उनके घर भी दीया जले अभियान

( 11705 बार पढ़ी गयी)
Published on : 14 Oct, 17 09:10

वनवासियों को सहानुभूति की नहीं समानुभूति की आवश्यकता ः डॉ. कुमावत

उनके घर भी दीया जले अभियान
उदयपुर आलोक संस्थान, आलोक समाज सेवा प्रकोष्ठ, आलोक इन्टरेक्ट क्लब, रोटरी क्लब ऑफ उदयपुर के तत्वाधान में आयोजित “उनके घर भी दीया जले” अभियान के अन्तर्गत आज दूसरे दिन आलोक स्कूल हिरण मगरी, सेक्टर-११ द्वारा उबेश्वर महादेव मन्दिर प्रांगण में दीपावली से पूर्व ग्रामीण बालकों एवं परिवारों के लिये उपहार वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया।
उबेश्वरजी महादेव मन्दिर प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता आलोक संस्थान के निदेशक एवं कार्यक्रम संयोजक डॉ. प्रदीप कुमावत ने की। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रोटरी क्लब के पूर्व प्रान्तपाल निर्मल सिंघवी व रोटरी क्लब के अध्यक्ष डॉ. नरेन्द्र धींग थे। विशिष्ट अतिथियों में रोटरी क्लब के सचिव डी.सी. अग्रवाल, ओ.पी. सहलोत उपस्थित थे।
इस अवसर पर अभियान संयोजक डॉ. प्रदीप कुमावत ने कहा कि आलोक द्वारा पिछले २२ वर्षों से आयोजित कार्यक्रम उनके घर भी दीया जले के साथ इस बार दो ओर अभियान स्वच्छता अभियान और सामाजिक समरसता को भी जोडा गया है। स्वच्छता की जानकारी देते हुये कहा कि स्वच्छ भारत तभी होगा जब गांव स्वच्छ रहेंगे और गांव तब स्वच्छ रहेंगे जब हम स्वच्छ रहेंगे। उन्होंने कहा कि वनवासी अंचल के बच्चों को स्वच्छ भारत अभियान से जोडने के लिये आलोक इन्टरेक्ट क्लब के दो सौ से अधिक सदस्यों एवं अध्यापक-अध्यापिकाओं ने उनसे व्यक्तिगत सम्फ कर उनको अभियान से जोडा एवं उनको स्वच्छ एवं साफ रहने के लिये जानकारीयाँ प्रदान की। साथ ही बच्चों को स्वच्छता की शपथ दिलवाई।
डॉ. कुमावत ने कहा कि विद्यार्थीयों में समाज के प्रति अपने उत्तरदायित्व का निर्वाहण करने के लिए प्रतिवर्ष ग्रामीण दूर अंचल वनवासी क्षेत्रों में जहाँ पैदल चलकर तथा वाहन से भी बडी मुश्किल से पहुँचा जा सकता हैं वहाँ के क्षेत्रों में जाकर ग्रामीण जनों को दीपावली की मिठाई, पटाखें, कपडे-शर्ट, पेन्ट, स्वेटर, छोटे बच्चों के कपडे बर्तन में थाली, गिलास, चम्मच, कटोरी, खिलौने, टूथपेस्ट, टूथब्रश, साबुन इत्यादि इकट्ठे कर उन ग्रामीण, जरूरतमंद के बीच बाँटे जाने का एक अनूठा प्रयास आलोक पिछले २२ वर्षों से कर रहा हैं। दीपावली हम हमारे घरों में मनाते है ये वनवासी गरीब परिवार भी अपने घर में दीपावली मना सके, वह मिठाईयाँ खा सके और माँ लक्ष्मी का पूजन कर सके, वह भी लक्ष्मी जी की कृपा पा सके इसलिये इस अभियान की शुरूआत की गयी।
इस अवसर पर रोटरी क्लब ऑफ उदयपुर के निर्मल सिंघवी ने स्वच्छता की जानकारी देते हुये बच्चों को कहा कि सब बच्चें खाना खाने से पहले व शौच के बाद हाथ धोएंगे। उन्होंने कहा कि हम सभी अपने-अपने घरों में दीपावली मनाते हैं। हम पटाखें, मोमबत्तियाँ जलाते हैं। इन गरीबों को तो एक समय की रोटी भी नहीं मिलती। ये हमारे लिये गर्व की बात हैं कि आलोक संस्थान के चेयरमेन श्यामलाल जी ने सबसे पहले इन गरीब परिवारों के बच्चों के बारें में सोचा। आज डॉ. प्रदीप कुमावत ने इस कार्यक्रम को विस्तृत रूप प्रदान किया हैं।
वहीं रोटरी क्लब के अध्यक्ष डॉ. नरेन्द्र धींग ने कहा कि स्वच्छता अभियान में रोटरी क्लब हमेशा ही सहयोग करता रहा है और आगे भी करता रहेगा। उनके घर भी दिया जले जैसा कि नाम से ही स्पष्ट हैं। आज के समय में गरीब परिवारों के लिये कुछ करना सबसे बडी बात हैं। आज हम सभी के लिये यह गर्व की बात हैं कि आज के समय में आलोक ने दूसरो के लिये सोचा। आलोक का यह प्रयास काबिले तारिफ हैं।




साभार :


© CopyRight Pressnote.in | A Avid Web Solutions Venture.