दीपावली पर ना रहे किसी भी घर में अंधेरा- श्री भाटी

( 5706 बार पढ़ी गयी)
Published on : 17 Oct, 19 04:10

एवीवीएनएल की उच्च स्तरीय बैठक सम्पन्न प्रबंध निदेशक ने दिए निर्देश, फील्ड में रहकर आपूर्ति पर नजर रखें इंजीनियर

दीपावली पर ना रहे किसी भी घर में अंधेरा- श्री भाटी

अजमेर,  अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्री वी एस भाटी ने कहा कि आगामी दिनों में दीपावली के त्यौहार को देखते हुए डिस्कॉम के सभी इंजीनियर फील्ड में मुस्तैद रहें। हम पर दीपावली की रोशनी की अहम जिम्मेदारी है। यह सुनिश्चित किया जाए कि अजमेर डिस्कॉम क्षेत्रा में दीपावली पर किसी भी घर में अंधेरा ना रहे। अधिकारी छीजत घटाने और राजस्व बढ़ाने के लिए मिशन मोड पर काम करें।

प्रबंध निदेशक श्री भाटी ने आज अजमेर विद्युत वितरण निगम मुख्यालय में डिस्कॉम क्षेत्रा के सभी 11 जिलों के उच्च अधिकारियों की बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि दीपावली रोशनी का त्यौहार है और रोशनी तभी होगी जब हम आपूर्ति को सुचारू रखेंगे। सभी सर्किल रखरखाव का काम किसी भी स्थिति में 23 अक्टूबर तक पूरा कर लें ताकि दीपावली एवं इससे जुड़े सभी त्यौहारों पर किसी तरह की परेशानी ना आए। इस बार अच्छी बारिश और डिस्कॉम अभियंताओं के बेहतरीन मैनेजमेंट के कारण औसत छीजत 15.6 प्रतिशत रही है। हम इसे और कम करने का प्रयास करें। नागौर और बांसवाड़ा सर्किल में छीजत औसत से ज्यादा है। इन क्षेत्रों के अधिकारी विशेष ध्यान देकर छीजत को घटाएं।

श्री भाटी ने कहा कि सभी सर्किल बिजली चोरों के खिलाफ सख्त रवैया अपनाएं ताकि ऐसे लोगों में भय व्याप्त हो और वे चोरी करने से बचें। विजीलेंस  टीम और अधिक सक्रिय होकर बिजली चोरों के खिलाफ मामला दर्ज करे, उन्हें गिरफ्तार करें और जुर्माना वसूली में सहयोग करें। निगम की आर्थिक स्थिति सुधारने पर जोर देते हुए श्री भाटी ने कहा कि अधिकारी राजस्व बढ़ाने के लिए गंभीर होकर काम करें। अनुपयोगी सामग्री की खरीद कम की जाए। लगातार उपयोग में आने वाली वस्तुओं की ही खरीद हो।

उन्होंने 50 यूनिट प्रतिमाह से कम तथा शून्य बिलिंग वाले उपभोक्ताओं की जांच अभियान को गति देने के निर्देश प्रदान किए। आगामी 19 नवम्बर तक अभियान चलाकर 50 यूनिट से कम विद्युत खर्च वाले उपभोक्ताओं की जांच करनी है। इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाए। इसके साथ ही 48 घंटे में जले हुए ट्रांसफार्मर बदलने का कार्य किया जाए।

श्री भाटी ने कहा कि निगम प्रतिवर्ष एक  बड़ी राशि दुर्घटनाओं के मुआवजे के रूप में देता है। सुरक्षा अभियान चलाकर इन दुर्घटनाओं में कमी लाई जा सकती है। ड्राईव चलाकर डीओ फ्यूज लगाए जाए। फील्ड में रहने वाले इंजीनियर यह सुनिश्चित करें कि वे अपने क्षेत्रा में पूरी तरह मुस्तैद है। किसी के खिलाफ फोन नहीं उठाने तथा अभ्रदता करने की शिकायत आई तो सख्त कार्यवाही की जाएगी। निगम अगली बार से बेहतरीन कार्य करने वाले सर्किल को सम्मानित करने तथा सबसे पीछे रहने वाले सर्किल की कार्यप्रणाली पर चर्चा कर सुधार की कार्यवाही करेगा।

बैठक में माह सितम्बर तक कुल राजस्व वसूली, छीजत, तकनीकी एवं वाणिज्यिक छीजत, जले ट्रासंफार्मर बदलने की प्रगति समीक्षा, कन्ज्यूमर टैगिंग में अपडेशन एवं संशोधन, फीडरवार एनर्जी ऑडिट, कुसुम योजना, केन्द्र प्रायोजित योजनाएं, डीडीयूजीजेवाय, सौभाग्य योजना, आईपीडीएस योजना, सिंगल एवं थ्री फेज के बंद व खराब मीटर बदलने, औसत बिलिंग, फोटो रीडिंग एवं रीडिंग की क्रॉस चेकिंग, 10 हजार से अधिक बकाया राशि के डीसी एवं पीडीसी उपभोक्ताओं की जांच की समीक्षा, प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण, एलटी कैपेसिटर इन्स्टॉलेशन, पवस एवं सतर्कता दलों द्वारा की जा रही सतर्कता जांच की प्रगति समीक्षा, जारी किए गए एवं बकाया घरेलू, अघरेलू, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी, पीएसएल एवं औद्योगिक कनेक्शनों की प्रगति समीक्षा, कृषि कनेक्शनों की प्रगति समीक्षा, फीडर मीटरिंग, प्रीपेड मीटरों का उपयोग तथा छीजत में कमी लाने के लिए किए जा रहे नवाचारों पर भी चर्चा की गई।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.