लालीवाव मठ में महंत नारायणदास स्मृति समारोह

( 1242 बार पढ़ी गयी)
Published on : 14 Jan, 20 06:01

दिनभर अनुष्ठानों की रही धूम

लालीवाव मठ में महंत नारायणदास स्मृति समारोह

गुरु पादुका पूजन में उमड़े श्रद्धालु
तपोभूमि लालीवाव मठ में महंत श्री नारायणदासजी महाराज की 17वीं पुण्यतिथि पर पीठाधीश्वर महंत श्री हरिओमदासजी महाराज के सानिध्य में दो दिवसीय समारोह का समापन हुआ । समारोह में पं. दशरथ एवं पं. कन्हैयालाल के आचार्य समूह के तत्वावधान में महंत नारायणदास महाराज की छत्री पर गुरुपादुका पूजन सहित मठ परिसर में विभिन्न अनुष्ठान किए । इसमें भक्तजनों ने हिस्सा लिया ।
पीठाधीश्वर के सानिध्य में प्रातः 10 बजे पादुका महापूजन हुआ । इसमें गुरु गीता के पाठ, गुरु स्तवन और गुरु पूजा के विभिन्न अनुष्ठान हुए । इसमें सियारामदास महाराज, विमल भट्ट, प्रवीण गुप्ता, ईश्वर जोशी, गोपालसिंह, सुभाष अग्रवाल, कनु सोलंकी, महेश राणा, लोकेन्द्र भट्ट, अरविन्द, सुनील, विनोद, मनोहर धरमु भाई, राजेश भाई एवं लालीवाव मठ शिष्य परिवार आदि भक्तों ने हिस्सा लिया ।
महारुद्राभिषेक की रही गूंज
सोमवार को प्रदोष मण्डल की और से मठ परिसर में महारुद्राभिषेक अनुष्ठान हुआ। इसमें भारी संख्या में पण्डितों ने रुद्राभिषेक अनुष्ठान में हिस्सा लिया । महारुद्राभिषेक के पश्चात् महाप्रसादी यजमान धर्मेन्द्र तेली ‘‘पार्षद’’ एवं लोकेश तेली परिवार द्वारा भगवान शंकर की आरती उतारी गई ।
भजन संध्या में झुमे भक्तजन
सोमवार को सायं लालीवाव मठ के प्रधान देवता भगवान पद्मनाभ के मंदिर में श्री राधावल्लभ मण्डल द्वारा भजन संध्या का आयोजन भी किया गया । जिसमें भजन गायकों ने एक से एक भजनों की प्रस्तुतियां दि गई । प्रारंभ में रामा गाईये गणपति गजवंदन रामा से श्री गणेश किया गया । काली कमली के ओढ़नवाले मुझे चरणों का दास बनाले, कृष्ण गोविन्द हरे, भरोसा आपका गुरुदेव संभालो ना करो देरी आदि भजनों की प्रस्तुतियां दि गई जिसमें भक्तजन भक्तिमय वातावरण में झुम उठे ।
इसी के साथ सायं 7.45 बजे भगवान पद्मनाभ की महाआरती उतारी गई एवं महाआरती के पश्चात् रामनाम गर्जना के साथ सभी भक्तों ने महाप्रसादी ग्रहण की ।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.