जनसमस्याओं का हो त्वरित निस्तारण: कलक्टर

( 964 बार पढ़ी गयी)
Published on : 13 Sep, 19 10:09

जनसमस्याओं का हो त्वरित निस्तारण: कलक्टर

जनसमस्याओं का हो त्वरित निस्तारण: कलक्टर

आमजन की समस्याओं के त्वरित निस्तारण एवं उन्हें राहत प्रदान करने के उद्देश्य से गुरुवार को जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट परिसर स्थित आईटी केन्द्र में जिला स्तरीय जनसुनवाई का आयोजन हुआ।
जनसुनवाई के दौरान 25 अलग-अलग परिवेदनाएं प्राप्त हुई जिनमें से 4 का मौके पर ही निस्तारण कर राहत दी वहीं शेष परिवेदनाओं को दर्ज करते हुए संबंधित विभागीय अधिकारियों को निस्तारण के लिए भेजा गया। इन प्रकरणों के संबंध में कलक्टर ने संबंधित विभागीय अधिकारियों से जानकारी लेकर चर्चा की तथा त्वरित कार्यवाही करते हुए प िको राहत प्रदान करने के निर्देश दिए।
इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द्र विश्नोई, अतिरिक्त जिला कलक्टर संजय कुमार व नरेश बुनकर, गिर्वा एसडीएम लोकबंधु, जिला रसद अधिकारी ज्योति ककवानी, सहायक निदेशक (लोकसेवाएं) दीपक मेहता सहित अन्य सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।
कलक्टर ने परिवेदनाओं पर दिए निर्देश:
जनसुनवाई के दौरान बिजली, पानी, अतिक्रमण, नामांतरण, अवैध पार्किंग, सड़क निर्माण, भू-रुपान्तरण सहित कई प्रकार के प्रकरण प्राप्त हुए। मौके पर ही कलक्टर ने संबंधित विभागीय अधिकारियों से इन प्रकरणों के निस्तारण के संबंध में जानकारी ली और परिवादियों को राहत देने के निर्देश दिए। इस दौरान जिले के ग्रामीण क्षेत्रों से भी कई परिवादी पहुंचे और उन्होंने अपनी-अपनी परिवेदनाएं सौंपी। सराड़ा तहसील के श्यामपुरा से पहुंचे एक परिवादी ने पत्थरगढ़ी के 27 मई को आदेश के बावजूद पत्थरगढ़ी नहीं किए जाने की शिकायत की जिस पर कलक्टर ने तहसीलदार से जानकारी ली व सीमाज्ञान करवाते हुए पत्थरगढ़ी करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार यूआईटी व नगरनिगम अधिकृत बस्तियों में आधारभूत सुविधाओं की कमी पर कलक्टर ने संबंधित विभागीय प्रतिनिधियों को कार्यवाही के निर्देश दिए।  
लंबित प्रकरणों को शीघ्र निस्तारित करें:
कलक्टर ने कहा कि जनसुनवाई एवं बैठक का उद्देश्य आमजन की शिकायतों का शीघ्र निस्तारण करना है। उन्होंने राजस्थान संपर्क पोर्टल पर एक वर्ष से अधिक समय से लंबित कई प्रकरणों पर संबंधित विभागीय अधिकारियों के प्रति नाराजगी जताई और निर्देश दिए कि वे लगातार पोर्टल पर प्राप्त हो रही परिवेदनाओं पर कार्यवाही करें तथा अपने से संबद्ध नहीं होने पर तत्काल संबंधित विभाग को फॉरवर्ड कर दें। उन्होंने ऐसे समस्त प्रकरणों में सोमवार तक कार्यवाही करते हुए रिपोर्ट करने के निर्देश भी दिए।
दर्ज प्रकरणों की हुई समीक्षा:  
कलक्टर ने राजस्थान सम्पर्क पोर्टल, सीएम हेल्पलाइन 181, सतर्कता एवं अन्य शिकायत संबंधी पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों के संबंध में विभाग व उपखण्डवार समीक्षा की एवं इन्हे प्राथमिकता के साथ निस्तारित करने के निर्देश दिये। उन्होंने इस बात पर विशेष जोर दिया कि छः माह से अधिक पुराने प्रकरण किसी भी हालत में लम्बित नहीं रहे। इस मौके पर कलक्टर ने समस्त उपखण्ड अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जनसमस्या एवं शिकायत से जुड़े लम्बित प्रकरणों पर चर्चा की एवं उन्हें अपने स्तर से निपटाते हुए वस्तुस्थिति से अवगत कराने के निर्देश भी दिए।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.