जिला स्तरीय यातायात प्रबंधन समिति की बैठक में हुए कई महत्त्वपूर्ण निर्णय

( 1503 बार पढ़ी गयी)
Published on : 14 Sep, 19 04:09

सड़कों को दुरस्त कराने व अवैध पार्किंग पर कार्यवाही के दिए निर्देश

जिला स्तरीय यातायात प्रबंधन समिति की बैठक में हुए कई महत्त्वपूर्ण निर्णय

उदयपुर / जिला स्तरीय यातायात प्रबंधन समिति की त्रैमासिक बैठक जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी की अध्यक्षता में गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। बैठक में जिले में यातायात व्यवस्था सुचारू बनाने व लोगों को राहत देने की दृष्टि से कई महत्त्वपूर्ण निर्णय लिए गए व संबंधित विभागीय अधिकारियों को इस संबंध में कार्यवाही के लिए पाबंद किया गया।
इस अवसर पर उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा व मावली विधायक धर्मनारायण जोशी अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार, यूआईटी सचिव बालमुकुंद असावा, नगर निगम उपायुक्त अनिल शर्मा, अतिरिक्त प्रादेशिक परिवहन अधिकारी प्रभुलाल बामनिया, जिला परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा व नानजी गुलसर, डीवाईएसपी परबत सिंह सहित समस्त समिति सदस्य एवं विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।
बरसात दौरान गड्डों को भरें, एक माह में डामर हो:
बैठक में उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा व मावली विधायक धर्मनारायण जोशी द्वारा शहर में सड़कों के गड्डों से हो रही परेशानी के बारे में बताया तो कलक्टर ने यूआईटी को निर्देश दिए कि बरसात दौरान हो रहे गड्डों को तत्काल ही अस्थायी रूप से भरें और बारिश रुकने के तत्काल बाद पन्द्रह दिनों के भीतर सड़कों को दुरस्त करते हुए एक माह के भीतर इस पर डामरीकरण करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने संबंधित विभागों को पाबंद किया कि क्षतिग्रस्त समस्त सड़कों की सूची तैयार करते हुए इसके सुधार के लिए अपेक्षित टेण्डर प्रक्रिया अभी से पूर्ण करवा लें ताकि बरसात रूकते ही कार्य करवाया जा सके। उन्होंने इस कार्य में गुणवत्ता सुनिश्चित करने तथा किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरतने के लिए भी चेतावनी दी।
पार्किंग विहीन कॉम्पलेक्सों पर एक सप्ताह में हो कार्यवाही:
बैठक में कलक्टर ने विभिन्न शॉपिंग कॉम्पलेक्सों में पार्किंग स्थल पर अन्य गतिविधियां संचालित होने पर कार्यवाही के लिए पूर्व में दिए गए निर्देशों की अनुपालना नहीं होने पर नाराजगी जताई और  यूआईटी एवं नगर निगम को निर्देश दिये कि जिन व्यावसायिक भवनों में पार्किंग स्थल पर अन्य गतिविधियां चल रही है, उन्हें एक सप्ताह के भीतर बंद करवाकर पार्किंग सुविधा उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें अन्यथा बिल्डिंग को सीज करने की कार्रवाई करें। कलक्टर ने भवन निर्माण अनुमति के समय प्रस्तुत नक्शे के अनुसार पार्किंग स्थल उपलब्ध नहीं हो तो नियमानुसार कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने ऐसा नहीं होने पर सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही के लिए भी अधिकारियों को चेताया।  
ट्रेफिक पुलिस को एक सप्ताह में 5 क्रेन उपलब्ध कराओः
कलक्टर ने लोगों को निर्धारित पार्किंग स्थल पर वाहन खड़े करने को प्रेरित करने की आवश्यकता पर भी बल दिया। इस हेतु परिवहन विभाग व यातायात पुलिस मिलकर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करें। उन्होंने अवैध पार्किंग पर कार्यवाही करने की दृष्टि से परिवहन विभाग को निर्देश दिए कि ट्रेफिक पुलिस को एक सप्ताह के भीतर पांच क्रेन उपलब्ध करावें ताकि अवैध पार्क किए गए वाहनों को जब्त करने की कार्यवाही की जा सके।
बजट घोषणा पर डीपीआर तैयार करने बनेगी समिति:
बैठक में कलक्टर ने राज्य सरकार द्वारा शहर में टेªफिक समस्या के समाधान के लिए की गई 50 करोड़ रुपयों की बजट घोषणा को क्रियान्वित करने की दृष्टि से समग्र डीपीआर बनाने के लिए एक समिति बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि समिति में यूआईटी, नगर निगम, परिवहन विभाग, यातायात पुलिस के साथ जनप्रतिनिधियों और सक्रिय गैर सरकारी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को भी सम्मिलित किया जाएगा। उन्होंने समिति के गठन के बाद पूरे शहर का सर्वे करने व ट्रेफिक मास्टर प्लान के अनुरूप डीपीआर तैयार करने की भी बात कही।
ऑटो स्टेण्ड स्थापित करने की मांग:
बैठक दौरान ऑटो ऐसोसियेशन के भगवतीलाल साहू ने शहर में धानमण्डी सहित अन्य स्थानों पर ऑटो स्टेण्ड स्थापित करने की मांग रखी। कलक्टर ने इसके लिए परिवहन विभाग, नगर निगम व ट्रेफिक पुलिस को ऑटो स्टेण्ड के साथ ही सिटी बसों के लिए स्थान चिह्नित करने के लिए सर्वे करते हुए रिपोर्ट करने के निर्देश दिए।  
इन विषयों पर भी हुई चर्चा
बैठक में शहर में विभिन्न मार्गों पर अतिक्रमण हटाने, एकतरफा यातायात करने, ट्रेफिक लाइट्स व्यवस्थित चालू रखने, अत्यधिक यातायात दबाव वाले चौराहों पर ट्रेफिक लाईट लगवाने, मार्ग में अवरोध बन रही झाडि़यों को हटाने, डिवाइडर्स के अनावश्यक कट बंद करने एवं नये डिवाइडर बनाने, सड़कों पर लाइनिंग करने सहित कई अन्य बिन्दुओं पर बैठक में चर्चा की गई एवं आवश्यक निर्देश दिए गए। इस दौरान विधायक जोशी ने फतहसागर में डिजल नावें बंद करवाने, रोप-वे पर अनधिकृत दुकानों को हटवाने, विधायक मीणा ने सीसारमा से नांदेश्वर सड़क के गड्डों को भरवाने, नाई से कूंजडा मार्ग पर सिटी बसें प्रारंभ करवाने सहित कई विषयों पर सुझाव दिए जिस पर कलक्टर ने आवश्यक कार्यवाही को आश्वस्त किया। इस दौरान कलक्टर ने परिवहन विभाग को वार्षिक कैलेण्डर बनाकर विभिन्न विभागों के साथ समन्वय करते हुए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.