जावर स्टेडियम पर ३५ फुटबॉल टीमों ने दिखाया जोश

( 2276 बार पढ़ी गयी)
Published on : 11 Aug, 18 05:08

जिंक फुटबॉल एपि सेन्टर टूर्नामेन्ट में दिखा ३५० खिलाडियों के खेल का उत्कृष्ट प्रदर्शन

जावर स्टेडियम पर ३५ फुटबॉल टीमों ने दिखाया जोश हिन्दुस्तान जिंक में शुरू की जा रही जावर फुटबॉल एकेडमी जहां फुटबॉल के लिए खास स्थान रखती है एवं मोहनकुमार मंगलम टूर्नामेंट के लिए दे शभर अपना वर्चस्व रखती है वहां अब नवोदित खिलाडियों की प्रतिभा भी निखर कर सामने आने लगी है। बालक और बालिकाओं में अब बेस्ट स्ट्राईकर, अच्छा डिफेन्डर और बेस्ट गोलकीपर के लिए जोश साफ दिखाई देता है क्योंकि ये खिलाडी अब उन फुटबॉल खिलाडियों में से एक है जिन्हें आज के समय की तकनीक से फुटबॉल खेलना आता है। ये संभव हो सका है हिन्दुस्तान जिंक द्वारा पिछले एक वर्ष से चलाएं जा रहे फुटबॉल प्रशिक्षण से जिसके बाद एपि सेन्टर फुटबॉल टूर्नामेन्ट का आयोजन हुआ।
करीब ३५० से अधिक फुटबॉल के खिलाडी और उम्र्र ८ से १४ वर्ष, हर कोई अपने खेल का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने को आतुर जिन्हें देखकर वहां मौजुद फुटबॉल के प्रशिक्षक और खिलाडियों के परिजन भी आश्चर्यचकित रह गये। एपि सेन्टर टूर्नामेन्ट में १२ वर्ष एवं १४ वर्ष से कम उम्र में बालक वर्ग एवं बालिका वर्ग में १४ वर्ष से कम उम्र में १८ गांवों में संचालित १५ राजकीय विद्यालयों के बालक बालिकाओं ने भाग लिया। फुटबॉल की इन उभरती ग्रामीण प्रतिभाओं ने कुल ३५ मैच खेले। बालक वर्ग में १२ वर्ष से कम उम्र वर्ग में टीडी टाइगर टीम, बालक वर्ग में १४ वर्श से कम उम्र वर्ग नेवातलाई नवाब टीम एवं बालिका वर्ग में नेवातलाई नवाब टीम विजेता रही। इस टूर्नामेंट का उद्धेष्य इन फुटबॉल प्रतिभाओं द्वारा अब तक सिखे खेल का प्रदर्षन, दूसरें खिलाडियों के साथ खेल कर उनके अनुभवों से सिखना और आपस में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा था।
फुटबॉल दुर्नामेन्ट के मुख्य अतिथि जावर माइन्स मजदूर संघ के महामंत्री लालू राम मीणा और विशिष्ठ अतिथि कर्नल विनय शर्मा थे। मीणा ने जावर क्षेत्र में संचालित फुटबॉल अकादमी के अन्तर्गत यहाँ के बच्चों को बाल्यकाल से ही फुटबॉलर बनाने के लिए की गई पहल की सराहना करते हुए मोहनकुमार मंगलम दुर्नामेन्ट के प्रतिष्ठित इतिहास की स्मृतियों को दोहराया, वही जावर माइन्स के प्रशासन और एक्स्टरनल एफेयर्स के प्रधान कर्नल शर्मा ने सभी प्रशिक्षकों,प्रतिभागी बच्चों और उपस्थित माता-पिता और दर्शकों का स्वागत किया और बच्चों के जोश और उत्साह की भूरी-भूरी प्रशंसा की। इस मौके पर वरिष्ठ कोच रोहित पाराशर, सुरेश कटारिया, फुटबॉल लिंक टीम से इमली ओनन इंचन उपस्थित थे। दुर्नामेन्ट का संचालन जावर माइन्स की सीएसआर टीम ने किया। हिन्दुस्तान जिंक द्वारा फुटबॉल को आगे बढाने और इस खेल में रूचि रखने वाले खिलाडयों को प्रशिक्षित कर अवसर प्रदान करना है ताकि वें अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन कर सकें। हिन्दुस्तान जिंक द्वारा जावर में फुटबॉल अकादमी की षुरूआत की योजना के साथ ही जावर, देबारी, दरीबा ,आगूचा, चंदेरिया और कायड में ६ एपिसेंटरों का संचालन कर विगत आठ माह से प्रशिक्षण दिया जा रहा है जिसमें २५०० से अधिक ग्रामीण प्रतिभाएं फुटबॉल का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहें है।



साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.