विस्तार का एयर इंडिया में होगा विलय

( 1942 बार पढ़ी गयी)
Published on : 30 Nov, 22 10:11

विस्तार का एयर इंडिया में होगा विलय

नईं दिल्ली  । विमानन क्षेत्र में बड़े स्तर पर एकीकरण की तैयारी है। इसके तहत विस्तार का एयर इंडिया के साथ विलय होगा। इस सौदे के बाद सिंगापुर एयरलाइंस की एयर इंडिया में 25.1 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी। टाटा समूह ने मंगलवार को इसकी घोषणा करते हुए कहा कि प्रस्तावित सौदा मार्च, 2024 तक पूरा होने की उम्मीद है जो नियामकीय मंजूरी पर निर्भर है। विस्तार में टाटा समूह की 51 प्रतिशत हिस्सेदारी है। बाकी 49 प्रतिशत हिस्सेदारी सिंगापुर एयरलाइंस (एसआईंए) के पास है। एसआईंए ने एक बयान में कहा कि विस्तार और एयर इंडिया का विलय होगा। इस विलय सौदे के तहत एसआईंए एयर इंडिया में 2,058.5 करोड़ रूप ये का निवेश भी करेगी। सिंगापुर एयरलाइंस ने कहा कि वह इस निवेश का वित्तपोषण आंतरिक नकदी संसाधनों से करेगी। टाटा समूह ने अलग से बयान जारी कर कहा कि इस विलय के साथ एयर इंडिया देश की सबसे प्रमुख घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवा देने वाली एयरलाइन होगी। उसके बेड़े में 218 विमान होंगे और वह देश की सबसे बड़ी अंतरराष्ट्रीय विमानन कंपनी तथा दूसरी सबसे बड़ी घरेलू एयरलाइन होगी।
 


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.