खोजी पत्रकारिता के लिए ‘सत्यमेव जयते’ एवं फौज के लिए ‘राष्ट्र गौरव पुरस्कार की घोषणा

( 1997 बार पढ़ी गयी)
Published on : 06 Dec, 18 10:12

पत्रकारिता का जीवंत दस्तावेज है जारोदय: प्रो. सारंगदेवोत

खोजी पत्रकारिता के लिए ‘सत्यमेव जयते’ एवं फौज के लिए ‘राष्ट्र गौरव पुरस्कार की घोषणा उदयपुर। राजस्थान विद्यापीठ डीम्ड टू बी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एस.एस. सारंगदेवोत ने कहा कि विद्यापीठ विश्वविद्यालय शीघ्र ही दो श्रेणियों में पुरस्कार देगा जिसमें सेना के तीनो विंग में श्रेष्ठ कार्य पर राष्ट्र गौरव पुरस्कार व खोली पत्रकारिता के लिए सत्यमेव जयते पुरस्कार दिये जायेगे। कुलपति ने उक्त विचार गुरूवार को प्रतापनगर स्थित सभागार में जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ राजस्थान (जार) उदयपुर की स्मारिका जारोदय-2018 का विमोचन के अवसर पर व्यक्त किए। इस अवसर पर डॉ. तुक्तक भानावत, सुमित गोयल, डॉ. रवि कुमार शर्मा, कपिल श्रीमाली, विद्यापीठ के विशेषाधिकारी डॉ. हेमशंकर दाधीच, डॉ. घनश्याम सिंह भीण्डर, कृष्णकांत कुमावत, पवन खाब्या, विपिन गांधी, एमएल जैन, विकास बोकाडिया, अजय आचार्य , संजय जैन, राजेन्द्र हिलोरिया, अनिल जैन, अल्पेश लोढा, भूपेन्द्र कुमार चौबीसा, भूपेश दाधीच, महेश व्यास, अब्बुल अजीज राजु, सहित कार्यकारिणी के पदाधिकारी उपस्थित थे।
प्रो. सारंगदेवोत ने जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ राजस्थान ( जार ) उदयपुर की ओर से प्रकाशित स्मारिका ‘‘ जारोदय - 2018 ’’ का विमोचन जार उदयपुर कार्यकारिणी के सदस्यों, पदाधिकारियों, संरक्षक मंडल की मौजूदगी में किया। इस अवसर पर कुलपति ने कहा कि जारोदय स्मारिका केवल स्मारिका ही नहीं बल्कि अपने समय का पत्रकारिता का जीवंत दस्तावेज है। इसमें समाहित किए गए सभी आलेख पत्रकारिता की दशा और दिशा तथा भविष्य की संभावनाओं के बारे में बताते ही हैं, एक अंतरदृष्टि भी पाठक को प्रदान करते हैं। समाचार पत्रों की सूची, शहर के प्रमुख टेलीफोन नंबर्स, मेवाड़ से प्रकाशित पत्र-पत्रिकाओं की सूची आदि ने इसकी उपयोगिता बढ़ा दी है। इस प्रकार का प्रयोग सचमुच बहुत अनूठा है व इसके लिए जार टीम बधाई की पात्र है। उन्होंने संकलनकर्ताओं, संपादकों तथा इस कार्य से जुड़ी जार टीम का साधुवाद भी किया।
इससे पूर्व वरिष्ठ पत्रकार सुमित गोयल, डॉ. रवि कुमार शर्मा, कपिल श्रीमाली, विपिन गांधी ने कुलपति प्रो. सारंगदेवोत का माला, उपरणा, शॉल एवं पगडी पहना कर स्वागत किया।
जारोदय के संपादक डॉ तुक्तक भानावत ने कहा कि 324 पृष्ठीय बहुरंगीय स्मारिका में विभिन्न कलमकारों के 47 लेखों को शामिल किया गया है। सभी लेख शोध परक व विचारोत्तेजक हैं। विविधायन में विज्ञापन दर्शन, जार सदस्यों की सूची, समाचार चैनल, पत्र-पत्रिकाओं की सूची, प्रशासनिक टेलीफोन नंबर्स, नगर निगम: सभापति व पार्षदगणों का संपूर्ण ब्यौरा व दूरभाष नंबर, जिले के सांसद व विधायकों के नंबर आदि शामिल किए गए हैं। माननीय राज्यपाल महोदय कल्याणसिंहजी, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया, विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल सहित अन्य की ओर से भेजे गए शुभकामना संदेशों को भी प्रकाशित किया गया है। जार इकाई उदयपुर की विभिन्न गतिविधियों का भी सचित्र लेखांकन किया गया है। डॉ. भानावत ने समस्त विज्ञापनदाताओं का भी धन्यवाद ज्ञापित किया व कहा कि उनके सहयोग से ही यह महायज्ञ पूर्ण हो सका है। धन्यवाद डॉ. तुक्तक भाणावत ने दिया।
साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.