आयोजक समय एवं अनुशासन का विशेष ध्यान रखे -एडीएम सिटी

( Read 1395 Times)

11 Sep 19
Share |
Print This Page
आयोजक समय एवं अनुशासन का विशेष ध्यान रखे -एडीएम सिटी

उदयपुर,अनन्त चतुर्दशी के पर्व पर गुरुवार को शहर की झीलों एवं जलाशयों के समीप होने वाले गणपति विजर्सन के दौरान कानून एवं विभिन्न व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने को लेकर बुधवार को अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार की अध्यक्षता में जिला परिषद सभागार में बैठक आयोजित हुई। एडीएम सिटी ने बैठक में मौजूद गणपति महोत्सव आयोजन के विभिन्न प्रतिनिधियों से कहा कि गणपति विजर्सन के दौरान समय एवं अनुशासन का विशेष ध्यान रखे व प्रशासन का सहयोग करें।
 बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोपाल स्वरूप मेवाड़ा, नगर निगम उपायुक्त अनिल शर्मा, एवीवीएनएल के एसई गिरीश जोशी, डीटीओ डॉ. कल्पना शर्मा, जल संसाधन के अधिशाषी अभियंता विनीत शर्मा, नगर निगम के अधिशासाी अभियंता मनीष अरोड़ा, स्वास्थ्य अधिकारी नरेन्द्र श्रीमाली सहित शहर के विभिन्न वृत के थानाधिकारी एवं शहर के विभिन्न स्थानों पर आयोजित गणपति महोत्सव आयोजक मण्डलों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।
एडीएम सिटी ने विजर्सन के दौरान जलाशयों के समीप गोताखोर, नावें, एम्बुलेंस, विद्युत व्यवस्था आदि के पूर्व में ही इंतजाम के लिए संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया। बैठक में एडिशनल एसपी ने आयोजक मण्डलों को जारी किये गये लाइसेंस में निर्धारित रूट चार्ट के आधार पर ही विसर्जन करने की बात कही एवं पुलिस प्रशासन को पूर्ण सहयोग प्रदान करने की अपेक्षा की। उन्होंने विसर्जन के दौरान बिना किसी हुडदंग के शोभायात्रा निकालने, असामाजिक तत्वों को विसर्जन में शामिल नहीं करने, यातायात व्यवस्था बनाए रखने, आयोजन से जुड़े गाने ही बजाने इत्यादि को लेकर पुलिस एवं प्रशासन से समन्वय स्थापित कर कार्यक्रम को सफल बनाने की बात कही।
हो सांकेतिक विसर्जन, बनी रहे स्वच्छता
अतिरिक्त जिला कलक्टर से आयोजन से जुड़े सभी प्रतिनिधियों एवं नवयुवकों से आह्वान किया कि विसर्जन सांकेतिक हो और झीलों व जलाशयों की स्वच्छता बनी रहे। उन्होंने कहा कि यहां की झीले विश्वविख्यात होने के साथ ही इस शहर की शान व जान है और इनकी स्वच्छता बनाए रखना हम सभी का दायित्व है।
11 स्थानों पर कर सकेंगे विसर्जन
नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी नरेन्द्र श्रीमाली ने बताया कि प्रशासन एवं निगम की पहल पर सांकेतिक विसर्जन को लेकर 11 स्थानों पर मूर्ति विसर्जन केन्द्र बनाए है। इनमें गोवर्धन सागर, दूधतलाई के समीप, फतहसागर पीपी सिंघल से बडी रोड कॉर्नर तक, स्वरूप सागर, गंगु कुण्ड, गणगौर घाट, रानी रोड पीपी सिंघल से महाकाल से बडी रोड कॉर्नर तक, नैला तालाब, अम्बापोल, फायर स्टेशन व उदयसागर के समीप निर्धारित स्थलों पर मूर्ति विसर्जन किया जा सकेंगा। श्रीमाली ने बताया कि विसर्जन पश्चान इन सभी मूर्तियों को निगम के वाहनों द्वारा निर्धारित स्थल पर पहुंचाया जाएगा।
जताया आभार:
बैठक में एडीएम सिटी व एडीशनल एसपी ने हाल ही सम्पन्न देवझूलनी एकादशी, मोहर्रम व छड़ी मिलन के दौरान विभिन्न समुदायों द्वारा साम्प्रदायिक सौहार्द्र का परिचय देने एवं कानून व शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए आभार जताया और भविष्य में भी अपेक्षित सहयोग प्रदान करने की बात कही।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : National News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like