृति को भविष्य हेतु सुरक्षित रख सकेगे।
श्री प्रतिक हिंगड़, रोटरी क्लब द्वारा वन महोत्सव के तहत रोपित पौधों को गोद लिया गया। उनका माननीय मंत्री महोदय द्वारा सम्मान किया गया।
कार्यक्रम के अन्त में श्री ओ.पी.शर्मा, उप वन संरक्षक, उदयपुर (उत्तर) द्वारा वन महोत्सव कार्यक्रम में पधारे हुए समस्त जनप्रतिनिधिगणों, अधिकारिगणों, स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों, मिडिया, स्कूल प्रशासन एवं अन्य सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।
वन महोत्सव के तहत निःशुल्क पौध वितरण कार्यक्रम भी रखा गया।
कार्यक्रम का संचालन श्री राजेन्द्र सेन, उद्घोषक, आकाशवाणी, उदयपुर द्वारा किया गया।
 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like