डॉ. हर्ष वर्धन ने अधिक मामलों वाले इलाकों और मृत्यु के मामलों में और कमी लाने के प्रबंधन पर विशेष ध्यान देने पर बल दिया

( 2003 बार पढ़ी गयी)
Published on : 16 May, 20 04:05

-नीति गोपेन्द्र भट्ट-

डॉ. हर्ष वर्धन ने अधिक मामलों वाले इलाकों और मृत्यु के मामलों में और कमी लाने के प्रबंधन पर विशेष ध्यान देने पर बल दिया

नई दिल्ली, कोविड-19 पर उच्च स्तरीय मंत्री समूह की 15वीं बैठक आज केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन की अध्यक्षता में निर्माण भवन में आयोजित की गई। इस बैठक में नागरिक विमानन मंत्री श्री हरदीप पुरी, विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर, गृह राज्य मंत्री श्री नित्यानंद राय, जहाजरानी, रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री श्री मनसुख लाल मंडाविया और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे तथा चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ श्री बिपिन रावत भी उपस्थित रहे।

 कोविड-19 के वैश्विक और भारत के मामलों से संबंधित वर्तमान स्थिति पर एक विस्तृत प्रजेंटेशन मंत्री समूह के समक्ष किया गया। मंत्री समूह को बताया गया कि अब तक मिली जानकारी के अनुसार कोविड-19 के कारण विश्व के विभिन्न देशों में 42,48,389 लोग संक्रमित हुए हैं और 2,94,046 लोगों की मृत्यु हुई है। पूरे विश्व में कोरोना से मरने वाले लोगों की मृत्यु दर 6.92 प्रतिशत है। इसके मुकाबले भारत में अब तक कोविड-19 के 81,970 पुष्ट मामले सामने आये हैं और 2,649 लोगों की मृत्यु हुई है। इस तरह मृत्यु दर 3.23 प्रतिशत बनती है। 27,920 लोग स्वस्थ हुए हैं। पिछले 24 घंटे में 1685 रोगी स्वस्थ हुये है। इस प्रकार भारत में कोरोना-19  से स्वस्थ होने वाले लोगों की दर 34.06 प्रतिशत है। यह भी उल्लेखनीय है कि भारत में लॉकडाउन से पहले कोविड-19 के मामलो के दोगुना होने की दर जहां 3.43 दिन थी वहीं लॉकडाउन लगने के बाद पिछले हफ्ते में यह दर 12.9 दिन हो गयी है। इसी प्रकार कोविड-19 से मरने वाले लोगों के प्रतिशत में भी गिरावट हुई है और यह दर लॉकडाउन से पहले जहां 3.2 प्रतिशत भी वही लॉकडाउन के बाद पिछले सप्ताह में यह दर 2.1 प्रतिशत थी।

 मंत्री समूह ने कोविड-19 के प्रबंधन और नियंत्रण पर गहन चर्चा की और केन्द्र तथा विभिन्न राज्यों द्वारा उठाए गए कदमों पर भी विचार किया। मंत्री समूह को बताया गया कि देश के 30 नगर पालिका क्षेत्र ऐसे है जिनमें पूरे देश के कोविड-19 के कुल मामलों के 79 प्रतिशत मामले हैं। मंत्री समूह में कोविड-19 के प्रबंधन की रणनीति पर विस्तार से चर्चा करते हुए सलाह दी है कि जिन राज्यों में कोविड-19 के पुष्ट मामलों की संख्या अधिक और मृत्यु दर भी अधिक है, वहां समय पर संक्रमित लोगों और इनके संर्पकों की पहचान करने के साथ साथ  संक्रमित लोगों का समय पर उपचार करने पर विशेष ध्यान दिया जाए। मंत्री समूह ने बाहर से आ रहे प्रवासी श्रमिकों और विदेशों से आने वाले लोगों के प्रबंधन को भी राज्यों के लिए एक बडी चुनौती बताया।

मंत्री समूह ने भारत सरकार द्वारा की गई सिफारिशों और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा कंटेनमेंट जोन के संबंध में समय समय पर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड-19 के प्रबंधन के लिए  बीमारियों के संकेतों, रोग के मूल कारण और इनसे बचाव के लिए अपनाए जाने वाली सावधानियों और उपचार के लिए की  आवश्यक कार्रवाई आदि के संबंध में दिशा निर्देश साझा  किये गये तथा  सूचित की गई जानकारियों की भी सराहना की।

