नवोन्मेषी उत्तर देने वाले परीक्षार्थियों को अधिक अंक

( 1916 बार पढ़ी गयी)
Published on : 12 Feb, 19 07:02

 नवोन्मेषी उत्तर देने वाले परीक्षार्थियों को अधिक अंक
उदयपुर। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड दसवीं व बारहवीं बोर्ड परीक्षा में नवोन्मेषी उत्तर देने वाले परीक्षार्थियों को अधिक अंक मिलेंगे। यानी विद्यार्थी रटे-रटाए उत्तर से अलग हटकर उत्तर देते हैं तो इसके लिए परीक्षक अतिरिक्त अंक दें सकेंगे। सीबीएसई बोर्ड ने मार्किंग सिस्टम में यह बदलाव किया है। इसकी जानकारी परीक्षकों को दी जा रही है। परीक्षक अधिकतम पांच अतिरिक्त अंक दे सकते हैं।
-पहले मिलते थे समान अंक
अब तक इनोवेटिव या अलग हटकर जवाब देने वाले छात्र व पारंपरिक जवाब देने वाले छात्रों को समान अंक मिलते थे। इससे कहीं न कहीं क्रिएटिव छात्रों को नुकसान होता था। इस बदलाव से अब अच्छे से तैयारी करने वाले छात्रों को फायदा होगा।
-टॉपिक समझ उत्तर करें तैयार
परीक्षा शुरू होने से पहले इसकी जानकारी छात्रों, शिक्षकों, प्रिंसपल व परीक्षकों को दी गई है। परीक्षा के तैयारी के दौरान छात्र इसका ख्याल रख सकते हैं। स्कूल के माध्यम से छात्रों को बताया गया है। स्कूलों ने भी इस व्यवस्था के तहत विद्यार्थियों को टॉपिक्स को समझकर अपने शब्दों में उत्तर लिखने की कला सिखाई है। इसके लिए स्कूल स्तर पर महत्वपूर्ण चैप्टर के कई टॉपिक्स को लिखकर रिवीजन भी करवाया गया है।
-अनिवार्य प्रश्नों की संख्या घटेगी
इस बार अनिवार्य सवालों की संख्या को बोर्ड ने कम किया दी है, मल्टीपल च्वाइस वाले प्रश्न अधिक पूछे जाएंगे। इसका फायदा प्रश्न समझ कर अपनी भाषा में उत्तर देने वाले विद्यार्थियों को मिलेगा। नई व्यवस्था को ठीक से लागू करने के लिए कॉपी जांच शुरू होने से पहले परीक्षकों की एक बैठक भी होगी, ताकि इस व्यवस्था का लाभ बच्चों को दिया जा सके।

साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.