कालन्द्री मे कॉलेज भवन बनाने के लिए ट्रस्ट व सरकार  के बीच जयपुर मे एमओयु साईन हुआ

( 3248 बार पढ़ी गयी)
Published on : 11 Jun, 22 11:06

कालन्द्री मे कॉलेज भवन बनाने के लिए ट्रस्ट व सरकार  के बीच जयपुर मे एमओयु साईन हुआ

सिरोही। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से कालन्द्री में कॉलेज खोलने की घोषणा पर भामाशाह भरत मामा संघवी ने विधायक संयम लोढा के आग्रह पर अपने परिवार की ओर से अपनी जन्म भूमि कालन्द्री मे डिग्री कॉलेज भवन बनाने की इच्छा व्यक्त की जिस पर शुक्रवार १० जून २०२२ को राजस्थान सरकार व भामाशाह परिवार के ट्रस्ट संघवी हीराचंद फूलचंद चेरीटेबल ट्रस्ट, सिरोही के बीच एक लिखित इकरारनामा हुआ। इस इकरारनामे पर सरकार की ओर से ट्रस्ट के संस्थापक ट्रस्टी भरत रिखबचंद संघवी ने ओर सरकार की ओर से उच्च शिक्षा आयुक्तालय की आयुक्त श्रीमती सुची त्यागी ने साईन कर एक दुसरे की इकरारनामे की प्रति प्रदान की। इस अवसर पर आयुक्तालय में संघवी परिवार के विकास कुमार अमृतलालजी संघवी, संयुक्त निदेशक (योजना) डा. विमलेश सोनी, सिरोही जिला विकास परिषद् के सचिव एवं पावापुरी ट्रस्ट के मेनेजिंग ट्रस्टी महावीर जैन भी उपस्थित थे। इस अवसर आयुक्तालय के अधिकारियों ने संघवी ट्रस्ट के संस्थापक ट्रस्टी भरत मामा व विकास संघवी का मालार्पण व गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया। आयुक्त श्रीमती त्यागी ने उच्च शिक्षा को बढावा देने के लिए सिराही जिले मे लगातार भामाशाहो के आगे आने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुऐ संघवी परिवार को बधाई दी। सिरोही के विधायक संयम लोढा ने एमओयु साईन होने पर कालन्द्री के हीराचंदजी फूलचंदजी संघवी परिवार को बधाई देते हुऐ कहा कि संघवी परिवार ने ग्रामीण अचंल के बालक-बालिकाओं को उच्च शिक्षा का लाभ दिलाने के लिए कॉलेज भवन बनाने का निर्णय कर सामाजिक सरोकार का उत्कृष्ठ कार्य किया है। कालन्द्री के मूल निवासी एवं जे डी ए जयपुर के आयुक्त उज्जवल राठौड एवं संवानिर्वत वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी अशोक भंडारी ने बधाई देते हुऐ कहा कि संघवी परिवार ने वो कार्य किया जिसकी आज जरूरत है ओर इनके इस कार्य को जनता सदैव याद रखेगी। पावापुरी ट्रस्ट के चेयरमेन किशोर एच. संघवी ने भरत भाई संघवी को दुरभाष पर बधाई देते हुऐ कहा कि अपनी जन्मभूमि मे शिक्षा भवन बनाने का यह फैसला स्वागत योग्य हैं। इकरारनामे पर साईन के बाद अनेक लोग एवं ट्रस्ट भरत मामा एवं संघवी परिवार को इस सुकृत कार्य के लिए लगातार बधाईयां दे रहे है।
