जनसुनवाई, 220 प्रकरण हुए दर्ज

( Read 1360 Times)

10 Sep 19
Share |
Print This Page
जनसुनवाई, 220 प्रकरण हुए दर्ज

 लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सोमवार को कोटा प्रवास के दौरान जिला परिषद के सभागार में जनसुनवाई के माध्यम से आमजन की समस्याओं को पूरे दिन उपस्थित रहकर धैर्य से सुना तथा मौके पर ही उपस्थित संबंधित अधिकारियों को निराकरण के निर्देश प्रदान किये। 

लोकसभा अध्यक्ष ने संबोधित करते हुए कहा कि जनसुनवाई में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की समस्या को अधिकारी तसल्ली से सुनें तथा प्रयास इस प्रकार किया जाये कि मौके पर ही उसकी समस्या का समाधान हो सके। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा दी जा रही विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ हर पात्र व्यक्ति को मिले इसे सुनिश्चित किया जाये।
जनसुनवाई में विभिन्न समस्याओं के निराकरण के लिए 220 प्रकरण दर्ज किये गये। जनसुनवाई में आने वाले प्रत्येक परिवादी से लोकसभा अध्यक्ष ने बात की तथा उनकी समस्याओं को सुना-समझा और मौके पर ही संबंधित विभागों के अधिकारियों को बुलाकर प्रकरण के निस्तारण के निर्देश प्रदान किये। 
जनसुनवाई में विज्ञान नगर निवासी मदलाल सेन ने आंखों से आंसू पौंछते हुए परिवाद दिया कि उसके घर का 7500 रूपये बिजली का बिल आया है जिसे गरीबी हालत होने से जमा नहीं करवा पा रहा है तथा विद्युत कनेक्शन काट दिये जाने के कारण अंधेरे मंे रहना पड रहा है। इन्हीं के समान गोबरिया बावडी कच्ची बस्ती निवासी रामपाल ने बताया कि उनके घर का बिजली का बिल 25 हजार आया है। इसी प्रकार नयापुरा चौराहा राजेन्द्र स्टूडियो के पास शराब की दुकान को बन्द करवाने, अग्रसेन चौराहा गुर्जर बस्ती दादाबाडी में पशुओं के आतंक एवं गन्दगी फैलाने, मण्डाना में बीडी श्रमिकों द्वारा बीडी श्रमिक आवास योजना में आवास आवंटन करने, फोटोग्राफर त्रिभुवन सौलंकी द्वारा पत्रकार कल्याण कोष से सहायता दिलवाने, भांडाहेडा निवासियों द्वारा दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस वे में अधिग्रहण की गई जमीन की मुआवजा राशि बढाने, दुर्गानगर छावनी रामचन्द्रपुरा के पास बसी कच्ची बस्ती को टूटने से बचाने सहित बडी संख्या में अधिकारियों एवं कर्मचारियों के आवेदन प्राप्त हुए। इस मौके पर चिकित्सा, बीपीएल सुविधा, महिला बाल विकास, नगर विकास न्यास, नगर निगम, आवासन मण्डल, आबकारी, सार्वजनिक निर्माण, शिक्षा, विद्युत सहित विभिन्न विभागों से संबंधित परिवाद प्राप्त हुए।
जनसुनवाई के दौरान विधायक संदीप शर्मा, जिला प्रमुख सुरेन्द्र गुर्जर, महापौर महेश विजय, पूर्व विधायक हीरा लाल नागर, अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन वासुदेव मालावत, मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद शुभम चौधरी, सचिव यूआईटी भवानी सिंह पालावात, नगर निगम की कार्यवाहक आयुक्त कीर्ति राठौड सहित सभी विभागों के अधिकारी एवं जनप्रतिनिधिगण उपस्थित रहे। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like