लोकदेवता तेजाजी के मेलो का हुआ आयोजन

( 2349 बार पढ़ी गयी)
Published on : 09 Sep, 19 06:09

अलगोजा की तान से मुग्ध हुए शहरवासी

लोकदेवता तेजाजी के मेलो का हुआ आयोजन

(डॉ. प्रभात कुमार सिंघल)|   वीर तेजाजी महाराज के यो तो पूरे जिले के थानकों पर श्रद्धालुओं की खासी भीड़ रहती है लेकिन बूंदी के बालचंद पाडा क्षेत्र में अभयनाथ महादेव के पास स्थित मंदिर की परंपरा उसे और भी खास बनाती है। आज सुबह 4 बजे आरती के साथ तेजाजी ने देह में आकर भोपो को दिशा निर्देश दिए। प्रातः 5 बजे से ही दर्शनार्थियों की भीड़ लगने लग गई। सुबह 10 बजे तक दूध चढ़ाने वालो की भी खासी संख्या रही। 11 बजे से पांडाल में लोगो की भीड़ जुटना प्रारम्भ हो गया जो 12 बजे मोहल्ले से आई झंडियों के बाद बढ़ती गई। झंडियों के चढ़ाने बाद देह में तेजाजी ने आकर दस्सिया काटी, कई लोगो की बिमारियों का इलाज भी बताया। मेले के दौरान कई लोगो के देह में देवता आए। मेले में देह में आए तेजाजी ने अलगोजा वादन सुना और चलते हुए ढोलक की थाप पर नृत्य की मुद्रा भी बनाई। इस अवसर पर गायक कलाकार मोती लाल सैनी, मूलचंद सैनी, पंडितजी दूधवाले, अलगोजा वादक परशुराम, प्रकाश वर्मा, जगदीश मेघवाल, सहयोगी गोपी महाराज, रामपाल मेघवाल, महावीर गुर्जर, राजेश शर्मा  ने बलाड गायन से समां बाँधा। व्यवस्थाओं में वरिष्ठ संरक्षक उद्दा लाल गुर्जर, मोहन, समाज सेवी रामप्रकाश सैनी, सदस्य हेमन्त सैनी, जगदीश गुर्जर, बंटी गुर्जर, विष्णु वर्मा, महावीर मेघवाल, सुनील वर्मा, दीपक वर्मा, महेंद्र वर्मा, निर्मल वर्मा, मोहन वर्मा, ओम प्रकाश गुर्जर, सुनील वर्मा आदि मौजूद रहे।

मेले में दस्सी कार्यक्रम के बाद आई बारिश से भी श्रद्धालुओं का जोश कम नहीं हुआ। दिनभर दर्शनार्थियों की भीड़ लगी रखी। दोपहर बाद बालचंद पाडा वासियों ने तेजाजी को अपने घरों में बने चूरमा बाटी का भोग ल


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.