नियुक्ति रोककर रखने से वरिष्ठता प्रभावित होना चिंता का विषय: कॉलेजियम

( 2554 बार पढ़ी गयी)
Published on : 23 Mar, 23 09:03

नियुक्ति रोककर रखने से वरिष्ठता प्रभावित होना चिंता का विषय: कॉलेजियम

उच्चतम न्यायालय के कॉलेजियम ने न्यायाधीशों के रूप में नियुक्ति के लिए भेजे गये नामों को केंद्र द्वारा रोककर रखने पर चिंता जताते हुए कहा कि इससे उम्मीदवारों की वरिष्ठता पर असर पड़ता है। कॉलेजियम ने सरकार से कहा कि जिन नामों की पहले सिफारिश की जा चुकी है, उन्हें पदोन्नत करने के लिए आवश्यक कार्वाईं की जाए।प्रधान न्यायाधीश डी वाईं चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाले कॉलेजियम ने कहा कि जिन नाम की पहले सिफारिश की गयी है, उनकी पदोन्नति के लिए अधिसूचना जल्द से जल्द जारी की जानी चाहिए।कॉलेजियम ने 21 मार्च के एक प्रस्ताव में यह चिंता जताईं, जिसमें उसने मद्रास उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों के रूप में नियुक्ति के लिए जिला अदालतों के चार न्यायाधीशों के नाम की सिफारिश की है। कॉलेजियम में न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति के. एम. जोसफ भी शामिल हैं।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.