अखिल भारतीय कार्यकारिणी का आयोजन उदयपुर में

( 1447 बार पढ़ी गयी)
Published on : 11 Sep, 19 15:09

अखिल भारतीय कार्यकारिणी का आयोजन उदयपुर में

विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान की अखिल भारतीय कार्यकारिणी का आयोजन सुप्रसिद्ध ऐतिहासिक नगरी एवं वीर भूमि उदयपुर में हो रहा है, यह हमारे लिए अत्यंत आनंद का अवसर है। इसमें देश भर के लगभग 250 शिक्षाविद्ध ,विद्वान एवं विद्या भारती के कार्यकर्ता सम्मिलित हो रहे हैं।

विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान देश में शिक्षा जगत का सर्वाधिक बडा, महत्वपूर्ण एवं प्रभावी संगठन हे। 1952 में एक विद्यालय की स्थापना से लेकर अब 13,067 औपचारिक विद्यालय तथा 11333 एकल विद्यालय एवं संस्कार केंद्रों का संचालन इसके अंतर्गत हो रहा है इसने लगभग 36 लाख विद्यार्थियों को लगभग 1 लाख 50 हजार से अधिक आचार्य शिक्षा के अतिरिक्त संस्कार देने का पवित्र कार्य कर रहे हैं।

 

अत्यंत श्रेष्ठ परीक्षा परिणाम, अनेक शिक्षा बोर्ड की प्रवीणता सूची (मेरिट लिस्ट) विद्यार्थियों के नाम, देश के खेल जगत में, विविध खेलो में ऊंचे प्रतिमान बनाते हुए अनेक पदक ,विदेशों में भी खेलो में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए हमारे छात्र भैया बहन। विज्ञान और संस्कृति के क्षेत्र में हमारे विद्यार्थियों की उपलब्धियां, विद्या भारती की यशोगाथा कहती है। हमारे पूर्व छात्र भैया बहनों ने जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में सफलता और उच्च पद प्राप्त किए हैं और वे उसका श्रेय भी विद्या भारती को देते हैं।

 

बदलते सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक, आर्थिक एवं शैक्षिक परिप्रेक्ष्य  मैं नई आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर नई पीढ़ी की रचना एवं विकास विद्या भारती की प्राथमिकताओं मैं है। भारतीय शिक्षा दर्शन पद्धति और नवीन वैज्ञानिक, डिजिटल युग का समन्वय करते हुए शिक्षा के स्वरूप और व्यवहार मैं उसकी परिणीति के मार्गों का अनुसंधान विद्या भारती की निरंतर चिंताओं में सम्मिलित है। इसके लिए निकट अतीत में विभिन्न स्तरों पर गोष्ठियों आदि के माध्यम से समाज से संवाद और उस से निकले परिणामों को समाज और शासन से अवगत कराने का काम हमने किया है।

 

अब इस बैठक में भी देशभर के विद्वान शिक्षाविद सांगठनिक विषयों के साथ-साथ उक्त बातों पर भी विचार विमर्श करेंगे कि हमारे विद्यालय कैसे सशक्त बने, उपक्रम शील बने।

समाज गांव से लेकर ऊपर तक के प्रति अपनी जिम्मेदारियों और दायित्वों को कैसे पूरा कर सकते हैं यह विषय हमारी चिंतन की प्राथमिकता में है। आगामी 3 वर्षों के कार्य विस्तार, विकास की दिशा आदि के साथ अनेक शैक्षिक, सामाजिक, सांस्कृतिक विषयों पर इस बैठक में विचार होने वाला है।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.