बांसवाड़ा में परवान चढ़ रहा है पोषण अभियान

( 2378 बार पढ़ी गयी)
Published on : 15 Sep, 18 06:09

रैलियों और बैठकों में बताया ‘कुपोषण है कलंक’

बांसवाड़ा में परवान चढ़ रहा है पोषण अभियान बांसवाड़ा| राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत जिला प्रशासन एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त तत्वावधान में कुपोषण दूर करने तथा गर्भवतियों व धात्री महिलाओं के साथ 0 से 6 आयुवर्ग के बच्चों के पोषण स्तर में सुधार लाने के लिए आयोजित हो रहे पोषण माह की गतिविधियों का क्रम लगातार जारी है और दूसरे सप्ताह में जिले में पोषण अभियान परवान चढ़ता प्रतीत हो रहा है।
महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक पार्वती कटारा ने बताया कि जिले के 1 हजार 987 मुख्य आंगनवाड़ी पाठशालाएं तथा 132 मिनी आंगनवाड़ी पाठशालाओं को मिलाकर समस्त समस्त 2 हजार 119 आंगनवाड़ी पाठशालाओं पर पोषण अभियान के तहत शुक्रवार को स्टाडिओमीटर व डिजीटल वेट मशीन से 0 से 6 आयुवर्ग के बच्चों का वजन लिया गया तथा ड्यू लिस्ट के अनुसार संपूर्ण टीकाकरण करते हुए गर्भवतियों व किशोरियों को पोषाहार वितरण किया गया। इस दौरान मौजूद ग्रामीण महिलाओं व किशोरियों को कुपोषण के कुप्रभावों के बारे में बताया गया तथा इसकी रोकथाम के लिए पौष्टिक आहार लेने का संदेश दिया गया।
सात प्रकार प्रकार की सब्जियों का प्रदर्शन
सीडीपीओ उर्वशी व्यास व रेखा दशोरा ने बताया कि विभागीय निर्देशानुसार समस्त आंगनवाड़ी पाठशालाओं पर पौष्टिक आहार के रूप में पुवाड़, अरबी, पालक, मैथी, मूली, सरसों, सहजन की फली आदि सात प्रकार की प्रमुख सब्जियों का प्रदर्शन किया गया और मौजूद किशोरियों व महिलाओं को एनीमिया के लक्षणों के बारे में जानकारी दी तथा अपने दैनन्दिन प्रयोग में इनका अधिकाधिक उपयोग करने का आह्वान किया गया। मौजूद महिलाओं को अपने-अपने घरों में किचन गार्डन तैयार करवाने की अपील की गई।
गांवों में गूंजता रहा- पालक, मैथी बथुआ खाओ, एनीमिया को दूर भगाओ
शुक्रवार को पोषण माह की निर्धारित गतिविधियों के तहत प्रत्येक आंगनवाड़ी केन्द्र के माध्यम से गांव के विद्यालय के सहयोग से विद्यार्थियों की एक रैली निकाली गई जिसमें तख्तियां हाथ में लिए बच्चे - पालक, मैथी, बथुआ खाओ, एनीमिया को दूर भगाओ’ तथा ‘चुस्ती फुर्ती जीवन में पाओ, पौष्टिक आहार रोज खाओ’ तथा ‘आयरन गोली खाना है, एनीमिया दूर भगाना है’ के उद्घोष लगाते हुए चल रहे थे। इसी प्रकार कई केन्द्रों पर गर्भवतियों की गोद भराई की रस्म अदा की गई वहीं ऋषि पंचमी के मौके पर गांव के तालाब पर एकत्र हुई महिलाओं को भी पोषक भोजन प्रयोग में लाने की सीख दी गई।
‘सही पोषण, देश रोशन’ की शपथ दिलाई
इस मौके पर आंगनवाड़ी पाठशालाओं में मौजूद गर्भवतियों, किशोरियों की बैठक लेते हुए प्रधानमंत्री मातृत्व योजना के बारे में जानकारी दी गई और प्रसव पूर्व जांच, गर्भवतियों की जांच, हेण्डवॉश, टीकाकरण इत्यादि के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए विभाग द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले पोषाहार का उपयोग करने का आह्वान किया गया। इस दौरान शपथ पत्र पढ़कर सुनाया गया तथा सही पोषण, देश रोशन’ के उद्घोष के साथ कुपोषण के खात्मे की शपथ दिलाई गई। शपथ के तहत बच्चों, किशोरों और महिलाओं को कुपोषणमुक्त, स्वस्थ व मजबूत बनाने, राष्ट्रीय पोषण माह के तहत हर घर तक सही पोषण का संदेश पहुंचाने, इस अभियान को एक देशव्यापी जन आंदोलन बनाने, हर गांव, शहर व घर में सही पोषण की गूंज उठाने की शपथ दिलाई गई।
साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.