BREAKING NEWS

कोटा से गुजरने वाली ९० से अधिक यात्री ट्रेनें थमीं

( Read 3073 Times)

23 Mar 20
Share |
Print This Page

के.डी.अब्बासी

कोटा से गुजरने वाली ९० से अधिक यात्री ट्रेनें थमीं

कोटा.मार्च माह के आगामी दिनों में अब ट्रेनों की सुविधा यात्रियों को नहीं मिल पाएगी। अगले माह यानी अप्रेल से ही ट्रेनों की सुविधा मिलना षुरू होने की संभावना है। सभी प्रीमियम और मेल, एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन ३१ मार्च की रात १२ बजे तक बंद रहेगा। कोटा जंक्षन से गुजरने वाली करीब ९० से अधिक यात्री ट्रेनों का संचालन नहीं हो पाएगा। अकेले कोटा मंडल से ही रोज १ लाख यात्री सफर करते हैं। कोटा जंक्षन पर जहां ४६ हजार से ५० हजार यात्री रोज आते थे, वहां अब सन्नाटा पसरा हुआ है।

रेलवे अधिकारियों ने बताया कि ‘कोविड-१९‘ को ध्यान में रखते हुए उठाए जा रहे विभिन्न कदमों के तहत यह निर्णय लिया गया है। भारतीय रेलवे की सभी यात्री ट्रेन सेवाएं ३१ मार्च २०२० के रात १२ बजे तक रद्द रहेंगी। इनमें प्रीमियम ट्रेनें, मेल, एक्सप्रेस ट्रेनें, उपनगरीय ट्रेनें, कोलकाता मेट्रो रेल, कोंकण रेलवे भी षामिल हैं।

जिन-जिन ट्रेनों ने रविवार को सुबह ४ बजे से पहले ही अपनी यात्रा षुरू कर दी थी, वे अपने-अपने गंतव्यों तक अवष्य जाएंगी। उन यात्रियों के लिए सफर के दौरान और फिर उनके गंतव्यों पर पर्याप्त व्यवस्था की जाएंगी। देष के विभिन्न हिस्सों में आवष्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिष्चित करने के लिए मालगाडयों की आवाजाही निरंतर जारी रहेगी। यात्रियों के लिए इसे और भी अधिक सुविधाजनक बनाने के उद्देष्य से रद्द की गई सभी ट्रेनों के टिकटों का पूर्ण रिफंड जून २०२० तक प्राप्त किया जा सकता है। ट्रेनों के रद्द होने से प्रभावित यात्रियों को परेषानी मुक्त एवं सुविधाजनक टिकट रिफंड के लिए पर्याप्त व्यवस्था की गई है।

कोटा मंडल के सीनियर डीसीएम विजय प्रकाष ने बताया कि लोगों को ममहामारी से बचाना पहली प्राथमिकता है। रेलवे संक्रमण से बचाव के लिए स्टेषन और ट्रेनों में पूरे प्रयास करती रही है, लेकिन आप हालातों को देखते हुए ट्रेनों में पूरे प्रयास करती रही है, लेकिन आप हालातों को देखते हुए ट्रेनों में पूरे प्रयास करती रही है, लेकिन आप हालातों को देखते हुए ट्रेनों का संचालन बंद करने के आदेष हुए हैं।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : National News , Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like