वैदिक विश्वविद्यालय में स्वाभिमान सप्ताह के तहत गोष्ठी आयोजित

( 5222 बार पढ़ी गयी)
Published on : 08 Mar, 20 11:03

वैदिक विश्वविद्यालय में स्वाभिमान सप्ताह के तहत गोष्ठी आयोजित


निम्बाहेडा। श्री कल्लाजी वैदिक विष्वविद्यालय के सभागार में महिला स्वाभिमान सप्ताह मनाया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता विष्वविद्यालय के चेयरपर्सन कैलाष चन्द्र मून्दड़ा ने की जबकि मुख्य अतिथि संस्थान के अध्यक्ष राजेन्द्र कुमार श्रीवास्तव थे, एवं समाज सेविका जया सिंघवी विषिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रही। कार्य्रकम में वीरांगना वाहिनी, षक्ति दल की सभ्रान्त बालिकाओं एवं महिलाओं ने भाग लिया। कार्यक्रम में अधिवक्ता प्रीति रामचंदानी, टीना मीणा, पूजा तेली, आरती षारदा, मधुबाला बामनिया आदि ने अपने विचार रखें। विषिष्ठ अतिथि जया सिंघवी ने कहा कि महिला संघर्ष की कहानी है, वह आधुनिक भारत की वह धुरी है जिससे समूचा विष्व गति करता है। चेयरपर्सन मून्दड़ा ने मातृ षक्ति को प्रणाम करते हुए कहा कि नारी जगद् का आधार है, प्रकृति स्वरूप स्त्री के बिना विष्व की कल्पना नहीं की जा सकती, आज के समाज में संस्कारों का होना आवष्यक है और संस्कार देने वाली प्रथम मां होती है। वैष्विक परिदृष्य में आधुनिकता के साथ संस्कारों के स्पर्ष से कदमताल करना आवष्यक हो गया है। उन्होनें कहा कि यत्र नारी पूज्यंते रमेंत तत्र रमंते देवता की भावना के साथ भारतीय परिवेष में नारी हमेशा पूजनीय रही है। ऐसी स्थिति में हमें भी नारी के अस्तित्व को स्वीकार कर उन्हें पूरा सम्मान देना चाहिए। अन्त में सहायक षोध निदेषक डाॅ. दिलीप कुमार ने आगंतुको का आभार जताया जबकि ज्योतिष विभाग के डांॅ. मृत्युंजय कुमार तिवारी ने संचालन किया।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.