गोविन्द गुरु महाविद्यालय में हिन्दी दिवस पर आयोजन

( 908 बार पढ़ी गयी)
Published on : 15 Sep, 18 06:09

निज भाषा के संवर्धन का किया आह्वान

 गोविन्द गुरु महाविद्यालय में हिन्दी दिवस पर आयोजन बांसवाड़ा| श्री गोविन्द गुरु राजकीय महाविद्यालय बांसवाड़ा में हिन्दी दिवस पखवाड़े अंतर्गत ‘हिन्दी दिवस’ का आयोजन समारोहपूर्वक किया गया। प्राचार्य डॉ. डी.के. जैन ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में विद्यार्थियों को हिन्दी के अधिकाधिक प्रयोग करने एवं राष्ट्रीय पोषण मिशन में अपनी सक्रिय भागीदारी का आह्वान किया।
हिन्दी विभाग एवं साहित्यिक समिति के संयुक्त बेनर से आयोजित समारोह में संयोजिका एवं हिन्दी विभागाध्यक्षा डॉ. सरला पण्ड्या ने हिन्दी की वर्तमान स्थिति विशेषताओं, हिन्दी शिक्षण की चुनौतियों पर जानकारी देते हुए हिन्दी को जन-जन की भाषा बनाने का आह्वान किया। डॉ. पण्ड्या ने समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ‘कदम मिलाकर चलना होगा’ कविता प्रस्तुत कर उनके हिन्दी प्रेम को उजागर किया।
मुख्य अतिथि डॉ. सीमा भूपेन्द्र ने अभिव्यक्ति में भाषा की सहजता-सरलता को रेखांकित करते हुए निज भाषा संवर्धन की अपील की। समारोह में विद्यार्थियों के लिए काव्यपाठ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें संभागियों ने उत्साहपूर्वक भागीदारी की। कवितापाठ में प्रथम स्थान तिलक पंचाल, द्वितीय स्थान सुनयना चौबदार एवं तृतीय स्थान मुस्कान खान ने प्राप्त किया। प्रतियोगिता के निर्णायक डॉ. प्रकाश आचार्य, डॉ अंजना रानी एवं डॉ. के.बी. सिंह राठौड़ रहे।
कार्यक्रम का संचालन डॉ. लोकेन्द्र कुमार एवं आभार प्रदर्शन डॉ. किरण पुनिया ने किया। इस अवसर पर डॉ. भूपेन्द्र शर्मा एवं सचिन दीक्षित भी उपस्थित रहे।
डॉ. सरला पण्ड्या ने बताया कि पखवाड़े के अंतर्गत 17 सितम्बर को निबंध लेखन एवं वर्तनी शुद्धिकरण प्रतियोगिता तथा 20 सितम्बर को विचार-गोष्ठी एवं कहानी लेखन व निबंध प्रतियोगिता आयोजित होगी। निबंध प्रतियोगिता का शीर्षक स्वच्छ भारतः स्वस्थ भारत (मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पोषण के संदर्भ में) रखा गया है। इस अवसर पर राष्ट्रीय पोषण मिशन में भागीदारी की शपथ भी ली गई। प्रतियोगिता के पुरस्कार राशि के भामाशाह जगदीश चंद्र मेहता हैं।
साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.