  उच्चाधिकार प्राप्त समूह ने देश में स्वास्थ्य सुविधाओं के आधारभूत ढांचे में तेजी से किये गए विकास को भी सराहा और बताया गया कि देश में कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए अब तक 8,694 सुविधाएं विकसित की गई है, जिनमें कोविड-19 के  919  विशेष अस्पताल, 2036 विशेष कोविड स्वास्थ्य केन्द्र और 5,739 कोविड केयर सेंटर बनाए गए है, जिनमें विभिन्न गंभीर रोगियों के उपचार के लिए 2,77,429 बिस्तर की सुविधा मौजूद है। इसी प्रकार कोविड केयर सेंटर में 29,701 आईसीयू बिस्तर और 5,15,250 आइसोलेशन बिस्तर की सुविधा उपलब्ध है। साथ ही 18,855 वेंटिलेटर हैं। केंद्र ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 84.22 लाख एन-95 मास्क और 47.98 लाख पीपीई किट भी उपलब्ध करवाए है। देश में स्वदेशी निर्माताओं ने करीब 3 लाख पीपीई और इतने ही एन-95 मास्क प्रतिदिन उत्पादन की क्षमता भी हासिल कर ली है, जो कि भविष्य की आवश्यताओं को पूरा करने के लिए पर्याप्त है। इसके साथ ही देश में स्वदेशी विनिर्माताओं द्वारा वेंटिलेटर निर्माण का काम भी शूरू किया गया है और उन्हें मांग के अनुसार आपूर्ति के लिए ऑडर दे दिये गए हैं।

 भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आई.सी.एम.आर), नई दिल्ली के महानिदेशक प्रो. बलराम भार्गव ने मंत्री समूह को बताया कि देश में कोविड-19 की जांच सुविधा में वृद्धि हुई है और वर्तमान में 509 सरकारी और निजी प्रयोगशालाओं हैं और जांच क्षमता एक लाख प्रतिदिन हो गई है। देश में अब तक 20 लाख से अधिक जांच की गयी है । जांच सुविधाओं को और अधिक बढाने के लिए उन्नत मशीनें खरीदने के आर्डर दे दिए गए हैं। राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) में भी स्वचालित,  अति उन्नत और रियल टाइम में कोविड-19 की जांच करने वाली रिमोट कोबास 6800 मशीन लगाई गयी है। । यह मशीन 24 घंटे में लगभग 1200 नमूनों की हाई थ्रू पुट के जरिए गुणवत्तापूर्ण हाई वाल्यूम जांच करेगी।  जांच किट की वर्तमान उपलब्धता पर्याप्त है और इन्हें आईसीएमआर के 15 डिपो के माध्यम से राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों को वितरित किया जा रहा है।

 मंत्री समूह को यह भी अवगत कराया गया कि विदेश मंत्रालय और नागरिक उड्डयन मंत्रालय के प्रयासों तथा राज्य सरकारों के सहयोग से विभिन्न देशों में रहने वाले भारतीय नागरिकों को चरणबद्ध तरीके से स्वदेश लाने की रणनीति पर कार्य जारी है।  प्रथम चरण में 12 हजार नागरिकों को स्वदेश लाया गया है और उन्हें  संबंधित राज्यों में क्वारंटाइन किया गया है। स्वदेश लौटने वाले भारतीयों  का प्रवेश स्थलों पर निर्धारित मापदंडों और दिशा निर्देशों  के अनुरूप स्क्रीनिंग करने के साथ ही संस्थागत सुविधाओं में  भुगतान से  क्वारांटीन में रखा गया ।

 बैठक में मंत्रालय की सचिव श्रीमती प्रीति सूदन, मंत्रालय के ओएसडी/सचिव श्री राजेश भूषण,  वस्त्र मंत्रालय के सचिव श्री रवि कपूर, नागरिक विमानन मंत्रालय के सचिव श्री पी.एस खरौला, वाणिज्य सचिव श्री अनुप वधावन, दूरसंचार सचिव श्री अंशु प्रकाश, आईसीएमआर के महानिदेशक प्रो. बलराम भार्गव, आईटीबीपी के महानिदेशक आनंद स्वरूप, गृह मंत्रालय के सचिव श्री अनिल मलिक, अतिरिक्त सचिव डॉ. सी एस महा पात्रा, स्वास्थ्य एवं परिवार मंत्रालय के संयुक्त सचिव श्री लव अग्रवाल और अन्य मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

 कोविड-19 से संबंधित तकनीकी मुद्दों, दिशा-निर्देशों और परामर्शों के बारे में सभी प्रामाणिक और अद्यतन सूचना के लिए https://www.mohfw.gov.in देखें।

 कोविड-19 से संबंधित तकनीकी प्रश्नों को technicalquery.covid19@gov.in और अन्य प्रश्नों को ncov2019@gov.inतथा ट्वीट के माध्यम से @covidindiaSevaपर ई-मेल किया जा सकता है।

 कोविड-19 के बारे में किसी प्रश्न  पर कृपया स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की हेल्पलाइन नं. +91-11-23978046 या टॉल फ्री नं. 1075 पर कॉल करें। राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों की कोविड-19 से संबंधित हेल्पलाइन नं. की सूची https://www.mohfw.gov.in/pdf/coronvavirushelplinenumber.pdf पर उपलब्ध है।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.