एसीएस पीएचईडी की अध्यक्षता में हुई एसएलएसएससी 37 वीं बैठक

( 3379 बार पढ़ी गयी)
Published on : 31 May, 23 05:05

23 हजार करोड़ रूपए की 5 वृहद पेयजल परियोजनाओं को मिली मंजूरी

एसीएस पीएचईडी की अध्यक्षता में हुई एसएलएसएससी 37 वीं बैठक

जयपुर। अतिरिक्त मुख्य सचिव, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी एवं भूजल डॉ. सुबोध अग्रवाल की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई राज्य स्तरीय परियोजना स्वीकृति समिति (एसएलएसएससी) की 37वीं बैठक में जल जीवन मिशन के तहत 22 हजार 854 करोड़ रूपए की पांच वृहद् पेयजल परियोजनाओं को स्वीकृति दी गई। इन पांच परियोजनाओं से प्रदेश के 11 जिलों के 5739 गांवों के 15 लाख से अधिक घरों में हर घर जल कनेक्शन दिए जाएंगे।
7934 करोड़ रूपए की सीकर-झुंझुनूं परियोजना
37वीं एसएलएसएससी में स्वीकृत वृहद परियोजनाओं में इंदिरा गांधी नहर परियोजना आधारित 7 हजार 934 करोड़ रूपए की सीकर-झुंझुनूं परियोजना के माध्यम से सीकर जिले के 864 तथा झुंझुनूं जिले के 269 गांवों यानी कुल 1133 गांवों के 3 लाख 44 हजार 120 घरों में हर घर जल कनेक्शन दिए जाएंगे।
5783 करोड़ रूपए की चम्बल-अलवर-भरतपुर परियोजना
सतही जल आधारित 5 हजार 783 करोड़ रूपए की चम्बल-अलवर-भरतपुर परियोजना भी एसएलएससी में स्वीकृत की गई। इसमें अलवर जिले के 882 गांव तथा भरतपुर जिले के 335 गांव यानी कुल 1237 गांवों में 3 लाख 96 हजार 223 घरों में जल कनेक्शन होंगे।
3693 करोड़ की जाखम बांध आधारित परियोजना
एसएलएसएससी में जाखम बांध आधारित 3 हजार 693 करोड़ रूपए की वृहद परियोजना को भी स्वीकृति मिली। इस परियोजना के माध्यम से चित्तौड़गढ़ जिले के 708, उदयपुर के 375, राजसमंद के 297 एवं प्रतापगढ़ जिले के 93 गांवों यानी कुल 1473 गांवों में 2 लाख 11 हजार 926 घरों में जल कनेक्शन दिए जाएंगे।
4623  करोड़ रूपए की चम्बल-करौली-सवाई माधोपुर परियोजना
बैठक में 4 हजार 623 करोड़ रूपए की चम्बल-करौली-सवाई माधोपुर वृहद परियोजना भी स्वीकृत की गई। इस परियोजना के माध्यम से करौली जिले के 851 तथा सवाई माधोपुर जिले के 581 गांवों यानी कुल 1426 गांवों में 4 लाख 37 हजार 279 जल कनेक्शन दिए जाएंगे।
821 करोड़ रूपए की कालीतीर-धौलपुर परियोजना
इसी प्रकार 821 करोड़ रूपए की कालीतीर-धौलपुर वृहद परियोजना से धौलपुर जिले के 376 तथा भरतपुर जिले के 94 गांवों में कुल 1 लाख 21 हजार 598 जल कनेक्शन दिए जाएंगे।
246 करोड़ रूपए की जोधपुर के 79 गांवों की परियोजना
बैठक में जोधपुर जिले के देचू एवं लोहावट ब्लॉक के 79 गांवों एवं उनकी 325 बस्तियों में इंदिरा गांधी नहर से पेयजल आपूर्ति के लिए 246 करोड़ 20 लाख रूपए लागत की परियोजना को भी मंजूरी दी गई।
130 करोड़ की 59 नई ओटीएमपी स्वीकृत
इसके अलावा 130 करोड़ 38 लाख रूपए की 33 गांवों की 59 नई लघु पेयजल परियोजनाओं (ओटीएमपी) को स्वीकृति मिली। इन परियोजनाओं से 13,132 जल कनेक्शन होंगे। एसएलएसएससी की 37वीं बैठक में केन्द्र सरकार की ओर से राष्ट्रीय जल जीवन मिशन (एनजेजेएम) के मिशन निदेशक श्री प्रदीप सिंह शामिल हुए। बैठक में जल जीवन मिशन के मिशन निदेशक श्री अविचल चतुर्वेदी ने विभिन्न एजेण्डा के बारे में संक्षिप्त जानकारी दी। बैठक में मुख्य अभियंता जल जीवन मिशन श्री आरके मीणा, मुख्य अभियंता (विशेष परियोजना) श्री दिनेश कुमार गोयल, मुख्य अभियंता (तकनीकी) दलीप कुमार गौड़, मुख्य अभियंता (जोधपुर) श्री नीरज माथुर, वित्तीय सलाहकार एवं मुख्य लेखाधिकारी श्री केसी कुमावत, जल जीवन मिशन के मुख्य लेखाधिकारी श्री सुशील शर्मा सहित विभिन्न पीएचईडी रीजन के अतिरिक्त मुख्य अभियंता एवं अधीक्षण अभियंता उपस्थित रहे।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.