एसपीएसयू में इंटरनेशनल रिसर्च कन्वेंशन 2024

( 6008 बार पढ़ी गयी)
Published on : 19 Mar, 24 14:03

एसपीएसयू में इंटरनेशनल रिसर्च कन्वेंशन 2024

सर पदमपत सिंघानिया विश्वविद्यालय, उदयपुर के डायरेक्टरेट ऑफ़ रिसर्च एंड पब्लिकेशन्स ने 19 मार्च, 2024 को इंटरनेशनल रिसर्च कन्वेंशन का आयोजन किया। इस सम्मेलन ने इंजीनियरिंग, प्रबंधन के क्षेत्र में अभूतपूर्व अंतर्दृष्टि और विद्वानों के प्रयासों के आदान-प्रदान के लिए एक वैश्विक गठबंधन के रूप में कार्य किया।मुख्य अतिथि कर्नल (डॉ.) संजय सिन्हा, शिक्षा प्रमुख, एजुकेशन वर्टिकल, जेके सीमेंट ने अपने उद्घाटन भाषण में सार्थक अनुसंधान को आगे बढ़ाने और समानता, समावेशिता और सामाजिक न्याय के पवित्र मूल्यों को बनाए रखने पर ध्यान केंद्रित किया।

प्रोफेसर रहमतुल्ला खोंडोकर, टीएचएम यूनिवर्सिटी ऑफ एप्लाइड साइंसेज, जर्मनी, डॉ. मुहम्मद इमरान, ग्लासगो विश्वविद्यालय, यूनाइटेड किंगडम, डॉ. संजीत कुमार महतो, पीआई इंडस्ट्रीज लिमिटेड, उदयपुर, प्रोफेसर भुवन उन्हेलकर, यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ फ्लोरिडा यूएसए, प्रोफेसर मार्क गोह, नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर जैसे दिग्गजों सहित सोलह सम्मानित प्रोफेसरों के समूह ने अपनी विद्वता और विशेषज्ञता से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया और अपनी गहन शोध अंतर्दृष्टि से चर्चा को समृद्ध किया। आईआरसी 2024 को नवीन विचारों और परिवर्तनकारी अनुसंधान पर 90 से अधिक एब्स्ट्रैक्ट प्राप्त हुए | सम्मेलन में एब्स्ट्रैक्ट बुक का विमोचन भी किया गया।

सत्र ब्लॉकचेन, आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस, डीप लर्निंग, ऑटोमेशन, ऊर्जा खपत, साइबर सुरक्षा जैसी अत्याधुनिक तकनीकों पर केंद्रित थे। प्रोफेसर प्रसून चक्रवर्ती, डीन रिसर्च एंड इंटरनेशनल अफेयर्स ने बताया कि कुछ विदेशी मुख्य वक्ता एसपीएसयू में मानद सहायक प्रतिष्ठित प्रोफेसर भी हैं। नवीन अवधारणाओं से लेकर व्यावहारिक अनुप्रयोगों तक, आईआरसी 2024 में पोस्टर प्रस्तुति के माध्यम से छात्रों के विचारों की मौलिकता ने सहयोग और नवाचार के माहौल को और समृद्ध किया। इंटरनेशनल रिसर्च कन्वेंशन 2024 में बुद्धि, नवाचार और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग का संगम देखा गया, जो ज्ञान की सीमाओं को पार कर आने वाली पीढ़ियों के लिए एक उज्जवल भविष्य का मार्ग प्रशस्त करता है।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.