डिजिटल डिस्ट्रिक्ट रिपोजिटरी के अंतर्गत कहानी एकत्रीकरण पर हुई कार्यशाला

( 2028 बार पढ़ी गयी)
Published on : 30 Nov, 22 13:11

डिजिटल डिस्ट्रिक्ट रिपोजिटरी के अंतर्गत कहानी एकत्रीकरण पर हुई कार्यशाला

सांस्कृतिक स्रोत एवं प्रशिक्षण केंद्र नई दिल्ली द्वारा आज़ादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत डीडीआर परियोजना पर स्वतंत्रता सैनानियों की जानकारी को संग्रहण करने व अभिलेखन के लिए हरिशचन्द्र माथुर लोक प्रशिक्षण संस्थान में कार्यशाला का आयोजन किया गया ।
मुख्य अतिथि ओटीसी की संयुक्त निदेशक सुश्री ज्योति ककवानी, विशिष्ट अतिथि डॉ. जीवन सिंह खरकवाल ने दीप प्रज्वलित कर कार्यशाला का शुभारंभ किया। सीसीआरटी क्षेत्रीय केंद्र उदयपुर के परामर्शक ओमप्रकाश शर्मा ने सभी संभागियों व अतिथियों का स्वागत किया। सीसीआरटी नई दिल्ली के उपनिदेशक डॉ. राहुल कुमार ने कार्यशाला के लक्ष्य एवं उदेश्य के बारे में विस्तृत जानकारी दी। श्रीमती नम्रता कोहली ने डीडीआर प्रोजेक्ट के बारे में बताया। डीआरपी ओम जोशी ने कहानियों का संग्रहण किए जाने के तरीके बताए व शिवाजी मस्के ने अपने अनुभव सांझा किये।
सिद्धि समारोह में सीसीआरटी निदेशक ऋषि वशिष्ठ ने बताया कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य सभी प्रतिभागियों को इस महत्वाकांक्षी, राष्ट्रीय डीडीआर प्रोजेक्ट पर कार्य करते हुए स्वतन्त्रता सैनानियों की कहानियांे का अभिलेखन कर सभी के जानकारी में लाया जाना है। कार्यशाला में राजस्थान के विभिन्न जिलों व उदयपुर शहर के ख्यातनाम, शिक्षक, समाजसेवी, मीडियाकर्मी, लेखक, विशेषज्ञ आदि उपस्थित रहे ।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.