    ट्रस्ट के ट्रस्टी भरत मामा ने बताया कि इकरारनामे के अनुसार ट्रस्ट कलक्टर सिरोही द्वारा आंवटित ३७ बीघा भूमि पर ५ करोड की लागत से २६ हजार वर्गफीट का निर्माण आयुक्तालय की ओर से अनुमोदित प्लाननुसार करवायेगें। कॉलेज का नाम ‘‘ संघवी हीराचंदजी फूलचदंजी राजकीय महाविद्यालय कालन्द्री ‘‘ रखा जावेगा। यह भवन २ वर्ष मे बनाकर सरकार को सुर्पुद किया जावेगा। भवन मे एक सरस्वतीजी की प्रतिमा की स्थापना एवं शीतल जल गृह का निर्माण ट्रस्ट विराजित करेगा। 
    सरकार की ओर से कालन्द्री मोहब्बतनगर मुख्य सडक मार्ग पर शनि मंदिर के पास  आंवटित भूमि का कब्जा मिलने के बाद वहां साफ सफाई का कार्य चल रहा है ओर जल्द ही भूमि पूजन करवा कर निर्माण कार्य शुरू कर ने की तैयारिया की जा रही है।
पावापरुी ट्रस्ट ने कॉलेज शिक्षा आयुक्त से कहा
रेवदर कॉलेज मे विज्ञान व कार्मस सकांय खोला जावें
    रेवदर मे उच्च शिक्षा को बढावा देने के लिए भारत सरकार व राजस्थान सरकार की ओर से रेवदर कॉलेज को मॉडल घोषित कर रूसा कोष से साईन भवन, लेब व ई लायबेरी भवन का निर्माण होने के बाद भी २ वर्ष से इन भवनों का उपयोग नही होने पर वो कबुतरो का आश्रय स्थल बन गया है।
    पावापुरी ट्रस्ट के मेनेजिंग ट्रस्टी महावीर जैन ने शुक्रवार को कॉलेज शिक्षा आयुक्त श्रीमती सुची त्यागी से जयपुर मे भेंटकर उनसे अनुरोध किया कि इन भवनो के उपयोग के लिए रेवदर कॉलेज मे विज्ञान व कार्मस संकाय नये सत्र से खोला जावें। उन्होने आयुक्त को अवगत कराया कि रेवदर उपखण्ड मे ५० से अधिक हायर सैकण्डरी स्कुल है जिनके स्टुडेन्टस को उच्च शिक्षा की जरूरत को ध्यान मे रखते हुऐ ये दोनों संकाय खोलना निंतात जरूरी है। आयुक्त ने संयुक्त निदेशक (प्लान) डा. विमलेश सोनी को निर्देश दिये कि अगले सत्र मे ये दोनेा विषय खोलने के प्रस्ताव प्रस्तुत करे ताकि राज्य सरकार से इसको स्वीकृत कराया जा सकें। वर्तमान मे ट्रस्ट की ओर ५ करोड की लागत से बनवाये गये मातुश्री शांताबा भवन मे कला संकाय चल रही है जिसमे ६५० से अधिक विद्यार्थी पढ रहे है।
    ट्रस्टी महावीर जैन ने पावापुरी ट्रस्ट की ओर से सिरोही मे बनवाये जा रही माँ अम्बे के. पी. संघवी राजकीय विधि महाविद्यालय भवन निर्माण की आयुक्त को पुरी जानकारी देते हुऐ अवगत कराया कि ट्रस्ट अगस्त मे यह भवन सरकार को सुर्पुद करेगा तब तक सरकार की ओर से आवश्यक फर्नीचर व उपकरण उपलब्ध कराना सुनिश्चित करावे ताकि नये सत्र का शुम्भारम्भ नये भवन मे हो सके। वर्तमान मे यह विधि कॉलेज राजकीय पी जी महावद्यिालय सिरोही के ३ कमरो मे संचालित हो रहा है।
    जैन ने आयुक्त श्रीमती त्यागी से अनुरोध किया कि वे सिरोही जिले मे उच्च शिक्षा को बढावा देने के लिए दानदाताओं की ओर से करवाये जा रहे कार्यो व भवनो का अवलोकन के लिए सिरोही जिले का दौरा करावे। आयुक्त ने कहा कि वे जल्द ही सिरोही जिले की विजिट का कार्यक्रम तय करेगी।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.