विश्व क्षत्रिय अखाड़ा करेगा कुंभ में प्रवेश

( 4039 बार पढ़ी गयी)
Published on : 11 Jan, 19 06:01

विश्व क्षत्रिय अखाड़ा करेगा कुंभ में प्रवेश
नई दिल्ली: इस बार कुंभ में विश्व क्षत्रिय अखाड़ा भी प्रवेश करेगा। अंतराष्ट्रीय क्षत्रिय महासम्मेलन जो कंबोडिया में आयोजित हुई थी। वहीं अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष राजा राजेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में 50 देशों के क्षत्रिय कुल वीरों ने भाग लिया जिसमें  युवराज महंत प्रेमानन्द अघोर अखाडा उप प्रमुख के आवाहन पर राजा राजेन्द्र सिंह जी ने विश्व क्षत्रिय अखाड़ा की स्थापना की घोषणा की एवं विश्व क्षत्रिय अखाडा के अध्यक्ष शक्तिसिंह चंदेल को सर्वम्मति से मनोनीत किया गया एवं क्षत्रिय आखडा प्रमुख युवराज महंत प्रेमानन्द जी को सर्वसम्मति से मनोनीत किया गया था और राजा राजेन्द्र सिंह का कहना है कि सरकार 10 प्रतिशत आरक्षण का नाटक कर रहीं है। हमे 50 प्रतिशत बचा हुआ पूरा ही आरक्षण चाहिए अन्यथा हम आंदोलन के लिए तैयार हैं। नही ंतो देश में आरक्षण का भूत ही समाप्त कर दिया जाए। आरक्षण मिले तो सिर्फ गरीब को चाहे वह किसी भी कास्ट का हो। सरकार को अयोध्या में भव्य राजमहल का निर्माण कराना चाहिए। चुनाव से पहले पार्टियां तो बहुत वादा करती है, लेकिन सरकार बनने पर निभाती कोई नहीं। सिर्फ हिन्दुओंं के आस्था के साथ खिलवाड करती है। अयोध्या की पवित्र राम जन्म भूमि भारत के आस्था की जमीन है। इस पर तत्काल प्रभाव से निर्माण किया जाय।
अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री/राष्ट्रीय प्रमुख मीडिया प्रभारी उमेश कुमार सिंह का कहना है कि 13 जनवरी को कुंभ प्रवेश कर विश्व क्षत्रिय अखाडा ध्वज पूजन किया जायेगा। विश्व क्षत्रिय अखाड़ा के अध्यक्ष/अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय मंत्री शक्ति सिंह चंदेल का कहना है कि धर्म रक्षा हेतु प्रतिबद्ध है पर्यावरण रक्षण, गोवंश रक्षण, क्षत्रिय धर्म शिक्षा, यज्ञ पुनस्थापना, वैदिक गुरुकुल की स्थापना, गौ चारा बैंक की स्थापना इस अखाडा का मुख्य उदेश्य है।  सांथ ही उन्होंने बताया कि विश्व क्षत्रिय आखडे का प्रमुख ग्रंथ श्रीमद्भगवत गीता, क्षत्रिय आखडे की प्रधान देवी माँ भवानी निकुंबला, शक्ति पीठम बैतूल होगा एवं क्षत्रिय अखाडे का प्रधान कार्यलय बैतूल निकुंबला पीठम होगा 

साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.