गुरु पूर्णिमा महोत्सव

( 6568 बार पढ़ी गयी)
Published on : 17 Jul, 19 06:07

गुरु पूर्णिमा महोत्सव

आज आलोक माध्यमिक विद्यालय पंचवटी में गुरु पूर्णिमा महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संस्थान के निदेशक डॉक्टर प्रदीप कुमावत रहे , तथा विशिष्ट अतिथि के उप प्राचार्य नारायण चौबीसा, शशि कला सुखवाल एवं अध्यक्षता प्राचार्या पुष्पा टांक ने की।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि आलोक संस्थान के निदेषक डॉ. प्रदीप कुमावत ने गुरु पूर्णिमा का महत्व बताते हुए  वेदव्यास जी का  मूल नाम एवं जीवन परिचय कराया तथा  उनकी शिक्षा  छात्रों को जीवन में उतारने के लिए प्रेरित किया।

  उन्होंने कहा कि कहा कि गुरू चिर स्थायी होता है अज्ञानरूपी अंधकार को जो मिटाये वो गुरू कहलाता है। गुरू ज्ञान का प्रकाष फैलाने वाला है। गुरू ज्ञान का दान देने वाला है। विद्यार्थी के जीवन में संस्कारों का बीजारोपण करने वाला है। यह वह माली है जो अपनी बगिया को भली-भांति जानता है, पहचानता है कि किस प्रकार उसे अपनी बगिया के फूलों को सजाना, संवारना है तथा उसे स्नेह से प्रेशित करना है।

उन्होंने कहा कि विद्यार्थी को भी गुरू का सम्मान हृदय से करना चाहिये। जो विद्यार्थी गुरू का सम्मान करता है निष्चित ही वह विद्यार्थी जीवन के श्रेश्ठत्व को पाता है। अपने लक्ष्यों की प्राप्ति हेत निरंतर प्रगति के मार्ग पर प्रषस्त होता ही चला जाता है।

 इस अवसर पर छात्रों ने गुरु के महत्व पर अपने विचार एवं कविताएं प्रस्तुत की। साथ ही छात्रों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां भी दी।  काजल डोलावत  एवं पूर्व छात्रा रचना शर्मा ने गुरु के महत्व पर कविता प्रस्तुत की। 

कार्यक्रम में अतिथि परिचय स्वागत प्रचार प्रमुख एवं पंचतंत्र सदन के डॉ यज्ञ आमेटा ने कराया।

श्रीमती पुष्पा टांक , स्टाफ सचिव रविन्द्र शर्मा , लेखाकार ललित कुमावत आदि ने अतिथि डॉ कुमावत का पुष्पमाला से स्वागत- सम्मान किया।

 कार्यक्रम का संचालन अल्पना पुरोहित , छात्रा दीक्षिता एवं काजल डोलावत ने किया। हिमांशी व समूह , अनुष्का व समूह आदि ने नृत्य सांस्कृतिक प्रस्तुति दी।

 इस अवसर पर दसवीं के छात्र छात्राओं ने सभी अध्यापकों का सम्मान एवं पूजा-अर्चना की। 

प्राचार्या पुष्पा टांक ने भी छात्रों को गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएं प्रेषित की तथा छात्रों की उन्नति व उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

इस अवसर पर  धन्यवाद एवं आभार स्टाफ सेक्रेट्री रविंद्र शर्मा ने दिया।


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.