हिन्दुस्तान जिंक द्वारा शिक्षा संबल समर कैम्प का समापन

( 2051 बार पढ़ी गयी)
Published on : 24 Jun, 22 15:06

एक माह में १५०० से अधिक विद्यार्थी षैक्षणिक, कौषल विकास, खेलकूद और सांस्कृतिक गतिविधियों से हुए लाभान्वित

हिन्दुस्तान जिंक द्वारा शिक्षा संबल समर कैम्प का समापन

हिन्दुस्तान जिंक द्वारा ग्रामीण प्रतिभाओं के लिये आयोजित शिक्षा संबल कार्यक्रम के तहत् एक माह के समर कैम्प में १५०० से अधिक विद्यार्थी षैक्षणिक, कौषल विकास, खेलकूद और सांस्कृतिक गतिविधियों से जुड कर लाभान्वित हुए। हिन्दुस्तान जिंक द्वारा विद्याभवन सोसायटी के सहयोग से आयोजित इन षिविरों ३०० विद्यार्थियों ने उदयपुर के विद्या भवन में आवासीय कैम्प तथा १२०० विद्यार्थीयों ने आगुचा, चित्तौडगढ, दरीबा, देबारी व जावर के गैर आवासीय कैम्प में भाग लिया। कैम्प में ६० प्रोजेक्ट अध्यापकों के साथ-साथ आइसर मोहाली, आइसर पुणे, तथा दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न कालेजों से आये ८० वालंटियर इन विद्यार्थियों के साथ जुडकर विभिन्न गतिविधियों में भाग लिया। विद्या भवन के साधन सेवी और हिन्दुस्तान जिंक के कर्मचारी तथा सम्बंधित विशेषज्ञों ने भी कैम्प की विभिन्न गतिविधियों में सहयोग दिया।

कैम्प में विद्यार्थियों को विज्ञान, गणित एवं अंग्रेजी पढने-लिखने के साथ-साथ विभिन्न गतिविधियों में भाग लेने अवसर मिला। समापन समारोह में विद्यार्थियों ने पूरे माह में सीखी विभिन्न चीजों की प्रदर्शिनी एवं प्रस्तुति की और अपने अनुभव अतिथियों से साझा किये। चित्तौडगढ में समापन समारोह राजकीय सैकण्डरी विद्यालय डगला का खेडा में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि चित्तौरगढ प्रधान देवेंद्र कँवर भाटी, सरपंच धनेत पंचायत रणजीत सिंह भाटी, चंदेरिया लेड जिंत्रक स्मेल्टर के अनुप केआर, जगदीश प्रजापति, चंडीदास और निधि शर्मा डगला का खेडा विज्ञान अध्यापिका की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। प्रधान भाटी ने इस प्रकार के आयोजित कार्यक्रमों की सराहना करते हुए कहा कि मुख्य विशयों के लिये चलाये जा रहे ये षिविर विद्यार्थियों के लिये हितकारी है। सरपंच रणजीत सिंह भाटी ने शिक्षा के क्षेत्र मे चल रहे शिक्षा सम्बल कार्यक्रम व ग्रीष्म कालीन शिविर के तहत किये कार्य की सराहना की गयी और बच्चो को सिविल सर्विस मे जाने के लिए प्रोत्साहित किया।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.