इंग्लैंड कंगारुओं को नॉकआउट करने उतरेगा

( 1486 बार पढ़ी गयी)
Published on : 11 Jul, 19 09:07

इंग्लैंड कंगारुओं को नॉकआउट करने उतरेगा

बर्मिघम   |   पहली बार विश्व कप जीतने की दहलीज पर खड़ी इंग्लैंड टीम को बृहस्पतिवार को दूसरे सेमीफाइनल में पांच बार की चैंपियन चिर प्रतिद्वंद्वी आस्ट्रेलिया को हराने के लिए काफी पापड़ बेलने पड़ेंगे। इंग्लैंड पिछली बार 2015 विश्व कप के पहले दौर से बाहर हो गया था। उसके बाद से हालांकि वनडे रैंकिंग में शीर्ष तक पहुंचा और काफी मजबूत टीम के रूप में उभरा। इंग्लैंड 1979, 1987 और 1992 में फाइनल तक पहुंचा लेकिन विश्व कप नहीं जीत सका। इस बार टीम के फार्म को देखते हुए विशेषज्ञों ने कयास लगाया था कि यह उसके पास सबसे सुनहरा मौका है।इंग्लैंड और खिताब के बीच पहले कदम पर हालांकि आस्ट्रेलिया है जो टूर्नामेंट में लगातार अच्छा प्रदर्शन करता आया है। अभी तक उसने सारे छह सेमीफाइनल जीते हैं और 1999 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नाटकीय हालात में मैच टाई हो गया था। चार महीने पहले आस्ट्रेलिया को शायद ही कोई गंभीरता से लेता लेकिन आरोन ¨फच की टीम ने शानदार वापसी की है। उसे अभी भी अतीत की ‘‘अपराजेय’ आस्ट्रेलियाई टीम नहीं कहा जा सकता लेकिन बड़े मुकाबलों में उसने हमेशा अच्छा प्रदर्शन किया है। इस बार भी सही समय पर टीम फार्म में आ गई है और किसी तरह के दबाव में नहीं है। आस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर ने कहा, ‘‘एक साल पहले हम इतने इत्मीनान से नहीं थे। हम बड़े संकट से गुजरे जिसकी असर खेल पर ही नहीं बल्कि हमारे देश पर भी पड़ा। इसलिए राहत की बात ही नहीं थी। हमें मेहनत करनी थी जो हमने की। हमें अच्छा खेलना ही नहीं था, अच्छा आचरण भी करना था।’ उन्होंने डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘मुझे पता था कि इंग्लैंड में कुछ लोग खिल्ली उड़ाएंगे लेकिन यह सही था। हमें मेहनत करनी थी। हमें पता था कि हमारे पास अच्छे खिलाड़ी हैं।’इंग्लैंड ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले 12 में से 10 मैच जीते लेकिन उन्हें पता है कि आस्ट्रेलियाई टीम कितनी खतरनाक है जिसने उन्हें लीग चरण में 64 रन से हराया। 


साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.